Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजथाने में आग लगा लगा रहे थे, पुलिस की गोली से मारे गए 2...

थाने में आग लगा लगा रहे थे, पुलिस की गोली से मारे गए 2 उपद्रवी, लखनऊ में भी 1 की मौत

इधर नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में सीएए और एनआरसी को लेकर भड़काऊ पर्चे बाँट रहे दो लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार किया। मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में बॉलीवुड के कई लोग सड़कों पर उतरे। उनके साथ हज़ारों लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चल रहे विरोध प्रदर्शन में मंगलुरु और लखनऊ से प्रदर्शनकारियों के मरने की भी ख़बर आ रही है। जहाँ मंगलुरु में 2 प्रदर्शनकारियों की मौत हो गई, लखनऊ में एक प्रदर्शनकारी की मौत हुई। सूचना के अनुसार, लखनऊ ट्रामा सेंटर में 24 वर्षीय मोहम्मद वकील की चोट की वजह से मौत हो गई। सीएए के ख़िलाफ़ चल रहे विरोध प्रदर्शन के हिंसक होने के कारण कई अन्य लोग भी घायल हुए हैं। यूपी डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि मोहम्मद वकील की मौत पुलिस फायरिंग से नहीं हुई है

डीजीपी ने बताया कि अभी स्पष्ट नहीं है कि उक्त प्रदर्शनकारी की मौत विरोध प्रदर्शन में हिंसा लेने के कारण हुई या फिर किसी और वजह से। उधर गुरुवार (दिसंबर 19, 2019) की शाम मेंगलुरु हॉस्पिटल में भी दो लोगों के मरने की ख़बर आई है। ये दोनों मंगलुरु नार्थ पुलिस स्टेशन को आग के हवाले करने जा रहे थे। पुलिस ने प्रदर्शन को हिंसक होते देख गोली चलाई और ये दोनों ही मारे गए। शुक्रवार को भी मंगलुरु के सभी स्कूलों व कॉलेजों को बंद रखा गया है।

इधर नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में सीएए और एनआरसी को लेकर भड़काऊ पर्चे बाँट रहे दो लोगों को पुलिस ने गिरफ़्तार किया। मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में बॉलीवुड के कई लोग सड़कों पर उतरे। उनके साथ हज़ारों लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। ये वही मैदान है, जहाँ महात्मा गाँधी ने ‘अंग्रेजों, भारत छोड़ो’ का ऐलान किया था। फरहान अख़्तर ने भी उपद्रवियों के साथ विरोध प्रदर्शन किया। गुजरात में उपद्रवियों का नेतृत्व कर रहे निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी को पुलिस ने हिरासत में लिया।

अहमदाबाद में भी प्रदर्शन हिंसक हो उठा और दंगाइयों ने पुलिस पर पत्थर बरसाए। दो पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। एक पुलिसकर्मी को आईसीयू में भर्ती कराया गया है। दिल्ली में विमान बोस और सूर्यकांत मिश्रा जैसे वामपंथी नेताओं ने रामलीला मैदान में विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया। बंगलुरु में कई सिटी बसों का रूट बदल दिया गया तो कई बसों ने अन्य दिनों के मुकाबले कम ही ट्रिप लगाई। कई जगह भारी ट्रैफिक जाम देखने को मिला।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आम सैनिकों जैसी ड्यूटी, सेम वर्दी, भारतीय सेना में शामिल हो चुके हैं 1 लाख अग्निवीर: आरक्षण और नौकरी भी

भारतीय सेना में शामिल अग्निवीरों की संख्या 1 लाख के पार हो गई है, 50 हजार अग्निवीरों की भर्ती की जा रही है।

भारत के ओलंपिक खिलाड़ियों को मिला BCCI का साथ, जय शाह ने किया ₹8.50 करोड़ मदद का ऐलान: पेरिस में पदकों का रिकॉर्ड तोड़ने...

बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि ओलंपिक अभियान के लिए इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) को बीसीसीआई 8.5 करोड़ रुपए दे रही है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -