Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यहोटल से लेकर सड़क... कहीं नहीं मिल रहा अच्छा गोबी मंचूरियन: कर्नाटक में लगा...

होटल से लेकर सड़क… कहीं नहीं मिल रहा अच्छा गोबी मंचूरियन: कर्नाटक में लगा बैन, मंत्री बोले- अगर रंग इस्तेमाल किया तो कार्रवाई होगी

राज्य मंत्री ने डेटा देते हुए कहा कि 171 गोबी मंचूरियन की जाँच हुई थी इनमें से केवल 64 सुरक्षित पाए गए जबकि 107 असुरक्षित। इसी तरह 25 कॉटन कैंडी के नमूने जाँच के लिए लिए गए जिनमें से केवल 10 सुरक्षित पाए गए और बाकी 15 असुरक्षित।

कर्नाटक में रंगीन फूड आइटम पर राज्य सरकार ने सख्ती दिखाते हुए कॉटन कैंडी और गोबी मंचूरियन में इस्तेमाल होने वाले फूड कलरिंग एजेंट रोडामाइन-बी को बैन कर दिया है। सरकार ने कहा है कि अगर राज्य में कोई भी इस कलरिंग एजेंट ‘रोडामाइन-बी’ को इस्तेमाल करते हुए पाया गया तो उसके खिलाफ खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले गोवा और तमिलनाडु में भी ऐसा प्रतिबंध लगाया जा चुका है और अब कर्नाटक ने ऐसा फैसला लिया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री दिनेश गुंडू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए इस संबंध में बताया कि आर्टिफिशियल रंग पड़े खानों के सैंपल की जाँच में खराब गुणवत्ता का पता चला जिससे लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है।

उन्होंने डेटा देते हुए कहा कि 171 गोबी मंचूरियन की जाँच हुई थी इनमें से केवल 64 सुरक्षित पाए गए जबकि 107 असुरक्षित। इसी तरह 25 कॉटन कैंडी के नमूने, जाँच के लिए लाए गए जिनमें से केवल 10 सुरक्षित पाए गए और बाकी 15 असुरक्षित।

उन्होंने जानकारी दी कि खाद्य पदार्थों की जाँच के लिए नमूने होटलों से लिए गए थे, सड़क किनारे दुकान से लिए गए थे। इन्हीं में से कई सैंपल असुरक्षित पाए गए। इनमें टार्ट्राजिन, कार्मोइसिन, सनसेट येलो और रोडामाइन-1बी जैसे कृत्रिम रंग मिले। इनका प्रयोग खाद्य पदार्थों को अधिक लाल दिखाने के लिए उपयोग होता है जिससे वो ज्यादा फ्राई और मसालेदार दिखाई दें।

इस संबंध में राज्य खाद्य सुरक्षा ने पूरे राज्य के लिए एक आदेश जारी किया है। इस आदेश में सख्ती के साथ कहा गया है कि गोभी मंचूरियन और कॉटन कैंडी में कोई भी आर्टिफिशियल रंग न डाला जाए। अगर कोई ऐसा करता पकड़ा गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अच्छा! तो आपने मुझे हराया है’: विधानसभा में नवीन पटनायक को देखते ही हाथ जोड़ कर खड़े हो गए उन्हें हराने वाले BJP के...

विधानसभा में लक्ष्मण बाग ने हाथ जोड़ कर वयोवृद्ध नेता का अभिवादन भी किया। पूर्व CM नवीन पटनायक ने कहा, "अच्छा! तो आपने मुझे हराया है?"

‘माँ गंगा ने मुझे गोद ले लिया है, मैं काशी का हो गया हूँ’: 9 करोड़ किसानों के खाते में पहुँचे ₹20000 करोड़, 3...

"गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर बनाने हों या फिर पीएम किसान सम्मान निधि को आगे बढ़ाना हो - ये फैसले करोड़ों-करोड़ों लोगों की मदद करेंगे।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -