Tuesday, October 4, 2022
Homeसोशल ट्रेंड'सब तो मिला के पीते हैं...' : पंजाब में रामलीला मंच पर शराब के...

‘सब तो मिला के पीते हैं…’ : पंजाब में रामलीला मंच पर शराब के साथ डांस, Video वायरल होने पर आयोजकों को माँजने पड़े 4 घंटे बर्तन

पटियाला से आई वीडियो को देख तो हिंदू तख्त ने रामलीला के आयोजकों से झूठे बर्तन धुलवा लिए। लेकिन रोपड़ की वीडियो कब की है ये नहीं पता चला है।

हिंदुओं की आस्था में आधुनिकता का तड़का लगाने का प्रयास इस बार पंजाब में हुआ है। वहाँ रामलीला मंचन के दौरान स्टेज पर कहीं कलाकार बोतल लेकर नाचता दिखाई दिया, तो कहीं रावण की वेशभूषा पहने-पहने कलाकार स्टेज पर बंदूक के साथ डांस करने लगा। सोशल मीडिया पर दोनों वीडियो वायरल हैं और लोग ऐसी फूहड़ता का विरोध कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक एक वीडियो पटियाला और दूसरा रोपड़ की है। पटियाला से आई वीडियो को देख तो हिंदू संगठन ने रामलीला के आयोजकों से झूठे बर्तन धुलवा लिए। लेकिन रोपड़ की वीडियो कब की है ये नहीं पता चला है।

पटियाला की जो वीडियो वायरल है उसे अपनी खबर में शेयर करते हुए दैनिक भास्कर बताता है कि यहाँ रामलीला का आयोजन जीरकपुर प्रभात एरिया में श्री सनातन धर्म क्लब रामलीला मंचन द्वारा करवाया जा रहा है। जहाँ 5 अक्टूबर को एक कलाकार शराब की बोतल लेकर मंच पर चढ़ गया और मनोरजंन के नाम पर उसने ‘सब तो मिला के पीते हैं…’ गाने पर नाचना शुरू कर दिया।

रामलीला मंच पर कलाकार

मामले ने तूल तब पकड़ा जब वीडियो वायरल हुई। इसके बाद हिंदू तख्त के धर्माधीश जगदगुरु पंचानंद गिरी जी महाराज ने रामलीला मंचन करवा रहे आयोजक और बोतल लेकर मंच पर नाचने वाले कलाकार को झूठे बर्तन धोने की सजा सुनाई और उनसे 4 घंटे बर्तन धुलवाए। इसके बाद तख्त ने उन्हें अगले 5 शनिवार श्री काली माता मंदिर में भक्तों के झूठे बर्तन साफ करने को कहा है।

साभार: दैनिक भास्कर

इसी प्रकार रोपड़ से आई वीडियो में रावण की वेशभूषा में स्टेज पर कलाकार बंदूक लेकर नाच रहा है। उसके पीछे पंजाबी गायक हरजीत हरमन का ‘मित्रां दा नां चलदा’ गीत बज रहा है, पीछे दर्शक भी खूब शोर मचा रहे हैं, मंच पर बैठे लोग भी मजे लेते हुए दिख रहे हैं। कुछ लोग रावण के साथ नाचते भी देखे गए।

वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

उल्लेखनीय है कि ये कोई नई बात नहीं है कि रामलीला के मंच पर ऐसी घटिया हरकतें हुई हों। केवल पंजाब ही नहीं आज जगह-जगह रामलीला को मनोरंजन का स्रोत बना दिया गया है। वहाँ कॉमेडी होती है, ऐसे घटिया डांस होते हैं, गाना गाया जाता है। आयोजकों को लगता है कि ऐसा करके वह दर्शकों को बाँधे रखते हैं लेकिन सच यह है कि रामलीला मंचन हर वर्ष इस उद्देश्य से होता था कि रामकथा का प्रसार हो और श्रीराम के जीवन से आने वाली पीढ़ी शिक्षा ले सके। हालाँकि, अब ये सब बीती बातें लगती हैं और आज का समय यही है जहाँ रावण बंदूक लेकर नाचता है और हनुमानजी की तस्वीर के सामने कलाकार को शराब की बोतल हाथ में देकर नाचने की छूट दे दी जाती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

एक मिनट में दागेगा 750 गोलियाँ, ऊँचाई वाले स्थानों पर दुश्मन की खैर नहीं: जानें 5800 किलो के स्वदेशी ‘प्रचंड’ के बारे में, जो...

'प्रचंड' चॉपर दुश्मनों के लड़ाकू विमानों को ध्वस्त करने, आतंकवाद विरोधी अभियानों को अंजाम देने, कॉम्बैट सर्च और बचाव कार्यों में सक्षम हैं।

कॉन्ग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष ने भारत आए चीतों को बताया लंपी वायरस का कारण, नामीबिया को बताया ‘नाइजीरिया’: BJP नेता ने कहा – इनको...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा है कि देश में फैले हुए लंपी वायरस के लिए 'नाइजीरिया' से आए चीते जिम्मेदार हैं। हुई जगहँसाई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
226,129FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe