Thursday, July 18, 2024
Homeविविध विषयअन्य₹20 फीस, ₹20 की दवा: मिलिए उस वैद्य से जिससे घुटनों का इलाज करवा...

₹20 फीस, ₹20 की दवा: मिलिए उस वैद्य से जिससे घुटनों का इलाज करवा रहे MS धोनी, जंगल में जाते हैं जड़ी-बूटी लेने

"धोनी जब पहली बार मेरे पास आए तो मैं उन्हें पहचान ही नहीं पाया। साथ आए लोगों ने जब परिचय कराया तब पता चला कि ये तो धोनी हैं, जिन्हें उन्होंने टीवी पर बल्ला घुमाते देखा है।"

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी (MS Dhoni) अपने घुटनों के दर्द का इलाज एक वैद्य से करवा रहे हैं। इस वैद्य का नाम वंदन सिंह खेरवार है। खेरवार के हवाले से मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि दवा लेने के लिए खुद धोनी उनके आश्रम आते हैं। यह आश्रम झारखंड की राजधानी रांची से 70 किमी दूर लापुंग के जंगल में है।

वैद्य के अनुसार, माही के शरीर में कैल्सियम की कमी है। इसकी वजह से उनके घुटनों में दर्द हो रहा है। उन्होंने बताया कि धोनी अब तक उनकी दवा की चार खुराक ले चुके हैं। पिछली बार वे 26 जून 2022 को उनके पास आए थे। इससे पहले धोनी के माता-पिता भी इस वैद्य से अपना इलाज करा रहे थे। तकरीबन चार महीने तक धोनी के माता-पिता ने वैद्य की दवा खाई, जिसके बाद उनके घुटनों का दर्द ना के बराबर है। माता-पिता का सफल उपचार के बाद धोनी ने भी इस वैद्य की दवा खानी शुरू की है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दवा लेने के लिए धोनी खुद गाड़ी चलाकर वैद्य के पास जाते हैं। वैद्य ने बताया कि वह इलाज के लिए सिर्फ 20 रुपए फीस लेते हैं और 20 रुपए की दवा देते हैं। लगभग एक महीने से धोनी उनकी दवाएँ ले रहे हैं। वे (धोनी) हर 4 दिन में जड़ी-बूटियाँ लेने उनके आश्रम आते हैं।

उन्होंने बताया, “यह दवा वह जंगल में उपलब्ध जड़ी-बूटियों से तैयार करते हैं। धोनी जब पहली बार मेरे पास आए तो मैं उन्हें पहचान ही नहीं पाया। साथ आए लोगों ने जब परिचय कराया तब पता चला कि ये तो धोनी हैं, जिन्हें उन्होंने टीवी पर बल्ला घुमाते देखा है।”

वह बताते हैं, “धोनी जब भी यहाँ दवाई लेने आते हैं तो उनके साथ सेल्फी लेने वालों की भीड़ लग जाती है। यही वजह है कि वह कई बार यहाँ आने पर गाड़ी से बाहर नहीं निकलते। उन्हें दवा गाड़ी तक पहुँचा दी जाती है। धोनी गाड़ी में बैठकर ही दवा पीते हैं। इसके अलावा कई बार उन्हें गाँव वालों के साथ खुद मोबाइल पकड़कर सेल्फी खिंचवाते हुए भी देखा है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

काँवड़ यात्रा पर किसी भी हमले के लिए मोहम्मद जुबैर होगा जिम्मेदार: यशवीर महाराज ने ‘सेकुलर’-इस्लामी रुदालियों पर बोला हमला, ढाबों मालिकों की सूची...

स्वामी यशवीर महाराज ने 18 जुलाई 2024 को एक वीडियो बयान जारी कर इस्लामिक कट्टरपंथियों और तथाकथित 'सेकुलरों' को आड़े हाथों लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -