आफताब और चाँद के बेटों ने मंदिर के पास की गोलीबारी, भजन करती महिलाओं में फैलाई दहशत

स्थानीय पार्षद ने कहा कि सम्प्रदाय विशेष के लोग यहाँ अक्सर छेड़छाड़, लूटपाट, मारपीट और स्टंटबाज़ी की घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं। पार्षद ने आगे कहा कि समुदाय विशेष के लड़के गलियों में गुटबंदी करते हैं और फिर सीटी बजाते हुए इधर-उधर मँडराते रहते हैं।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में दिनदहाड़े गोलियाँ चलाई गईं। यह घटना मेरठ के प्रह्लादनगर थाने के पास की ही है। स्कूटी सवार 2 युवाकों ने फायरिंग की और उसके बाद भाग निकले। दरअसल, पास में ही कुटी के नजदीक एक प्राचीन मंदिर है, जहाँ महिलाएँ भजन-कीर्तन कर रही थी। इन युवाकों का इरादा उन्हें डराने-धमकाने का था। दोनों ही युवकों ने उस मंदिर के पास आकर फायरिंग की, जिससे भजन कर रही महिलाएँ दहशत में आ गईं। आरोपित का स्कूटी नंबर सीसीटीवी फुटेज में दर्ज हो गया, जिस आधार पर पुलिस ने ईदगाह चौक स्थित आशिक अली होटल के मालिक चाँद के बेटे को हिरासत में ले लिया।

आरोपितों की उम्र 18 वर्ष से कम है। एक के पिता का नाम चाँद है तो दूसरे के पिता का नाम आफताब है। आरोपितों ने न सिर्फ़ फायरिंग की बल्कि गाली-गलौज भी की। वहाँ उपस्थित लोगों के साथ गली-गलौज करते हुए ये भाग निकले। इलाक़े में तनाव फैलने से बचाने के लिए स्थानीय व्यापारियों व भाजपा नेताओं ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई की। प्रह्लादनगर कॉलोनी के लोगों का कहना है कि क्षेत्र में छेड़छाड़ की घटनाएँ काफी बढ़ गई है। कॉलोनी में गेट लगाने की माँग के साथ लोगों ने थाना के बाहर प्रदर्शन भी किया।

आरोपितों ने पिस्टल लहराते हुए दो से तीन राउंड गोलीबारी की। दोपहर में हुई इस वारदात के बाद कुछ लोगों ने आरोपितों का पीछे भी किया लेकिन तब वे हाथ नहीं आए। इंस्पेक्टर नज़ीर अली ख़ान ने बताया कि आरोपितों द्वारा इस्तेमाल की गई बन्दूक नकली है और उसे मेले से ख़रीदा गया है। लेकिन, लोगों का कहना है कि उन पिस्टलों से असली बन्दूक की तरह धुआँ निकलता दिख रहा था। हिंदुस्तान में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस के दावों में झूठ ज्यादा दिखाई दे रहा है। पुलिस ने दोनों किशोरों के पिता को थाने बुलाया।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

प्रह्लादनगर में हाल ही में कुछ दिनों पहले समुदाय विशेष के लोगों द्वारा भाजपा नेता पर फायरिंग की गई थी, जिसके बाद इलाक़े के हिन्दू संगठनों ने कड़ा विरोध दर्ज कराया था। कॉलोनी में गेट लगाने की माँग की गई थी। स्थानीय अख़बारों के मुताबिक़, इलाक़े में हुई ताज़ा घटनाओं को देख कर लगता है कि यहाँ सांप्रदायिक तनाव कभी भी भड़क सकता है। भाजपा नेता पर गोलीबारी के बाद क्षेत्र में अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गया था। भाजपा नेता व स्थानीय पार्षद ने ताज़ा गोलीबारी की घटना को लेकर कड़ा विरोध दर्ज कराया है।

स्थानीय पार्षद ने कहा कि सम्प्रदाय विशेष के लोग यहाँ अक्सर छेड़छाड़, लूटपाट, मारपीट और स्टंटबाज़ी की घटनाओं को अंजाम देते रहते हैं। अगर कोई सज्जन विरोध करता है तो ये मारपीट पर उतारू हो जाते हैं। पार्षद ने आगे कहा कि समुदाय विशेष के लड़के गलियों में गुटबंदी करते हैं और फिर सीटी बजाते हुए इधर-उधर मँडराते रहते हैं। ये लोग शोरशराबा भी करते हैं। अधिकारियों पर बार-बार शिकायत किए जाने के बावजूद मामले का संज्ञान नहीं लेने का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने ताज़ा मामले में प्रयोग किए गए स्कूटर को भी ज़ब्त कर लिया है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी, राम मंदिर
हाल ही में ख़बर आई थी कि पाकिस्तान ने हिज़्बुल, लश्कर और जमात को अलग-अलग टास्क सौंपे हैं। एक टास्क कुछ ख़ास नेताओं को निशाना बनाना भी था? ऐसे में इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि कमलेश तिवारी के हत्यारे किसी आतंकी समूह से प्रेरित हों।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,990फैंसलाइक करें
18,955फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: