Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजराजसमंद में कॉन्स्टेबल संदीप के गर्दन पर धारदार हथियार से हमला, हालत गंभीर

राजसमंद में कॉन्स्टेबल संदीप के गर्दन पर धारदार हथियार से हमला, हालत गंभीर

कन्हैयालाल की हत्या के बाद राजसमंद में बुधवार को भीड़ ने धारदार हथियार से संदीप नाम के एक पुलिस कान्स्टेबल पर जानलेवा हमला कर दिया। इसमें उन्हें गंभीर चोटें आई हैं।

नूपुर शर्मा के कथित तौर पर समर्थन करने के आरोप में राजस्थान के उदयपुर में इस्लामिक कट्टरपंथियों द्वारा हिन्दू टेलर कन्हैया लाल की बेरहमी से हत्या से देश स्तब्ध है। कन्हैयालाल की हत्या के बाद राजसमंद में बुधवार (29 जून 2022) को भीड़ ने धारदार हथियार से संदीप नाम के एक पुलिस कान्स्टेबल पर जानलेवा हमला कर दिया। इसमें उन्हें गंभीर चोटें आई हैं।

गंभीर रूप से घायल अवस्था में इलाज के लिए पुलिसकर्मी को तुरंत अजमेर के एक अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

दरअसल, कन्हैया लाल की हत्या करके भाग रहे दो आरोपितों को मंगलवार को भीम पुलिस स्टेशन की पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था, जिसके बाद से ही उदयपुर की ही तरह राजसमंद में भी हालात तनावपूर्ण बने हुए थे। दोनों ही आरोपितों को गिरफ्तारी का एक वीडियो भी पुलिस ने जारी कर दिया था।

दोपहर करीब 2 बजे राजसमंद के भीम थाना क्षेत्र में भीड़ ने विरोध प्रदर्शन किया, जिसे पुलिस लगातार काबू में करने की कोशिश कर रही थी। इसी दौरान भीड़ में से एक ने सिपाही संदीप की गर्दन पर धारदार हथियार से वार कर दिया। कांस्टेबल को घायल हालत में तुरंत अजमेर रेफर कर दिया गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है।

उल्लेखनीय है कि उदयपुर में कन्हैया लाल की गला रेत कर हत्या करने के बाद हत्यारे मोहम्मद रियाज अख्तर और गोस मोहम्मद मंगलवार को ही राजसमंद भाग गए थे। घटना के तुरंत बाद एक्शन में आई पुलिस ने दोनों को राजसमंद से गिरफ्तार कर लिया। कन्हैया लाल की हत्या के बाद हत्यारों ने एक वीडियो बनाकर अपने इस कुकृत्य को सोशल मीडिया पर भी अपलोड किया था। इसमें तेज धार वाला चाकू लहराते हुए कट्टरपंथी यह ऐलान करते दिखे कि वो पीएम मोदी की भी हत्या कर देंगे।

बहरहाल, बुधवार 29 जून को कन्हैया लाल का अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान भारी संख्या में लोग मौजूद रहे। कन्हैया लाल उदयपुर में दर्जी का काम करते थे, जिन्होंने कथित तौर पर पैगंबर मुहम्मद वाले विवाद पर नूपुर शर्मा का समर्थन किया था। जबकि वह पोस्ट उनके 8 साल के मासूम बेटे द्वारा शेयर किया गया था। इसी को लेकर मंगलवार 28 जून को इस्लामिक कट्टरपंथियों ने सिर काट दिया गया था।

एनआईए ने संभाला जाँच का जिम्मा

इस बीच केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश के बाद एनआईए ने कन्हैया की हत्या के मामले की जाँच की कमान संभाल ली है।

एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, उदयपुर में जहाँ पर कन्हैया लाल की हत्या की गई थी, वहाँ पर पुलिस, एनआईए, एसआईटी, एफएसएल और एटीएस की टीमें पहुँच गई हैं। जाँच एजेंसियों ने मामले की छानबीन शुरू भी कर दी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -