Monday, June 17, 2024
Homeविविध विषयअन्यदुनिया का 5वाँ सबसे बड़ा बाजार बना BSE: 5 ट्रिलियन डॉलर के पार हुआ...

दुनिया का 5वाँ सबसे बड़ा बाजार बना BSE: 5 ट्रिलियन डॉलर के पार हुआ वैल्यू, ‘बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज’ ने अकेले यूरोप के सभी देशों को पछाड़ा

महज 6 माह के भीतर बीएसई ने मार्केट कैप के मामले में 4 ट्रिलियन डॉलर से 5 ट्रिलियन डॉलर का आँकड़ा छुआ, जोकि एक रिकॉर्ड है।

भारत के शेयर मार्केट के सबसे बड़े खिलाड़ी बीएसई ने इतिहास रचते हुए 5 ट्रिलियन डॉलर का मार्केट कैप हासिल कर लिया है। महज 6 माह के भीतर बीएसई ने मार्केट कैप के मामले में 4 ट्रिलियन डॉलर से 5 ट्रिलियन डॉलर का आँकड़ा छुआ, जोकि एक रिकॉर्ड है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई ने मंगलवार (21 मई 2024) को इतिहास रच दिया है। बीएसई की मार्केट कैप पहली बार 5 ट्रिलियन डॉलर यानी 5 लाख करोड़ डॉलर को पार कर गई है। भारत के शेयर बाजार के इतिहास में यह पहला मौका है, जब बीएसई पर लिस्टेड सभी कंपनियों का कुल बाजार मूल्यांकन इस आँकड़े को पार कर गया है। भारत की इकॉनमी भी कुछ ही समय में 5 ट्रिलियन डॉलर को पार करने की स्थिति में पहुँच रही है, उससे पहले ये बड़ी खबर है।

बीएसई की वेबसाइट के मुताबिक, एक्सचेंज में लिस्टेड सभी कंपनियों का मार्केट कैप 21 मई को 5.01 लाख करोड़ डॉलर यानी 412 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया। बीते करीब पाँच महीने में बीएसई के मार्केट वैल्यूएशन में करीब 633 अरब डॉलर की वृद्धि हुई है। इस साल की शुरुआत में यह 4.14 ट्रिलियन डॉलर था। हालाँकि, बीएसई सेंसेक्स अब भी अपने ऑल टाइम हाई से 1.66 फीसदी नीचे है, उम्मीद है जल्द ही ये रिकॉर्ड भी टूट जाएगा। वैसे, बीएसई ने नवंबर 2023 में पहली बार 4 ट्रिलियन के आँकड़े को छुआ था और अब महज 6 महीनों में यह 5 लाख करोड़ डॉलर को पार कर गया है।

सिर्फ 4 बाजार ही आगे, जल्द ही तीसरे नंबर पर पहुँचेंगे

भारत का बीएसई अब दुनिया में पाँचवें नंबर पर है। उससे आगे सिर्फ अमेरिका का शेयर मार्केट (55 ट्रिलियन डॉलर), चीन का शेयर मार्केट (9.4 ट्रिलियन डॉलर), जापान का शेयर मार्केट (6.4 ट्रिलियन डॉलर) और हांगकाँग का शेयर मार्केट (5.4 ट्रिलियन डॉलर) हैं। भारत जल्द ही हाँगकाँग और जापान को पीछे छोड़ते हुए तीसने नंबर पर पहुँच जाएगा। जल्द ही भारत की अर्थव्यवस्था भी 5 ट्रिलियन डॉलर को पार करने वाली है और भारत दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पहले उइगर औरतों के साथ एक ही बिस्तर पर सोए, अब मुस्लिमों की AI कैमरों से निगरानी: चीन के दमन की जर्मन मीडिया ने...

चीन में अब भी उइगर मुस्लिमों को लेकर अविश्वास है। तमाम डिटेंशन सेंटरों का खुलासा होने के बाद पता चला है कि अब उइगरों पर AI के जरिए नजर रखी जा रही है।

सेजल, नेहा, पूजा, अनामिका… जरूरी नहीं आपके पड़ोस की लड़की ही हो, ये पाकिस्तान की जासूस भी हो सकती हैं: जानिए कैसे ISI के...

पाकिस्तानी ISI के जासूस भारतीय लड़कियों के नाम से सोशल मीडिया पर आईडी बना देश की सुरक्षा से जुड़े लोगों को हनीट्रैप कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -