Monday, July 26, 2021
Homeविविध विषयअन्यसुशांत की डायरी के 4 पन्ने गायब, सबूतों से छेड़छाड़ का शक गहराया: अंकिता...

सुशांत की डायरी के 4 पन्ने गायब, सबूतों से छेड़छाड़ का शक गहराया: अंकिता ने बताया था- डायरी में नोट करते थे हर बात

रिपोर्ट के अनुसार सुशांत की डायरी के आखिरी चार पन्ने फटे हैं। पत्रकार नविका कुमार के अनुसार, सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता ने 31 जुलाई को एक इंटरव्यू में इस बात को स्वीकारा था कि खुद से जुड़ी हर बात सुशांत अपनी डायरी में लिखते थे।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से हर दिन इस मामले में कोई न कोई नई और चौंकाने वाली बात सामने आ रही है। टाइम्स नाउ की रिपोर्ट के अनुसार सुशांत की पर्सनल डायरी के कुछ पन्ने गायब हैं। इससे सबूतों से छेड़छाड़ का शक और गहरा गया है।

रिपोर्ट के अनुसार सुशांत की डायरी के आखिरी चार पन्ने फटे हैं। पत्रकार नविका कुमार के अनुसार, सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता ने 31 जुलाई को एक इंटरव्यू में इस बात को स्वीकारा था कि खुद से जुड़ी हर बात सुशांत अपनी डायरी में लिखते थे।

नविका ने अपने शो के दौरान कहा, डायरी के पन्नों का गायब होना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि कोई इस मामले के तथ्यों को छुपाना चाहता था। पत्रकार एस शिवशंकर ने कहा कि सुशांत की डायरी में कुछ लोगों के नामों का भी उल्लेख है। लेकिन इस समय मीडिया संस्थान उसका खुलासा नहीं कर सकती है।

सिद्धार्थ पीठानी ने चाभी बनाने वाले को नहीं जाने दिया कमरे के अंदर

सुशांत सिंह राजपूत के क्रिएटिव मैनेजर सिद्धार्थ पिठानी, ने सबसे पहले दिवंगत अभिनेता की लाश को देखा था।
पत्रकार नविका कुमार के अनुसार, पिठानी ने डुप्लीकेट चाबी खोजने की कोशिश करने के बजाय एक चाभी बनाने वाले को बुलाया।

सिद्धार्थ ने चाभी बनानेवाले को सुशांत के कमरे में प्रवेश करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था। बाद में, पिठानी और एक अन्य व्यक्ति दीपेश ने दरवाजा खोला। कमरे के अंदर जाकर कथित तौर पर मृतक अभिनेता के ‘लटकते हुए शरीर’ को पंखे से नीचे उतारा। कुमार ने मुंबई पुलिस पर निष्क्रियता और उन लोगों से पूछताछ नहीं करने का आरोप लगाया, जिन्होंने सुशांत की लाश को पहली बार देखा था।

सीबीआई को सौंपा गया का मामला

गौरतलब है कि सुशांत सिंह की मृत्यु का मामला धीरे धीरे कई राज से पर्दा उठा रहा है। रिया चक्रवर्ती, जिन्हें लेकर सुशांत के पिता ने अपनी शिकायत दर्ज करवाई है। उन पर शिकंजा कसता जा रहा है। सीबीआई ने भी इस मामले की जाँच मिलने के बाद अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

सीबीआई ने इसके लिए स्पेशल टीम का गठन भी किया है। इस टीम में आईपीएस मनोज शशिधर, डीआईजी गगनदीप गंभीर और एसपी नुपूर प्रसाद शामिल हैं। जाँच एजेंसी 6 आरोपितों के ख़िलाफ़ मुकदमा दर्ज कर चुकी है। उनका कहना है कि वह लगातार इस केस को लेकर बिहार पुलिस के संपर्क में हैं।

जॉंच एजेंसी ने जिनके खिलाफ मामला दर्ज किया है उनमें रिया चकवर्ती, इंद्रजीत चकवर्ती, संध्या चकवर्ती, सौविक चकवर्ती, सैम्युल मिरांडा, श्रुति मोदी शामिल हैं। बता दें, कि सीबीआई के अलावा इस मामले में अब ईडी भी सुंशांत के पैसों को लेकर हुई हेर-फेर की जाँच करने में जुटी है। सुशांत के पिता का आरोप है कि उनके बेटे के अकाउंट से ऐसे अकाउंट में पैसे ट्रांसफर हुए जो उसका था ही नहीं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘हम आपको नहीं सुनेंगे…’: बॉम्बे हाईकोर्ट से जावेद अख्तर को झटका, कंगना रनौत से जुड़े मामले में आवेदन पर हस्तक्षेप से इनकार

जस्टिस शिंदे ने कहा, "अगर हम इस तरह के आवेदनों को अनुमति देते हैं तो अदालतों में ऐसे मामलों की बाढ़ आ जाएगी।"

सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रहे मदन लोकुर से पेगासस ‘इंक्वायरी’ करवाएँगी ममता बनर्जी, जिस NGO से हैं जुड़े उसे विदेशी फंडिंग

पेगासस मामले की जाँच के लिए गठित आयोग का नेतृत्व सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश मदन लोकुर करेंगे। उनकी नियुक्ति सीएम ममता बनर्जी ने की है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,294FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe