Tuesday, June 25, 2024
Homeविविध विषयअन्यसुशांत सिंह के अकाउंट से रिया चकवर्ती के भाई के खाते में ट्रांसफर हुआ...

सुशांत सिंह के अकाउंट से रिया चकवर्ती के भाई के खाते में ट्रांसफर हुआ था पैसा: बैंक स्टेटमेंट के हवाले से मीडिया रिपोर्ट में दावा

ईडी, सुशांत के पिता केके सिंह की शिकायत के बाद रिया और उनके परिजनों समेत 4 लोगों से पूछताछ कर रही है। इन पर आरोप है कि इन्होंने सुशांत के कमाए पैसों की हेर-फेर की।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एक नया खुलासा हुआ है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुशांत के बैंक अकाउंट से रिया चकवर्ती के भाई के खाते में पैसे ट्रांसफर किए गए थे।

सीबीआई ने गुरुवार को रिया सहित 6 लोगों के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया था। आज ईडी ने आगे की पड़ताल में रिया से उनकी पिछले 3 साल की आय के स्रोत का जवाब माँगा।

इस बीच खबर आई है कि रिया के भाई शौविक चक्रवर्ती के अकाउंट में पैसे सीधे सुशांत के अकाउंट से ट्रांस्फर हुए। इसका खुलासा सीएनएन- न्यूज 18 ने अपनी रिपोर्ट में किया

सीएनएन-न्यूज 18 का दावा है कि उनके हाथ शौविक की बैंक स्टेटमेंट लगी है। यह बताती है कि सुशांत के अकाउंट से पैसा शोविक के खाते में ट्रांसफर किया गया था।

गौरतलब है कि ईडी, सुशांत के पिता केके सिंह की शिकायत के बाद रिया और उनके परिजनों समेत 4 लोगों से पूछताछ कर रही है। इन पर आरोप है कि इन्होंने सुशांत के कमाए पैसों की हेर-फेर की।

अधिकारियों के अनुसार, आज रिया से इस संबंध में पूछताछ हुई। इसके लिए वह केंद्रीय एजेंसी के समक्ष अपने भाई शौविक से साथ आई। इसके अलावा श्रुति मोदी भी एजेंसी द्वारा तलब किए जाने के बाद पेश हुई।

टाइम्स नाऊ की खबर भी दावा करती है कि उनके पास शौविक की बैंक स्टेटमेंट है। जिसमें साफ पता चल रहा है कि सुशांत सिंह राजपूत ने शौविक के खाते में कई बार पैसे ट्रांसफर किए हैं

सुशांत के खाते से शौविक के खाते में सबसे बड़ा ट्रांजैक्शन 40,000 रुपए का 10 जून, 2019 को किया गया। इसके अलावा इससे कम रुपए के कई ट्रांजैक्शन किए गए।

उल्लेखनीय है कि सुशांत सिंह राजपूत ने अपनी मौत से कुछ दिन पहले बैंक से अपने खाते को बंद करने के लिए कहा था और वह नया खाते खोलने के लिए कहा था। इस बात की जानकारी सुशांत की फैमिली ने बिहार पुलिस को दी थी।

यहाँ यह भी बता दें कि शौविक चक्रवर्ती का नाम उन्हीं लोगों में है जिनके खिलाफ़ कल सीबीआई ने मामला दर्ज किया। इसके अलावा उसे लेकर ये भी कहा जा रहा है कि वह सुशांत सिंह राजपूत की कंपनी में हिस्सेदार रह चुके हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -