Saturday, October 16, 2021
Homeदेश-समाजराजस्थान के एक ही गोशाला में 94 गायों की मौत, कई की हालत गंभीर:...

राजस्थान के एक ही गोशाला में 94 गायों की मौत, कई की हालत गंभीर: चारे के नमूनों की हो रही जाँच

गोशाला की 100 से भी अधिक गायें बीमार थीं। एक साथ इतनी गायों की मौत का पता चलते ही गोशाला में काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक ने बताया कि...

राजस्थान में चूरू जिले के सरदारशहर में शनिवार (नवंबर 21, 2020) को एक गोशाला में 94 गायों की मौत हो गई। इसके साथ ही कई गायों की हालत गंभीर है, जिनका उपचार किया जा रहा है। गायों की मौत का कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। फिलहाल शुरुआती जाँच में विषाक्त भोजन मौत का कारण माना जा रहा है।

 

यह घटना सरदारशहर में बिल्युबास रामपुरा की श्रीराम गोशाला की बताई जा रही है। गोशाला में गायों की मौत से हड़कंप मच गया है। बताया जाता है कि गोशाला की 100 से भी अधिक गायें बीमार थीं। इधर, गायों की मौत का पता चलते ही गोशाला में काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए।

सूचना मिलने पर पशुपालन विभाग की टीम भी मौके पर पहुँच गई। प्रारंभिक जाँच में पता चला कि गायों को शुक्रवार शाम बाजरे का चारा खिलाया गया था। इसके बाद ही गायें बीमार पड़ीं और उनकी मौत हो गई है।

विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. जगदीश बरबड़ ने बताया कि कुछ और गायें भी बीमार हैं। हालाँकि उनमें से ज्यादातर की हालत ठीक है। उन्होंने बताया कि संभवत: कुछ विषाक्त चीज खाने के कारण ऐसा हुआ। चारे के नमूने लेकर उसे जाँच के लिए भेजा गया है।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह राजस्थान के पाली जिले के मारवाड़ जंक्शन उपखंड में किसी असामाजिक तत्व ने गाय को विस्फोटक पदार्थ खिला दिया था, जो कि उसके मुँह में ही फट गया। विस्फोटक पदार्थ के फटने से गाय गंभीर रूप घायल हो गई। विस्फोटक के फटने से गाय के मुँह से खून ही खून बह रहा था।

पिछले दिनों छत्तीसगढ़ के राजनांदगाँव जिले के बरबसपुर गाँव में काँजी हाउस में 10 गायें मृत अवस्था में पाई गई। इन गायों को कमरे के अंदर बंद कर दिया गया था। तब एक अधिकारी ने बताया था कि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि गायों की मौत दम घुटने की वजह से हुई।

इससे पहले छत्तीसगढ़ के ही बिलासपुर जिले के एक गाँव में 50 से अधिक गायों को पंचायत भवन में बंद कर रखा गया था। इनमें से 40 की दम घुटने के कारण मौत हो गई थी। बिलासपुर के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) डॉ. शरण मित्तर ने गाँव के सरपंच के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने की जानकारी दी थी।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

दलित युवक लखबीर सिंह की हत्या के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के बचाव में कूदा India Today, ‘सोर्स’ के नाम पर नया ‘भ्रमजाल’

SKM के नेता प्रदर्शन स्थल पर हुए दलित युवक की हत्या से खुद को अलग कर रहे हैं। इस बीच इंडिया टुडे ग्रुप अब उनके बचाव में सामने आया है। .

कुंडली बॉर्डर पर लखबीर की हत्या के मामले में निहंग सरबजीत को हरियाणा पुलिस ने किया गिरफ्तार, लगे ‘जो बोले सो निहाल’ के नारे

निहंग सिख सरबजीत की गिरफ्तारी की वीडियो सामने आई है। इसमें आसपास मौजूद लोग तेज तेज 'जो बोले सो निहाल' के नारे बुलंद कर रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
128,832FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe