Sunday, July 14, 2024
Homeदेश-समाजविवाहिता की ससुराल में अजलम नदाफ करता था फोन... मना करने पर भीड़ के...

विवाहिता की ससुराल में अजलम नदाफ करता था फोन… मना करने पर भीड़ के साथ घर पर किया हमला… मॉब लिंचिंग में धरम कुमार की मौत

विवाहिता के परिजन ने आगे कहा, "अजलम अपने साथ 15-20 लोगों की भीड़ को लेकर आया। घर में से खींच कर सबको मारने लगा। मेरे भाई ने उसको बचाने का प्रयास किया तो उसको पीछे से सिर पर बुरी तरह मारा गया। उसकी गर्दन को तोड़ दिया गया और सिर अंदर से कीमा बन गया।"

बिहार के दरभंगा में एक हिन्दू लड़की को बेवजह फोन और मैसेज करने से मना करने पर एक नाबालिग लड़के की हत्या कर दी गई है। घटना का मुख्य आरोपित अज़लम नदाफ है। हत्या पीट-पीट कर की गई है, जिसमें अज़लम के परिवार की महिलाएँ भी शामिल थीं। घटना के बाद आरोपित के घर में संदिग्ध हालातों में आग लग गई। पुलिस ने दर्जन भर लोगों को गिरफ्तार किया है। घटना बुधवार (15 जून 2022) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना घनश्यामपुर थानाक्षेत्र के गाँव घनश्यामपुर बदिया टोला की है। यहाँ पर अज़लम नदाफ एक विवाहिता के पति और सास ससुर को फोन करता था। इस दौरान वो उल्टी-सीधी बातें किया करता था। इस से परेशान हो कर विवाहिता के पति ने अपने ससुर को इसकी जानकारी दी। अजलम नदाफ विवाहिता के गाँव का ही रहने वाला है। विवाहिता के मायके वालों ने अज़लम से ऐसा न करने को कहा।

इस बात से नाराज होकर अजलम अपने परिवार वालों और अन्य लोगों की भीड़ लेकर आया। उसने अपने साथ आई भीड़ के साथ मिलकर खुद को मना करने वाले विवाहित के परिजनों पर हमला बोल दिया। हमलावरों में अजलम के साथ मुस्लिम नदाफ, नजीर, अली अकबर, मुन्नी खातून, छोटे, सोबारा, शकीला, असलम, जुलेखा और मोहम्मद रहमतुल्लाह आदि शामिल थे। इनके पास बाँस और लाठी-डंडे थे। इस अप्रत्याशित हमले में विवाहिता पक्ष के सूरज, धर्म कुमार और इंदल कुमार घायल हो गए।

बाद में सभी घायलों को अस्पताल ले जाया गया जहाँ धरम कुमार ने दम तोड़ दिया। मृतक विवाहिता का मामा था। वहीं, सूरज और इंदल का अभी इलाज चल रहा है। गुरुवार को मृतक धरम का शव पोस्टमार्टम के बाद गाँव आया। शव देखते ही ग्रामीण भड़क गए और उन्होंने थाने के आगे प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। ग्रामीण मृतक के परिजन को सरकारी नौकरी और मुआवजे की माँग कर रहे थे। इसी बीच मुख्य आरोपित के घर में आग लगने की सूचना आई। इस सूचना पर भारी पुलिस बल गाँव में पहुँचा। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और भीड़ को तितर-बितर किया।

किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए गाँव में पुलिस तैनात कर दी गई है। दरभंगा के एडिशनल SP अवकाश कुमार के मुताबिक, “इस मामले में कुल 25 नामजद और 25 अज्ञात आरोपितों पर केस FIR दर्ज हुई है। एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है और बाकी आरोपितों की तलाश में पुलिस टीमें भेजी गई हैं। आरोपित अजलम के घर में आग लगने के भी कारणों की जाँच करवाई जा रही है। हालात पूरी तरह से काबू में है।”

विवाहिता के मामा ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “मेरी भगिनी (भाँजी) के साथ अजलम की 2 महीने से बातचीत हो रही थी। 1 महीने पहले हमने अपनी भाँजी को समझाया तो वो मान गई थी। 9 जून को मेरी भाँजी की शादी थी। उसी शादी में अजलम ने मेरी भाँजी की फोटो खींच कर अपने मोबाईल में सेट कर लिया था। लड़की की गलती यही थी कि उसने अपनी ससुराल के फोन से उसको समझाया। इसी के चलते अजलम ने वो नंबर सेव कर लिया। लड़की को धमकी दी गई थी कि अगर वो बात नहीं करेगी तो उसको मार दिया जाएगा। हमने ऐसा करने से मना किया तो उसने कहा कि जो करना हो कर लेना। इस बात पर मैंने उसका फोन लेकर चेक किया तो उसके मोबाईल में मेरे घर के कई नंबर मिले। तब हमने उसकी माँ को बुलाने की बात कही।”

विवाहिता के परिजन ने आगे कहा, “इस आपाधापी में अजलम मेरे भांजे को 2 थप्पड़ मार कर भाग गया। बाद में वो अपने साथ 15-20 लोगों की भीड़ को लेकर आया। उसके साथ उसका पूरा परिवार था। आते ही मेरे भाँजे पर लाठी चलाया। घर में से खींच कर सबको मारा गया। फिर मेरे भाई ने उसको बचाने का प्रयास किया तो उसको पीछे से सिर पर बुरी तरह मारा गया। उसकी गर्दन को तोड़ दिया गया और सिर अंदर से कीमा बन गया।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बैकफुट पर आने की जरूरत नहीं, 2027 भी जीतेंगे’: लोकसभा चुनावों के बाद हुई पार्टी की पहली बैठक में CM योगी ने भरा जोश,...

लोकसभा चुनावों के बाद पहली बार भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की लखनऊ में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कार्यकर्ताओं में जोश भरा।

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -