Saturday, July 24, 2021
Homeविविध विषयअन्य'आप लोगों ने तो मेरे हाथ-पाँव काट दिए' - जय श्रीराम से Video शुरू...

‘आप लोगों ने तो मेरे हाथ-पाँव काट दिए’ – जय श्रीराम से Video शुरू कर पाकिस्तानी गेंदबाज ने बयाँ किया दर्द

"जिन पर फिक्सिंग के आरोप थे, उन्हें वापस टीम में लाया गया, क्रिकेट बोर्ड में लाया गया। मैंने 10 साल मेहनत कर क्रिकेट खेली, एक दिन में 40 ओवर तक फेंके, उँगलियों से ख़ून गिरा, क्रिकेट ग्राउंड को अपना ख़ून दिया। और बदले में मेरे साथ..."

पूर्व पाकिस्तानी लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने यूट्यब पर एक भावुक वीडियो डाला है, जिसमें उन्होंने ताज़ा विवाद को लेकर बातचीत की। हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ शोएब अख्तर ने खुलासा किया था कि हिन्दू होने के कारण पाकिस्तान क्रिकेट के ड्रेसिंग रूम में दानिश के साथ भेदभाव होता था। दानिश ने भी इन आरोपों की पुष्टि की है। उन्होंने ‘जय श्री राम’ से अपने वीडियो की शुरुआत करते हुए सबसे पहले लोगों को समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने उन लोगों को करारा जवाब दिया, जो ये कह रहे थे कि दानिश सस्ती लोकप्रियता के लिए आरोप लगा रहे हैं।

दानिश ने याद दिलाया कि ये आरोप उन्होंने नहीं लगाए बल्कि शोएब अख्तर ने सबसे पहले इसका खुलासा किया। दानिश ने कहा कि घरेलू क्रिकेट से लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान के लिए खेल कर, उन्होंने जो कुछ भी झेला उसे अपने खेल के आड़े नहीं आने दिया। मीडिया चैनलों की आलोचना करते हुए दानिश ने कहा- “आपलोगों ने तो मेरे हाथ-पाँव काट दिए हैं।” उन्होंने आरोप लगाया कि कई टीवी चैनलों ने उन्हें काम देना बंद कर दिया। दानिश ने आरोप लगाया कि जिस चैनल के लिए उन्होंने काम किया, उसने भी अभी तक पेमेंट नहीं दी है।

दानिश ने पूछा कि ये चैनल वाले क्या चाहते हैं? क्या वो ख़ुद को ख़त्म कर लें? दानिश ने कहा कि उन्होंने 10 साल मेहनत कर के क्रिकेट खेली और एक दिन में 40 ओवर तक फेंके, लेकिन कभी बैक इंजरी वगैरह का बहाना नहीं किया। दानिश ने बताया कि उनकी उँगलियों में से ख़ून गिरता था, उन्होंने क्रिकेट ग्राउंड को अपना ख़ून दिया। दानिश ने कहा कि तीनों फॉर्मेट में खेलने और अच्छा करने के बावजूद उन्हें जानबूझ कर टेस्ट क्रिकेट तक सीमित रखा गया। इस दौरान दानिश ने अपने ऊपर लगे फिक्सिंग के आरोपों को लेकर भी बातचीत की।

पूर्व पाकिस्तानी स्पिनर ने बताया कि उन पर अन्य क्रिकेटरों को उकसाने का आरोप लगा था। उन्होंने बताया कि उन पर मैच को गुमराह करने का आरोप लगा था। दानिश ने अपनी ग़लती स्वीकारते हुए कहा कि इंसान से ही ग़लती होती है। साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने तो मुल्क को ही बेच डाला, पैसे खाए और जेल गए। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसे लोगों को वापस टीम में लाया गया और उनका स्वागत किया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि जिन पर फिक्सिंग के आरोप थे, उन्हें क्रिकेट बोर्ड में लाया गया, टीवी चैनलों में काम दिया गया और अन्य जगहों पर भी स्वागत किया गया।

दानिश ने आगे कहा कि उन्होंने कभी भी पैसे नहीं खाए। उन्होंने उनके केस को तोड़ने-मरोड़ने और ग़लत एंगल से पेश किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उन्हें एक विवादित व्यक्ति से इंट्रोड्यूस कराते हुए कहा गया था कि वो भी हिन्दू है। दानिश ने कहा कि घरेलू क्रिकेट से लेकर पाकिस्तान के लिए खेल तक, उन्होंने हमेशा ईमानदारी से खेला और पाकिस्तान को मैच जिताए। उन्होंने आगे कहा:

“चाहे भारत का टूर हो या फिर ऑस्ट्रेलिया का, मुझे बस यही चिंता रहती थी कि पाकिस्तान को किस तरह जिताना है। मैं रात को सोता तक नहीं था। जो लोग मेरे कजन भाई अनिल दलपत को इस मामले में घसीट रहे हैं, उनसे भी जाकर पूछिए कि उनके साथ क्या सलूक हुआ। उन्होंने भी क्रिकेट खेली है। चैनलों पर बकवास किया जा रहा है। जिन लोगों ने कभी क्रिकेट नहीं खेली, वो लोग झूठी बातें कर के अपना लेवल डाउन कर रहे हैं। मैं इतने वर्षों तक पाक क्रिकेट बोर्ड से और पाकिस्तान की जनता से मदद माँगता रहा, लेकिन किसी ने भी मेरी सहायता नहीं की। मुझे प्रतिबंधित कर दिया गया।”

पूर्व पाकिस्तानी गेंदबाज दानिश कनेरिया का बयान

दानिश कनेरिया ने आरोप लगाया कि कई पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने लीग मैच खेलने के लिए देश के क्रिकेट को किनारे पर रखा। अपना दर्द बयाँ करते हुए कनेरिया ने कहा कि उनके पास रोज़गार नहीं है। उन्होंने बताया कि वो एक दशक से बेरोज़गार हैं। उन्होंने कहा कि उनके पास परिवार भी है, उनकी मदद कौन करेगा? भावुक दानिश ने पाकिस्तान के विशेषज्ञों से कहा कि वो हकीकत जान कर ही बात करें। दानिश ने भारत के लोगों का भी समर्थन के लिए शुक्रिया अदा किया।

‘हिंदू दानिश कनेरिया हमारे साथ क्यों खाता है?’ – Pak क्रिकेट टीम का घिनौना सवाल और अख्तर का जवाब

हिन्दू होने के कारण दानिश के साथ पाक में हुआ भेदभाव: इमरान को पत्र लिखकर कहा- हालत बहुत ख़राब है

आरती की तरह हाथ घुमा रही थी बेटी तो तोड़ दी टीवी: शाहिद अफरीदी की कट्टरता पर पाकिस्तानी फ़िदा

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से इस्लाम शुरू, नारीवाद वहीं पर खत्म… डर और मौत भला ‘चॉइस’ कैसे: नितिन गुप्ता (रिवाल्डो)

हिंदुस्तान में नारीवाद वहीं पर खत्म हो जाता है, जहाँ से इस्लाम शुरू होता है। तीन तलाक, निकाह, हलाला पर चुप रहने वाले...

NH के बीच आने वाले धार्मिक स्थलों को बचाने से केरल HC का इनकार, निजी मस्जिद बचाने के लिए राज्य सरकार ने दी सलाह

कोल्लम में NH-66 के निर्माण कार्य के बीच में धार्मिक स्थलों के आ जाने के कारण इस याचिका में उन्हें बचाने की माँग की गई थी, लेकिन केरल हाईकोर्ट ने इससे इनकार कर दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,987FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe