Wednesday, June 19, 2024
Homeविविध विषयअन्यसुशांत वाला कूपर हॉस्पिटल, कार का शीशा टूटा हुआ: सिद्धार्थ शुक्ला को हर्ट अटैक...

सुशांत वाला कूपर हॉस्पिटल, कार का शीशा टूटा हुआ: सिद्धार्थ शुक्ला को हर्ट अटैक या हत्या? नेटिजन्स पूछ रहे सवाल

सोशल मीडिया पर एक नई बहस शुरू हो गई है। ये बहस कूपर अस्पताल को लेकर है जहाँ उन्हें आखिरी समय लेकर ले जाया गया। इस केस को सुशांत सिंह से जोड़कर कहा जा रहा है कि पहले सुशांत और अब सिद्धार्थ शुक्ला। वही कूपर अस्पताल। यकीन है कि ये भी मर्डर ही होगा।

बिग बॉस 13 के विजेता, टेलीविजन के मशहूर एक्टर और इंटरनेट पर युवाओं के लिए आइकन बन चुके सिद्धार्थ शुक्ला का आज (सितंबर 2, 2021) सुबह 10:30 बजे हार्ट अटैक के कारण निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक सिद्धार्थ शुक्ला के दीदी और जीजा उन्हें बेहोशी की हालत में कूपर अस्पताल लेकर पहुँचे थे। 

उनकी मौत का कारण अबतक स्पष्ट नहीं हो सका है। आजतक की रिपोर्ट बता रही है कि वह कल रात कोई दवाई लेकर सोए थे। ये दवाई किस चीज की थी, इसका पता नहीं चल सका है। कूपर अस्पताल में ही उनका शरीर पंचनामे के लिए रखा गया है। नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट बता रही है कि बीती रात जिस कार से फ्लैट पहुँचे उसका पिछला शीशा बुरी तरह टूटा था।

इस मामले में पुलिस ने कहा है कि पोस्टमार्टम के बाद ही सिद्धार्थ की मौत की वजह पता चलेगी। इस मामले में उनके परिवार और करीबी लोगों का बयान नहीं दर्ज कराया जाएगा। सिद्धार्थ शुक्ला के शरीर पर अभी तक कोई बाहरी चोट के निशान नहीं मिले हैं। पुलिस इसे लेकर कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहती है। उनके आवास पर एक पुलिस टीम मौजूद है।

कूपर अस्पताल के मुताबिक, सिद्धार्थ शुक्ला को जब वहाँ पर लाया गया तब तक उनकी मृत्यु हो चुकी थी। घर से जब सिद्धार्थ को ले जाया गया, तभी अस्पताल में में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शुरुआती रिपोर्ट्स में सिद्धार्थ की मृत्यु का कारण हार्ट अटैक बताया गया है।

उल्लेखनीय है कि सिद्धार्थ की मृत्यु की खबर सुनकर कई लोग सदमे में हैं। टीवी इंडस्ट्री के लोग जहाँ उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। वहीं सोशल मीडिया पर एक नई बहस शुरू हो गई है। ये बहस कूपर अस्पताल को लेकर है जहाँ उन्हें आखिरी समय लेकर ले जाया गया। इस केस को सुशांत सिंह से जोड़कर कहा जा रहा है कि पहले सुशांत और अब सिद्धार्थ शुक्ला। वही कूपर अस्पताल। यकीन है कि ये भी मर्डर ही होगा।

मोक्ष्वी नाम की यूजर पूछती है, “उनके शव को कूपर अस्पताल क्यों ले गए। सुशांत सिह राजपूत का शव भी कूपर अस्पताल में था। यह इतना चौंकाने वाला है कि आखिर ऐसी रहस्यमय मौतों को केवल कूपर तक कैसे ले जाया जाता है? दोस्तों कूपर का रहस्य खोलो। ऐसे नहीं चल सकता, अच्छे अभिनेता को मर्डर किया जा रहा है। “

कुछ लोग तो ये भी कह रहे हैं कि जब भी कूपर का नाम आए तो समझ जाओ कि मामला हत्या का है।

रीवा धीमन कहती हैं, “यकीन ही नहीं हो रहा कि ये न्यूज एक बार फिर मर्डर जैसी लग रही है जैसे पिछले साल सुशांत की लगी थी। अब बस सिद्धार्त शुक्ला है और वही कूपर अस्पताल है।”

बता दें कि कूपर अस्पताल सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के बाद चर्चा में आया था। सुशांत की मौत के बाद उनका पोस्टमॉर्टम मुंबई के कूपर अस्पताल में ही किया गया था। पोस्टमॉर्टम के अगले दिन रिया सुशांत के शव को देखने के लिए अस्पताल पहुँची थी। अस्पताल की ओर से रिया को शव को देखने की इजाजत दी गई थी। इसी पर महाराष्ट्र राज्य मानवाधिकार आयोग ने कूपर अस्पताल और मुंबई पुलिस से जवाब माँगा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -