Tuesday, October 19, 2021
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीअब इंसानों के शरीर में धड़केगा सुअर का दिल: ब्रिटेन का पहला सफल हार्ट...

अब इंसानों के शरीर में धड़केगा सुअर का दिल: ब्रिटेन का पहला सफल हार्ट ट्रांसप्लांट करने वाले डॉक्टर का दावा

सुअर के अंगों का आकार इंसान के अंगों की तरह ही होता है, इसलिए इसे इंसान के लिए सही माना जा रहा है। डॉक्टर टेरेन्स का कहना है कि...

जल्द ही ऐसा मुमकिन है कि एक सुअर का दिल किसी इंसान के अंदर धड़के। यह बात सुनने में जरूर अटपटी लग सकती है, लेकिन ब्रिटेन के नामचीन डॉक्टर सर टेरेन्स इंग्लिश का कहना है कि सिर्फ 3 साल के भीतर सुअर के दिलों को इंसानों में ट्रांसप्लांट करना संभव हो सकता है। 40 साल पहले ब्रिटेन का पहला सफल हार्ट ट्रांसप्लांट करने वाले डॉक्टर टेरेन्स का कहना है कि इस तकनीक से हृदय रोगियों को एक नई जिंदगी मिल सकती है।

हालाँकि, उन्होंने कहा कि इससे पहले सुअर की किडनी इंसानों के अंदर लगाई जाएगी। दरअसल, दुनिया भर में ह्यूमन ऑर्गन्स की जितनी माँग है, उतने डोनर नहीं मिल पाते। जिसकी वजह से उनकी मौत हो जाती है। इसी के मद्देनज़र दुनिया को कुछ बेहतर देने की कोशिश में मेडिकल वर्ल्ड में नए-नए एक्सपेरिमेंट किए जा रहे हैं। वैज्ञानिक इस ओर तेजी से कदम बढ़ा रहे हैं। गंभीर बीमारी से जूझ रहे लोगों के शरीर में सुअर का दिल लगाने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ गई है।

चूँकि, सुअर के अंगों का आकार इंसान के अंगों की तरह ही होता है, इसलिए इसे इंसान के लिए सही माना जा रहा है। डॉक्टर टेरेन्स का कहना है कि जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले लोग इसका विरोध कर सकते हैं, लेकिन क्या यह अच्छा नहीं होगा कि इस प्रक्रिया का इस्तेमाल करके इंसान को बचाया जा सकेगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बांग्लादेश का नया नाम जिहादिस्तान, हिन्दुओं के दो गाँव जल गए… बाँसुरी बजा रहीं शेख हसीना’: तस्लीमा नसरीन ने साधा निशाना

तस्लीमा नसरीन ने बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टरपंथी इस्लामियों द्वारा किए जा रहे हमले पर प्रधानमंत्री शेख हसीना पर निशाना साधा है।

पीरगंज में 66 हिन्दुओं के घरों को क्षतिग्रस्त किया और 20 को आग के हवाले, खेत-खलिहान भी ख़ाक: बांग्लादेश के मंत्री ने झाड़ा पल्ला

एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से अफवाह फैल गई कि गाँव के एक युवा हिंदू व्यक्ति ने इस्लाम मजहब का अपमान किया है, जिसके बाद वहाँ एकतरफा दंगे शुरू हो गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,824FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe