Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यओलंपिक में जिस पाकिस्तानी ने 'छेड़ा' था नीरज चोपड़ा का भाला , उससे 'वर्ल्ड...

ओलंपिक में जिस पाकिस्तानी ने ‘छेड़ा’ था नीरज चोपड़ा का भाला , उससे ‘वर्ल्ड एथलेटिक्स’ में फिर आमना-सामना: जानें क्या बात हुई

टोक्यो ओलंपिक्स के बाद चर्चा में आए पाकिस्तानी थ्रोअर अरशद नदीम एक बार सुर्खियों में हैं। पिछली बार उनके ऊपर इल्जाम लगा था कि उन्होंने नीरज के भाले को छेड़ा जबकि नीरज ने ऐसे सभी आरोपों को खारिज किया था और कहा था कि थ्रो से पहले जैवलीन देखना सामान्य बात है।

टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड जीतने के बाद नीरज चोपड़ा ने वर्ल्ड एथलेटिक्स में भी अपना जलवा कायम रखा। चैंपियनशिप में पदक लाने वाले पहले भारतीय पुरूष बनने के बाद मीडिया में हर जगह दोबारा उनकी चर्चा है। ऐसे में इस मुकाबले से जुड़ी एक दिलचस्प जानकारी भी सामने आई है जिसके तार आपको ओलंपिक में हुए एक वाकये की याद दिला देंगे। 

आपको याद होगा कि टोक्यो ओलंपिक के दौरान नीरज चोपड़ा के स्वर्ण जीतने के बाद एक पाकिस्तानी एथलीट चर्चा में आया था। नाम था- अरशद नदीम। अरशद को लेकर कहा गया था कि वह नीरज की थ्रो से पहले उनके जैवलीन को छेड़ रहे थे। हालाँकि जब नीरज ने इस दृश्य को देखा तो उन्होंने अपना भाला माँगा और फिर अपनी थ्रो की।

उन्हीं अरशद नदीम की मुलाकात नीरज चोपड़ा से इस दफा भी हुई। वर्ल्ड चैंपियनशिप में जहाँ भारत के नीरज चोपड़ा 88.13 मीटर दूर भाला फेंक  सिल्वर लाए, वहीं पाकिस्तान के अरशद नदीम को 86.16 मीटर के साथ पाँचवी रैंक हासिल हुई।

नीरज ने अरशद से क्या कहा?

दोनों एथलीट के बीच नतीजे आने के बाद आपस में बात भी हुई। नीरज ने मीडिया से इस बातचीत के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि मैच के दौरान तो उन्हें ज्यादा समय नहीं मिला। लेकिन इवेंट खत्म होने के बाद उन्होंने नदीम से मुलाकात की और उनके तगड़े पर्फॉर्मेंस के लिए उनकी सराहना की।

नीरज ने कहा, “मैंने अरशद से बात की। उन्हें कहा कि वो बहुत अच्छा खेले। उन्होंने जवाब दिया कि उनकी कोहनी में कुछ समस्या हैं। फिर भी मैंने उन्हें उनकी शानदार थ्रो के लिए सराहा और कहा कि चोट के बावजूद उन्होंने बेहतरीन वापसी की। उन्होंने 86 मीटर से ज्यादा जैवलीन फेंकी।”

नीरज ने जैवलीन की छेड़छाड़ पर क्या कहा था?

बता दें कि अरशद नदीम और नीरज चोपड़ा एक दूसरे को काफी समय से जानते हैं। साल 2018 के एशियन गेम्स में जब नीरज ने भारत को स्वर्ण दिलाया था तब अरशद ने भी अपने मुल्क को कास्य पदक जिताया था। हालाँकि पिछले साल नदीम के ऊपर अचानक नीरज की जैवलीन से छेड़छाड़ के आरोप लगने लगे। लेकिन तब नीरज ने सामने आकर साफ किया कि जिस तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं वो गलत हैं। एक खिलाड़ी का इस तरह दूसरे की जैवलीन देखना कोई बड़ी बात नहीं हैं।

नीरज ने कहा था, 

एक मुद्दा उठ रहा है, जो अभी मैंने एक इंटरव्यू में कहा कि जो जैवलिन है, वो पहली थ्रो करने से पहले अरशद नदीम जो पाकिस्तानी जैवलिन थ्रोअर है, उससे जैवलिन ली… तो उसका काफी बड़ा मुद्दा बना दिया है, जोकि एक बहुत ही सिंपल सी बात है कि हम जो हमारी पर्सनल जैवलिन होती है, वो हम उसको उसमें रखते हैं, जिसे सभी थ्रोअर उसे यूज कर सकते हैं। ये रूल है। इसमें ऐसा बिल्कुल कुछ भी गलत नहीं है कि वो जैवलिन लेके प्रिरेअर कर रहा था अपनी थ्रो के लिए और मैंने अपनी थ्रो के लिए उसको माँगा।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -