Thursday, January 20, 2022
Homeदेश-समाज'योगी की छाती पर चढ़ कमलेश तिवारी को मारा, अब मोदी की छाती पर...

‘योगी की छाती पर चढ़ कमलेश तिवारी को मारा, अब मोदी की छाती पर चढ़ तुझे मारेंगे’

हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार को हत्या कर दी गई थी। संदिग्ध हत्यारों की पहचान अशफाक और मोईनुद्दीन के तौर पर की गई है। अब उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी को धमकी दी गई है।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी की दिनदहाड़े हत्या के बाद अब एक और हिंदूवादी नेता को जान से मारने की धमकी मिली है। जानकारी के मुताबिक नोएडा में हिंदूवादी नेता और उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी को धमकी दी गई है। बताया जा रहा है कि बुर्के में आई एक महिला ने अमित जानी के सेक्टर-15 स्थित कॉरपोरेट हाउस में गार्ड को धमकी भरा लिफाफा दिया था। अमित ने इसकी सूचना पुलिस को दी। इसके बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुँचकर जाँच शुरू कर दी है।

नोएडा सेक्टर-20 पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। यूपी पुलिस ने इस संबंध में बताया कि अमित जानी की तरफ से पुलिस को दी गई शिकायत में कहा गया है कि रविवार (अक्टूबर 20, 2019) शाम को वह सेक्टर-15 स्थित कॉरपोरेट हाउस में थे। तभी ऑटो से एक महिला आई, जो कि बुर्के में थी। उसने गेट पर आकर घंटी बजाई। गार्ड ने दरवाजा खोला तो महिला ने एक लिफाफा देते हुए कहा कि इसे अमित जानी को दे देना। गार्ड ने अमित जानी को लिफाफा दिया।

अमित का कहना है कि जब उन्होंने लिफाफा देखा तो उसमें उन्हें एक धमकी भरा पत्र मिला। उसमें लिखा था, “कमलेश तिवारी के बाद अब तुम्हारा नंबर है। योगी की छाती पर चढ़कर कमलेश को मारा था, अब मोदी की छाती पर चढ़कर तुझे मारेंगे।” इसकी जानकारी अमित जानी ने पुलिस को दी।

अमित जानी ने भी इस धमकी भरे पत्र की जानकारी देते हुए सुरक्षा की माँग की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, “कमलेश तिवारी के बाद तेरा नंबर है, पत्र लिखकर मुझे धमकाया गया है, मेरा निवेदन है कि मुझे मेरे खर्चे पर ही सही, लेकिन सुरक्षा उपलब्ध कराई जाए।”

उल्लेखनीय है कि हिन्दू समाज पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी की शुक्रवार (अक्टूबर 18, 2019) को हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के सिलसिले में सूरत के रहने वाले फैजान पठान, मौलाना मोहसिन शेख और राशिद अहमद पठान गिरफ्तार किए गए हैं। संदिग्ध हत्यारों की पहचान अशफाक और मोईनुद्दीन के तौर पर की गई है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र के नगर पंचायतों में BJP सबसे आगे, शिवसेना चौथे नंबर की पार्टी बनी: जानिए कैसा रहा OBC रिजर्वेशन रद्द होने का असर

नगर पंचायत की 1649 सीटों के लिए मंगलवार को मतदान हुआ था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यह चुनाव ओबीसी आरक्षण के बगैर हुआ था।

भगवान विष्णु की पौराणिक कहानी से प्रेरित है अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म, रिलीज को तैयार ‘Ala Vaikunthapurramuloo’

मेकर्स ने अल्लू अर्जुन की नई हिंदी डब फिल्म के टाइटल का मतलब बताया है, ताकि 'अला वैकुंठपुरमुलु' से अधिक से अधिक दर्शकों का जुड़ाव हो सके।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,298FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe