Thursday, May 23, 2024
Homeदेश-समाज'चीन में बम से उड़ा दिए जाते हैं मदरसे, भारत में भी ऐसा ही...

‘चीन में बम से उड़ा दिए जाते हैं मदरसे, भारत में भी ऐसा ही हो’: यति नरसिंहानंद के खिलाफ FIR, कहा था – AMU इस्लाम का गढ़, यहीं पड़ी भारत विभाजन की नींव

इस कार्यक्रम के समापन के दौरान उन्होंने कहा है कि चीन की तरह सभी मदरसों को बारूद से उड़ा देना चाहिए और उसके छात्रों को डिटेंशन सेंटर भेजा जाना चाहिए।

अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा है कि मदरसों और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) को बम से उड़ा देना चाहिए। इस बयान के बाद उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यति नरसिंहानंद सरस्वती उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में आयोजित एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आए हुए थे। इस कार्यक्रम के समापन के दौरान उन्होंने कहा कि चीन की तरह सभी मदरसों को बारूद से उड़ा देना चाहिए और मदरसों के सभी छात्रों को डिटेंशन सेंटर में भेजना चाहिए, ताकि ‘कुरान नामक वायरस’ को उनके दिमाग से हटाया जा सके।

यति नरसिंहानंद सरस्वती ने कहा, “अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) इस्लाम का गढ़ है। यहाँ भारत के विभाजन की नींव रखी गई थी। मदरसों की तरह एएमयू को भी उड़ा देना चाहिए। इसके छात्रों को डिटेंशन सेंटर कर उनके दिमाग का इलाज किया जाना चाहिए।”

इसके अलावा यति नरसिंहानंद ने ज्ञानवापी ढाँचे पर भी अपनी राय रखी। उन्होंने कहा कि ज्ञानवापी मस्जिद नहीं, मंदिर है। यति नरसिंहानंद ने कहा कि हिन्दू समाज जाग्रत हो गया है और जल्द ही ज्ञानवापी हिन्दुओं के पास होगा। उन्होंने कहा कि हमें ‘मक्केश्वर महादेव’ पर मेहनत करनी चाहिए, ताकि वो हमारे पास आएँ। नरसिंहानंद ने पूछा कि केवल ज्ञानवापी के आने से क्या होगा? उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में जहाँ भी मंदिरों को तोड़कर मस्जिद बनाई गई है, वह सब स्थान वापस आने चाहिए।

लखीमपुर खीरी कांड को बताया इस्लामिक जिहाद

लखीमपुर खीरी में मुस्लिमों द्वारा दो किशोरियों के साथ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में उन्होंने कहा है कि लखीमपुर खीरी में जो हुआ वह अपराध नहीं है, वह इस्लाम का जिहाद है, वो जिहादियों ने किया है। उन्होंने कहा कि ये जिहादी पिछले 14 सौ सालों से हमारी बहन-बेटियों को अपना शिकार बना रहे हैं और ये एक दिन हर हिन्दू बेटी के साथ होगा।

इस कार्यक्रम में उन्होंने राहुल गाँधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ पर निशाना साधते हुए यात्रा को सीधे तौर पर ‘मजाक’ करार दिया। उन्होंने कहा, “राहुल गाँधी जिहादियों के साथ हैं। वह उत्तर प्रदेश में नहीं जीत सके और केरल गए और वायनाड से चुनाव लड़ा। अगर राहुल गाँधी भारत को एक करना चाहते हैं तो उन्हें पाकिस्तान और बांग्लादेश जाना चाहिए, जिसे महात्मा गाँधी ने बनवाया था। पहले पाकिस्तान, बांग्लादेश को भारत से जोड़ो। ऐसा करने से बाकी सभी लोग उनके साथ जुड़ेंगे।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

रोहिणी आचार्य के पहुँचने के बाद शुरू हुई हिंसा, पूर्व CM का बॉडीगार्ड लेकर घूम रही थीं: बिहार पुलिस ने दर्ज की 7 FIR,...

राबड़ी आवास पर उपस्थित बॉडीगार्ड और पुलिसकर्मियों से पूरे मामले में पूछताछ की इस दौरान विशेष अधिकारी मौजूद रहे।

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -