Thursday, April 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यअब गेंद पर थूक नहीं लगा सकेंगे खिलाड़ी, मांकडिंग भी माना जाएगा रन आउट:...

अब गेंद पर थूक नहीं लगा सकेंगे खिलाड़ी, मांकडिंग भी माना जाएगा रन आउट: क्रिकेट के नियमों में बड़ा बदलाव, डेड बॉल पर भी फैसला

नियम 21.4 के तहत अगर कोई गेंदबाज अपनी डिलीवरी करने से पहले स्ट्राइकर को रन आउट करने की कोशिश करेगा तो ये डेड बॉल होगी।

क्रिकेट बहुत लोकप्रिय खेल है औऱ अगर आप क्रिकेट खेलते हैं तो आपने देखा होगा कि अक्सर क्रिकेट के दौरान गेंदबाज को गेंद पर थूक लगाते देखा होगा, लेकिन अब से नए नियम के तहत ऐसा नहीं कर सकेंगे। इस पर बैन लगा दिया गया है। बुधवार (9 मार्च 2022) को मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) ने इस नए नियम का ऐलान किया। इसके अलावा मांकडिंग भी रनआउट की श्रेणी में आएगा। एमसीसी के ये नियम इसी साल अक्टूबर 2022 से प्रभावी हो जाएँगे।

क्या हुए बदलाव

लॉ-18 के तहत अगर कोई खिलाड़ी आउट हो जाता है तो उसके बाद मैदान पर दोबारा से आने वाला खिलाड़ी ही स्ट्राइक पर होगा। चाहे आउट होने से पहले ही खिलाड़ियों ने अपनी स्ट्राइक ले ली हो। इससे पहले तक कैच आउट होने से पहले अगर बल्लेबाज बालिंग के एँड पर पहुँच जाता था तो नया बल्लेबाज स्ट्राइक नहीं लेता था।

लॉ-41.3- सलाइवा इस्तेमाल पर बैन

अक्सर देखा जाता है कि मैच के दौरान बॉलर बॉल को चिकना बनाने और उसे चमकाने के लिए उस पर अपना थूक लगाता है। हालाँकि अब नए नियम के तहत के लिए अब कोई भी खिलाड़ी ऐसा नहीं कर पाएगा। एमसीसी ने इस पर रिसर्च के दौरान ये पाया कि थूक लगाने से बॉलर की स्विंग पर कोई खास असर देखने को नहीं मिला।

मांकडिंग माना जाएगा रन आउट- क्रिकेट नियम -38

क्रिकेट के नए नियम 38 में यह प्रावधान किया गया है कि अब से मांकडिंग को रन आउट माना जाएगा। दरअसल, जब फील्ड पर गेंदबाज के गेंद फेंकने से नॉन स्ट्राइकिंग पर खड़ा बल्लेबाज क्रीज से बाहर आ जाता है तो गेंदबाज गेंद रोककर उसे रन आउट कर देता है। इसी प्रक्रिया को मांकडिंग कहा जाता है। इस व्यवहार को खल भावना के खिलाफ माना जाता रहा है।

डेड बॉल के नियमों में भी बदलाव

नियम 20.4.2.12 – के मुताबिक, एमसीसी ने डेड बॉल के नियमों बदलाव किए हैं, जिसके तहत मैच के दौरान किसी व्यक्ति, वस्तु या फिर जानवर या किसी को भी कोई चोट लगती है तो वो बॉल डेड बॉल मानी जाएगी। इसके अलावा नियम 21.4 के तहत अगर कोई गेंदबाज अपनी डिलीवरी करने से पहले स्ट्राइकर को रन आउट करने की कोशिश करेगा तो ये डेड बॉल होगी। जबकि इससे पहले तक इसे ‘नो बॉल’ कहा जाता था।

लॉ 27.4 और 28.6 – फील्डर की गलती

इस नियम के तहत अगर फील्ड पर फील्डिंग साइड का कोई बॉलर गलत व्यवहार करता है तो अब से पेनल्टी के तौर पर बल्लेबाज को 5 रन दिए जाएँगे। इससे पहले इसे डेड बॉल कह दिया जाता था।

22.1 वाइड बॉल

एमसीसी ने बल्लेबाजों पर भी लगाम लगाने की कोशिश की है। पहले कई सारे नए शॉट खेलते हैं औऱ इसके लिए वे गेंदबाज को कन्फ्यूज करने के लिए पिच के चारों तरफ घूमते हैं। लेकिन नए नियम के तहत जहाँ बल्लेबाज खड़ा होगा वहीं से एक वाइड माना जाएगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुंबई के मशहूर सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल परवीन शेख को हिंदुओं से नफरत, PM मोदी की तुलना कुत्ते से… पसंद है हमास और इस्लामी...

परवीन शेख मुंबई के मशहूर स्कूल द सोमैया स्कूल की प्रिंसिपल हैं। ये स्कूल मुंबई के घाटकोपर-ईस्ट इलाके में आने वाले विद्या विहार में स्थित है। परवीन शेख 12 साल से स्कूल से जुड़ी हुई हैं, जिनमें से 7 साल वो बतौर प्रिंसिपल काम कर चुकी हैं।

कर्नाटक में सारे मुस्लिमों को आरक्षण मिलने से संतुष्ट नहीं पिछड़ा आयोग, कॉन्ग्रेस की सरकार को भेजा जाएगा समन: लोग भी उठा रहे सवाल

कर्नाटक राज्य में सारे मुस्लिमों को आरक्षण देने का मामला शांत नहीं है। NCBC अध्यक्ष ने कहा है कि वो इस पर जल्द ही मुख्य सचिव को समन भेजेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe