Wednesday, May 22, 2024
Homeविविध विषयअन्यजिस अडानी ग्रुप में पैसा लगाने पर विपक्ष उठा रहा था सवाल, उसने ही...

जिस अडानी ग्रुप में पैसा लगाने पर विपक्ष उठा रहा था सवाल, उसने ही LIC को किया मालामाल: सालभर में 59% रिटर्न, निवेश घटाने के बाद भी ₹22378 करोड़ मुनाफा

कॉन्ग्रेस का आरोप था कि पीएम मोदी ने गौतम अडानी को एलआईसी के माध्यम से हजारों करोड़ रुपए दिए हैं। हालाँकि ताजे रिपोर्ट्स कुछ और ही कहानी बयाँ कर रहे हैं।

सार्वजनिक क्षेत्र की इंश्‍योरेंस कंपनी एलआईसी ने वित्त वर्ष 2023-24 में अडानी ग्रुप की कंपनियों में किए गए अपने इन्‍वेस्‍टमेंट वैल्‍यू में 59 फीसदी का मुनाफा दर्ज किया है। अमेरिकी फर्म हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से अडानी ग्रुप के शेयरों में भारी गिरावट आई थी, जिसके बाद एलआईसी के निवेश की वैल्‍यू कम हुई, लेकिन कुछ दिनों बाद जब अडानी ग्रुप शेयरों ने वापसी की, तो उसका जोरदार फायदा एलआईसी को भी मिला। महज एक ही साल में एलआईसी को 22,378 करोड़ रुपए का फायदा मिला है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अडानी ग्रुप की सात कंपनियों में एलआईसी का कुल निवेश 31 मार्च, 2023 को 38,471 करोड़ रुपए से बढ़कर 31 मार्च, 2024 को 61,210 करोड़ रुपए हो गया। यानी इसमें एक फाइनेंशियल ईयर में 22,378 करोड़ रुपए की बढ़ोतरी दर्ज की गई। पिछले साल, हिंडनबर्ग रिपोर्ट में अडानी ग्रुप के शेयरों में हेराफेरी के आरोपों के बाद इंश्‍योरेंस कंपनी को भी अडानी ग्रुप में निवेश करने के अपने फैसले पर सवालों का सामना करना पड़ा था।

कॉन्ग्रेस पार्टी ने तो यहाँ तक आरोप लगा दिए थे कि एलआईसी को अडानी ग्रुप की कंपनियों में निवेश के लिए मजबूर किया गया और आम लोगों का पैसा डुबाया गया। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ताओं ने एलआईसी दफ्तरों के सामने प्रदर्शन भी किया था। कॉन्ग्रेस का आरोप था कि पीएम मोदी ने गौतम अडानी को एलआईसी के माध्यम से हजारों करोड़ रुपए दिए हैं। हालाँकि ताजे रिपोर्ट्स कुछ और ही कहानी बयाँ कर रहे हैं।

एलआईसी ने घटाया निवेश, फिर भी तगड़ा मुनाफा

बता दें कि एलआईसी पर कॉन्ग्रेस के आरोपों के बीच एलआईसी ने अडानी ग्रुप में अपने निवेश को घटा दिया था। एलआईसी ने अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड और अडानी एंटरप्राइजेज में अपना निवेश कम करते हुए अपने शेयर बेच दिए थे। एलआईसी के इस कदम के बावजूद इन दोनों कंपनियों के शेयरों में वित्त वर्ष 2023-24 में 83 फीसदी और 68.4 फीसदी की तेजी देखने को मिली है।

बता दें कि एलआईसी ने अडानी की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइज लिमिटेड, अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड, अडानी ग्रीन एनर्जी, अडानी टोटल गैस, अंबुजा सीमेंट्स और एसीसी में भी एलआईसी का निवेश है। आँकड़ों के मुताबिक, अडानी एंटरप्राइज लिमिटेड में एलआईसी का निवेश 31 मार्च, 2023 को 8,495.31 करोड़ रुपए से बढ़कर एक साल बाद 14,305.53 करोड़ रुपए हो गया। इस दौरान अडानी पोर्ट्स एंड एसईजेड में निवेश 12,450.09 करोड़ रुपये से बढ़कर 22,776.89 करोड़ रुपए हो गया। अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड में एलआईसी का निवेश एक साल में दोगुना से अधिक होकर 3,937.62 करोड़ रुपये पर पहुँच गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -