Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजआफताब को कोई शिकन नहीं, जेल में भी ली चैन की नींद: जिस फ्लैट...

आफताब को कोई शिकन नहीं, जेल में भी ली चैन की नींद: जिस फ्लैट में हुए श्रद्धा के 35 टुकड़े, वहाँ के लोग बोले- लिव इन जिम्मेदार

पुलिस का कहना है कि श्रद्धा के शरीर के अंगों को काटने के लिए सिर्फ एक हथियार का इस्तेमाल किया गया था। आफताब ने शरीर के अंगों को काटने के लिए मिनी आरी का इस्तेमाल किया था।

दिल्ली के श्रद्धा हत्याकांड ने पूरे देश को हिला कर रख दिया है। श्रद्धा ने जिस आफ़ताब से प्यार किया, उस पर विश्वास किया और यहाँ तक कि जिसके लिए अपने रिश्तेदारों से भी नाता तोड़ लिया, उसी ने हत्या कर निर्ममता से उसके शव के 35 टुकड़े कर दिए। यह बात सोचकर ही सभी स्तब्ध हैं, ऐसे में उसके परिजनों की हालत का अंदाजा लगाना भी मुश्किल है।

पत्रकार सोनू कुमार ने आरोपित आफ़ताब का चौंकाने वाला वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह आराम से सोता नजर आ रहा है। ये वीडियो देख कर लोग कह रहे हैं कि आफताब को इस निर्मम कृत्य का जरा भी पछतावा नहीं है।

इस हत्याकांड के बाद रोज नए चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। आरोपित ने बड़े ही शातिर ढंग से हत्या कर बच निकालने की कोशिश की थी। इतना ही नहीं, फ्रिज में श्रद्धा के कटे अंग होने के बावजूद वह अपनी अन्य किसी महिला मित्र से उसी कमरे में मिलता था। बहरहाल, आरोपित जहाँ महरौली में रहता था, वहाँ आसपास के लोग भी घटना से आश्चर्यचकित हैं। उन्होंने घटना को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि सरकार ने लिव-इन रिलेशनशिप का जो नियम बनाया है, उसकी वजह से इस तरह की हत्याएँ हो रही हैं। लोगों को कहना है कि सरकार ने यह समझ के नियम बनाया था कि रेप और हत्या की घटनाएँ नहीं होंगी, लेकिन इसके बाद भी इस तरह की घटनाएँ बदस्तूर जारी है।

वहीं पुलिस का कहना है कि श्रद्धा के शरीर के अंगों को काटने के लिए सिर्फ एक हथियार का इस्तेमाल किया गया था। आफताब ने शरीर के अंगों को काटने के लिए मिनी आरी का इस्तेमाल किया था। मिनी आरी अभी तक बरामद नहीं हुई है। अब तक की जांच में पता चला है कि आरोपी आफ़ताब महरौली के मकान में पहले 15 मई को खुद शिफ्ट हुआ, फिर अगले दिन श्रद्धा को मकान पर लाया और 18 मई को उसकी हत्या कर दी।

उसने 18 मई को श्रद्धा के शव को बाथरूम में रख दिया। अगले दिन वह बाजार गया और बड़ा वाला फ्रिज, चापड़, पाउडर, फ्रेशनर और अन्य सामान लेकर आया। अगले दिन, यानी 19 मई को उसने श्रद्धा के शव के टुकड़े करने शुरू किए। पुलिस ने मामले में एक और खुलासा किया है। पुलिस का कहना है कि श्रद्धा की हत्या के बाद आफताब श्रद्धा के इंस्टाग्राम अकाउंट से उसके कुछ दोस्तों से बातचीत करता था। जून तक उसने श्रद्धा का इंस्टाग्राम यूज किया।

दरअसल वह यह दिखाना चाहता था कि श्रद्धा जिंदा है। फिलहाल पुलिस इस एंगल पर आफताब से और पूछताछ करेगी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -