Friday, June 21, 2024
Homeविविध विषयअन्यऑपरेशन अजय शुरू, इजरायल से घर लौटे 212 भारतीयों ने मोदी सरकार का जताया...

ऑपरेशन अजय शुरू, इजरायल से घर लौटे 212 भारतीयों ने मोदी सरकार का जताया आभार: भारत माता के जयकारों से गूँजा दिल्ली एयरपोर्ट

"जब यह सब शुरू हुआ, उसके दूसरे दिन से ही हम भारत सरकार के संपर्क में थे। वे व्हाट्सएप समूहों पर सक्रिय थे और हमारे साथ संपर्क में थे। वे हमारे साथ सहयोग कर रहे थे, सारी जानकारी मुहैया करा रहे थे।"

इजरायल पर इस्लामी आतंकी संगठन हमास के हमलों के बाद शुरू हुई जंग के बीच भारत सरकार ने ‘ऑपेरशन अजय’ शुरू किया है। इसके तहत 13 अक्टूबर 2023 की सुबह 212 भारतीय नागरिक इजरायल से स्वदेश लौटे। सकुशल घर वापसी के लिए इनलोगों ने मोदी सरकार का आभार जताया है। इस दौरान दिल्ली एयरपोर्ट भारत माता के जयकारों से गूँज उठा।

इन भारतीयों को लेकर तेल अवीव से एयर इंडिया के विशेष विमान ने 12 अक्टूबर की रात उड़ान भरी थी। सुबह-सबेरे भारत की जमीन पर इनका स्वागत करने के लिए केंद्रीय मंत्री राजीव चंद्रशेखर खुद एयरपोर्ट पर मौजूद थे। उन्होंने कहा, “हमारी सरकार किसी भी भारतीय को कभी पीछे नहीं छोड़ेगी। हमारी सरकार, प्रधानमंत्री उनकी सुरक्षा के लिए, उन्हें सुरक्षित घर वापस लाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम विदेश मंत्री एस जयशंकर, विदेश मंत्रालय की टीम, एयर इंडिया के चालक दल के आभारी हैं जिन्होंने इसे संभव बनाया।”

सुरक्षित घर लौटे भारतीय ने एयरपोर्ट पर वंदेमातरम और भारत माता की जय के नारे लगाए। इसका वीडियो वायरल है। वापसी के लिए भारत सरकार की तारीफ की।

इज़रायल से लौटी एक महिला ने कहा, “जब यह सब शुरू हुआ, उसके दूसरे दिन से ही हम भारत सरकार के संपर्क में थे। वे व्हाट्सएप समूहों पर सक्रिय थे और हमारे साथ संपर्क में थे। वे हमारे साथ सहयोग कर रहे थे, सारी जानकारी मुहैया करा रहे थे।”

एक अन्य भारतीय नागरिक ने कहा, “इज़रायल में युद्ध शुरू होने के बाद हमें भारत से हमारे परिवार और दोस्तों के फोन आने लगे थे, सभी हमारे लिए फिक्रमंद थे। इस ऑपरेशन के जरिए इजरायल से सुरक्षित भारत लाने के लिए मैं भारत सरकार का शुक्रिया अदा करता हूँ।”

भारत लौटे मनोज कुमार ने कहा, “मैं वहाँ पर बतौर पोस्ट डॉक्टोरल फेलो के रूप में कार्यरत था। मेरी पत्नी और 4 वर्ष की बेटी भी साथ थी। तेल अवीव स्थित भारतीय दूतावास का धन्यवाद करता हूँ कि उन्होंने काफी सहयोग किया। साथ ही सुरक्षित रूप से भारत लाने के लिए भारत के विदेश मंत्रालय का धन्यवाद करता हूँ। इज़रायल की सरकार भी दिन-रात काम कर रही है।”

ऑपरेशन अजय के तहत इज़रायल से भारत आई एक अन्य महिला ने कहा, “मेरा बेटा अभी केवल 5 महीने का है। हम जिस स्थान पर थे वह सुरक्षित था। लेकिन आगे की परिस्थिति और अपने बेटे के लिए हमने भारत आने का फैसला लिया। पहली रात हम सो रहे थे तभी एक सायरन बजा, हम वहाँ बीते 2 साल से थे। हमने ऐसी परिस्थिति पहले कभी नहीं देखी थी। हम शेल्टर में गए, हम 2 घंटे के लिए शेल्टर में रहे। अब हम काफी बेहतर महसूस कर रहे हैं, मैं भारत सरकार और प्रधानमंत्री का धन्यवाद करती हूँ।”

वहीं भारत लौटी स्वाति पटेल ने बताया, “यहाँ आकर बहुत अच्छा लग रहा है। वहाँ जब सायरन बजता है तो बहुत डर लगता है। सायरन बजने पर शेल्टर में जाना होता है। यहाँ हम सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। जब भी सायरन बजता था तब हमें 1.5 मिनट में शेल्टर में जाना होता था।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हलाल प्रोडक्ट का विरोध करने के कारण हम निशाने पर’: जिस चोर औरंगजेब की मौत को ‘मॉब लिंचिंग’ बता बवाली हुए मुस्लिम, उसकी सच्चाई...

औरंगजेब केस में अलीगढ़ के व्यापारियों ने भाजपा सांसद को ज्ञापन देकर कहा है कि हलाल प्रोडक्ट का बहिष्कार करने के बाद से वो लोग निशाने पर हैं।

लगातार तीसरी बार नरेंद्र मोदी बने हैं PM, पर ‘पत्रकार’ बिल मेर लोकसभा चुनावों में ‘बड़ी हार’ बता अमेरिकी दर्शकों को बना रहा पोपट

बिल मेर ने दावा किया कि भारत में लोगों ने 'दक्षिणपंथी राजनीति' को अस्वीकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -