Wednesday, September 22, 2021
Homeविविध विषयअन्यटोक्यो ओलंपिक: आखिरी क्षणों में महिला हॉकी टीम के हाथ से फिसला कांस्य, 4...

टोक्यो ओलंपिक: आखिरी क्षणों में महिला हॉकी टीम के हाथ से फिसला कांस्य, 4 मिनट में 3 गोल दाग उड़ा दिए थे ब्रिटेन के होश

टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल जीत करीब चार दशक से चल रहा पदक का सूखा खत्म किया था।

टोक्यो ओलंपिक 2020 के 15वें दिन यानी शुक्रवार (6 अगस्त) को भारतीय महिला हॉकी टीम इतिहास रचने से चूक गई। ग्रेट ब्रिटेन की टीम ने आखिरी क्षणों में निर्णायक गोल दाग मैच 4-3 से जीता और ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।

पहले क्वार्टर में ब्रिटेन ने भारत पर पूरी से दबाव बनाए रखा। वहीं, दूसरे क्वार्टर टीम इंडिया ब्रिटेन पर शिकंजा कसने में कामयाब रही। रानी रामपाल की टीम ने इस क्वार्टर में तीन गोल किए और ब्रिटेन पर 3-2 की बढ़त बना ली। भारत ने ब्रिटेन के खिलाफ ये तीन गोल 4 मिनट के अंदर किए। दो गोल गुरजीत कौर और एक वंदना कटारिया ने किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, वंदना का इस टूर्नामेंट में यह चौथा गोल था। हालाँकि, ब्रिटेन ने तीसरे क्वार्टर के बाद चौथे क्वार्टर में एक बार फिर भारत पर 4-3 से बढ़त बना ली। ब्रिटेन ने 48वें मिनट में गोल किया है और आखिरकार यही अंतिम नतीजा रहा।

गुरजीत कौर का शानदार प्रदर्शन

गुरजीत कौर ने दो शानदार गोल दागकर टीम इंडिया की धमाकेदार वापसी कराई। गुरजीत ने 2 मिनट के अंदर ये दोनों गोल किए। उन्होंने पहला गोल 25वें मिनट और दूसरा गोल 26वें मिनट में किया। इस गोल के साथ भारत ने ब्रिटेन की बराबरी करते हुए स्कोर 2-2 से बराबर कर लिया।

गौरतलब है कि टोक्यो ओलंपिक के 14वें दिन यानी गुरुवार (5 अगस्त) को भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए जर्मनी को करारी शिकस्त देकर ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया था। टीम इंडिया दूसरे हॉफ में लगातार गोल दागकर जर्मनी को 5-4 से मात देकर इतिहास रचा था इस दमदार जीत के साथ भारत ने अपने चार दशक का सूखा खत्म कर देश को गौरवान्वित कर किया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महंत नरेंद्र गिरी की संदिग्ध मौत की जाँच के लिए SIT गठित: CM योगी ने कहा – ‘जिस पर संदेह, उस पर सख्ती’

महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में गठित SIT में डेप्यूटी एसपी अजीत सिंह चौहान के साथ इंस्पेक्टर महेश को भी रखा गया है।

जिस राजस्थान में सबसे ज्यादा रेप, वहाँ की पुलिस भेज रही गंदे मैसेज-चौकी में भी हो रही दरिंदगी: कॉन्ग्रेस है तो चुप्पी है

NCRB 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान में जहाँ 5,310 केस दुष्कर्म के आए तो वहीं उत्तर प्रेदश में ये आँकड़ा 2,769 का है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,642FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe