Saturday, October 1, 2022

विषय

Market

राकेश झुनझुनवाला का निधन, कहलाते थे शेयर मार्केट के किंग: लॉन्च की थी आकासा एयरलाइंस

शेयर कारोबारी राकेश झुनझुनवाला का निधन हो गया है। वो 62 साल के थे। उन्होंने मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में ली आखिरी साँस ली।

अरबों का घाटा फिर भी सैलरी भारत में ‘सबसे ज्यादा’: पेटीएम के विजय शेखर शर्मा का IiAS क्यों कर रही विरोध, पढ़ें पूरी रिपोर्ट

विजय शेखर शर्मा को पेटीएम का सीईओ बनाने को लेकर IiAS ने वन 97 कम्युनिकेशंस के शेयरधारकों को 5 प्रस्तावों के खिलाफ वोट करने की सलाह दी।

धनतेरस पर ₹75000 करोड़ का बिका सोना, 15 टन गहने-सिक्कों का हुआ कारोबार: वापस लौटी Gold की चमक

धनतेरस पर देशभर में लगभग 75,000 करोड़ रुपए की लगभग 15 टन सोने की बिक्री हुई। दुकान पर जाकर खरीदारी करने वाले उपभोक्ताओं की संख्या में भी 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

10 मिनट में घर पहुँचेगा किराने का सामान, 19 साल के दो युवकों के स्टार्टअप को मिले ₹449 करोड़

क्विक कॉमर्स ग्रॉसरी डिलीवरी ऐप Zepto ने नई ऊँचाई हासिल करते हुए $60 मिलियन जुटाया है। शुरुआत 19 वर्षीय आदित पालिचा और कैवल्या वोहरा ने की है।

43 साल पहले 3500 शेयर खरीद भूले, अब कीमत ₹1448 करोड़: केरल के बाबू जॉर्ज की किस्मत पलटी, पर पैसे दूर की कौड़ी

43 साल पहले शेयर में किया निवेश जब केरल के बाबू जॉर्ज को याद आया तो पता चला कि वे सैकड़ों करोड़ के मालिक बन चुके हैं।

गुड न्यूज! मोदी राज में नई ऊँचाई पर बाजार, सेंसेक्स पहली बार 60000 के पार; कोरोना वैक्सीनेशन 84 करोड़ के पार

शुक्रवार को सेंसेक्स ने खुलते ही इतिहास रचा। पहली बार 60 हजार के पार गया। देश में अब तक 84 करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लग चुका है।

Tanishq नहीं… इस धनतेरस #VocalForLocal, स्थानीय सुनार को मिले दीपावली मनाने का मौका

स्थानीय सुनार को भी मौका दीजिए! इस धनतेरस में उसे भी तो दीपावली मनाने का मौका मिलना चाहिए ना? हॉलमार्क जैसे मानकों से लैस कई सुनार...

7 दिन में गोरी, 15 दिनों में छरहरी: क्रीम बेचने वालों पर लगाम जरूरी और खुद की मानसिकता पर भी!

कॉलेज-ट्यूशन से लेकर शादी-ब्याह तक के बीच एक लड़की के मन में ब्यूटी प्रोडक्ट्स को लेकर चुनाव चलता ही रहता है कि आखिर वो किस तरह समाज के बनाए पैमानों पर निखर पाएगी और कैसे अन्य लड़कियों की तरह खुद को सुंदर बना पाएगी... और कंपनियाँ इसी का फायदा उठाती हैं।

कोका-कोला ने ठोंकी ताल, ‘राष्ट्रवादी कोल्ड-ड्रिंक्स’ का बाजार गर्म

भारत में पैकेटबंद देसी पेय पदार्थों का बाजार लगभग 32% की दर से बढ़ रहा है। भारतीय कम्पनियाँ एक हद तक राष्ट्रवादी भावनाओं पर भी दाँव लगाती हैं ।

ताज़ा ख़बरें

प्रचलित ख़बरें

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,570FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe