Sunday, September 26, 2021
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबकरियों, मुर्गियों व अण्डों से पाकिस्तान को महाशक्ति बनाएँगे इमरान ख़ान, जनता हैरत में

बकरियों, मुर्गियों व अण्डों से पाकिस्तान को महाशक्ति बनाएँगे इमरान ख़ान, जनता हैरत में

इसी तरह पाकिस्तान गदहे बेचकर भी अर्थव्यवस्था सुधारने की पहल कर चुका है। चीन में गदहों की बढ़ती माँग से परेशान अफ्रीकी देशों ने जब उसे गदहे बेचना बंद कर दिया तो पाकिस्तान ने अपने यहाँ गदहों की बढ़ती संख्या को देखते हुए, उन्हें चीन को बेचना शुरू कर दिया है।

पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान ख़ान ने अपने देश की ग़रीबी, भूखमरी और आर्थिक बदहाली को दूर करने के लिए बकरियों, मुर्गियों व अण्डों का सहारा लेने की बात कही है। इससे पाकिस्तान की जनता तो हैरत में है ही, दुनियाभर में अन्य लोग भी इसके लिए इमरान ख़ान का मज़ाक बनाने में लगे हुए हैं। अब ज़रा आप भी पाकिस्तान के पीएम की इस दूरदर्शी योजना के बारे में जान लीजिए। बकौल इमरान, इस योजना से सभी संवेदनशील समुदायों, खासकर महिलाओं की ग़रीबी दूर होगी। इतना ही नहीं, इस योजना के लिए संविधान में भी संशोधन किया जाएगा। इससे ग़रीबों को आवास, भोजन, स्वास्थ्य और कपड़ा जैसी मूलभूत सुविधाएँ देना सरकार के लिए अनिवार्य हो जाएगा।

दरअसल, पाकिस्तानी पीएम ने कहा कि वे ग़रीबो को बकरियाँ देंगे ताकि उन्हें दूध मिले और बच्चों को दूध मिले। साथ ही उन्होंने कहा कि देहात में औरतों को मुर्गियाँ दी जाएँगी। उन्होंने कहा कि मुर्गियों व बकरियों से देहात में बड़ा बदलाव आएगा। लोगों ने इमरान ख़ान का जम कर मज़ाक उड़ाते हुए कहा कि अब पाकिस्तान बकरियों और मुर्गियों का उपयोग कर विश्व महाशक्ति बनेगा।

एक ट्विटर यूजर ने चुटकी लेते हुए कहा कि पाकिस्तान विश्व में ‘ऑमलेट का राजा’ और ‘ब्रेड का बादशाह’ के रूप में जाना जाएगा। नीचे हम कुछ ऐसे ट्वीट्स संलग्न कर रहे हैं, जिससे आप भी इस हास्यपूर्ण सिलसिले का गवाह बन सकें।

इसी तरह पाकिस्तान गदहों को भी बेचता रहा है। चीन में गदहों की बढ़ती माँग से परेशान अफ्रीकी देशों ने जब उसे गदहे बेचना बंद कर दिया तो उसने इन देशों में लोगों के गदहे चुराने शुरू कर दिए। इस मामले में हमने एक गंभीर विश्लेषण कर बताया था कि चीन में क्यों गदहों की माँग बढ़ रही है और कैसे पाकिस्तान में गदहों की बढ़ती संख्या को नियंत्रित करने के लिए उन्हें चीन को बेच दिया जा रहा है?

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

PFI के 6 लोग… ₹28 लाख की वसूली… खाली कराना था 60 परिवार, कहाँ से आए 10000? – असम के दरांग में सिपाझार हिंसा...

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने सिपाझार हिंसा के पीछे PFI के होने की बात कही। 6 लोगों ने अतिक्रमणकारियों से 28 लाख रुपए वसूले थे।

केरल: CPI(M) यूथ विंग कार्यकर्ता ने किया दलित बच्ची का यौन शोषण, वामपंथी नेताओं ने परिवार को गाँव से बहिष्कृत किया

केरल में DYFI कार्यकर्ता पर एक दलित बच्ची के यौन शोषण का आरोप लगा है। बच्ची की उम्र मात्र 9 वर्ष है। DYFI केरल की सत्ताधारी पार्टी CPI(M) का यूथ विंग है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,375FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe