Wednesday, June 29, 2022
Homeविविध विषयअन्य100 'सर्वश्रेष्ठ' संस्थानों में देश के 11 विश्वविद्यालय: THE की सूची में भारत का...

100 ‘सर्वश्रेष्ठ’ संस्थानों में देश के 11 विश्वविद्यालय: THE की सूची में भारत का प्रदर्शन सुधरा

'टाइम्स हायर एजुकेशन' की सूची में आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी बॉम्बे और आईआईटी दिल्ली को क्रमशः 32वें, 34वें और 38वें स्थान पर जगह मिली है। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस (IISc) टॉप पर...

अंतरराष्ट्रीय पत्रिका ‘टाइम्स’ ने उभरती अर्थव्यवस्थाओं के शैक्षिक संस्थानों का मूल्यांकन करते हुए एक सूची जारी की है। इस सूची में भारत के लिए भी अच्छी ख़बर है। टाइम्स हायर एजुकेशन (THE: Times Higher Education) के ‘इमर्जिंग इकोनॉमिक्स यूनिवर्सिटी रैंकिंग्स 2020’ के अंतर्गत विश्वविद्यालयों की सूची जारी की है। भारत के लिए अच्छी बात ये है कि टॉप-100 में भारत की 11 यूनिवर्सिटी शामिल हैं। ये सूची मंगलवार (फरवरी 18, 2020) को लंदन में जारी की गई

जहाँ भारत के 11 विश्वविद्यालयों ने इस सूची में जगह बनाई है, चीन के सर्वाधिक 30 यूनिवर्सिटी इस लिस्ट में शामिल है। इस मामले में चीन पहले और भारत दूसरे नंबर पर आता है। इस मूल्यांकन में कुल 47 देशों व स्वायत्त प्रदेशों को शामिल किया गया है। पूरी सूची की बात करें तो इसमें 533 विश्वविद्यालयों की रैंकिंग की गई है, जिसमें भारत के 56 विश्वविद्यालय शामिल हैं।

‘इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस’ को इस सूची में 16वाँ स्थान मिला है, जो भारतीय शैक्षिक संस्थानों में इसे सर्वश्रेष्ठ बनाता है। इसके बाद आईआईटी का नंबर आता है। ‘THE’ के चीफ नॉलेज ऑफिसर फील बैटी ने कहा कि लम्बे समय से इस पर चर्चा होती रही है कि वैश्विक रैंकिंग में भारतीय विश्वविद्यालयों की क्या स्थिति है? उन्होंने कहा कि वैश्विक मंच पर भारतीय शैक्षणिक संस्थानों का परफॉरमेंस इससे पहले दमदार नहीं रहा है। उन्होंने बताया कि विभिन्न प्रयासों के कारण भारतीय संस्थानों की रैंकिंग में उछाल आया है और उच्च-शिक्षा व्यवस्था में सुधार हो रहा है। उन्होंने 2017 में स्थापित ‘इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ एमिनेंस स्कीम’ की भी तारीफ की, जिसके तहत भारत में शैक्षिक संस्थानों की रैंकिंग की जाती है।

इसी स्कीम का कमाल है कि अमृता विश्वपीठम जैसे शैक्षिक संस्थान 51 स्थान तक की छलाँग लगा चुके हैं। प्रतिस्पर्द्धा का भी माहौल बना है और सभी संस्थान शिक्षा-व्यवस्था में आगे बढ़ने के लिए प्रयास कर रहे हैं। टाइम्स ने अमृता की छलाँग की तारीफ करते हुए कहा कि उसने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया है। ‘टाइम्स हायर एजुकेशन’ की सूची में आईआईटी खड़गपुर, आईआईटी बॉम्बे और आईआईटी दिल्ली को क्रमशः 32वें, 34वें और 38वें स्थान पर जगह मिली है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘इस्लाम ज़िंदाबाद! नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं’: कन्हैया लाल का सिर कलम करने का जश्न मना रहे कट्टरवादी, कह रहे – गुड...

ट्विटर पर एमडी आलमगिर रज्वी मोहम्मद रफीक और अब्दुल जब्बार के समर्थन में लिखता है, "नबी की शान में गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं।"

कमलेश तिवारी होते हुए कन्हैया लाल तक पहुँचा हकीकत राय से शुरू हुआ सिलसिला, कातिल ‘मासूम भटके हुए जवान’: जुबैर समर्थकों के पंजों पर...

कन्हैयालाल की हत्या राजस्थान की ये घटना राज्य की कोई पहली घटना भी नहीं है। रामनवमी के शांतिपूर्ण जुलूसों पर इस राज्य में पथराव किए गए थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
200,255FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe