Tuesday, April 16, 2024
Homeदेश-समाजजहाँ मिला था मनसुख हिरेन का शव, वहीं से अब शेख सलीम अब्दुल की...

जहाँ मिला था मनसुख हिरेन का शव, वहीं से अब शेख सलीम अब्दुल की लाश मिली: जाँच में जुटी पुलिस

मनसुख हिरेन की मौत और उनके मुँह में मिलीं कई रूमालों का राज सुलझा भी नहीं था कि उसी क्षेत्र से एक और लाश मिलने से सनसनी पैदा हो गई है। लाश मुम्ब्रा रेती बंदर क्षेत्र से मिली। मुम्ब्रा पुलिस घटनास्थल पर जाकर जाँच कर रही है।

मुंबई स्थित मुम्ब्रा के उस इलाके में फिर से एक लाश मिली है, जहाँ से मनसुख हिरेन की लाश बरामद हुई थी। मनसुख हिरेन उस स्कॉर्पियो कार के मालिक थे, जिसे विस्फोटक सामग्री के साथ मुंबई स्थित मुकेश अंबानी के 27 मंजिला घर एंटीलिया के बाहर पाया गया था। इस पूरे मामले में सचिन वाजे नामक पुलिस अधिकारी की गिरफ़्तारी हुई है, जो शिवसेना का नेता भी रह चुके हैं। उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है।

अभी मनसुख हिरेन की मौत और उनके मुँह में मिलीं कई रूमालों का राज सुलझा भी नहीं था कि उसी क्षेत्र से एक और लाश मिलने से सनसनी पैदा हो गई है। ये लाश मुम्ब्रा रेती बंदर क्षेत्र से मिली। मुम्ब्रा पुलिस घटनास्थल पर जाकर जाँच कर रही है। ये वही जगह है, जहाँ मनसुख हिरेन की लाश मिली थी। मृतक की पहचान शेख सलीम अब्दुल के रूप में की गई है, जिसकी उम्र लगभग 48 वर्ष बताई गई है।

पुलिस जाँच कर रही है कि ये आत्महत्या है या फिर हत्या। उधर स्पेशल NIA कोर्ट ने सचिन वाजे की उस याचिका को खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने अपने वकील से मिलने देने का अनुरोध किया था।  NIA को शक है कि इस पूरे प्रकरण की साजिश पुलिस मुख्यालय और असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर (API) सचिन वाजे के ठाणे स्थित घर पर रची गई थी। मनसुख हिरेन पुलिस मुख्यालय में पहले भी जाते-आते रहे थे।

जाँच में खुलासा हुआ है कि वाजे ही स्कॉर्पियो चला कर ले गए और उसे पार्क करने के बाद निकल कर इनोवा में बैठ कर फरार हुए। NIA ने सचिन वाजे के सिर पर साफा बाँध कर और उन्हें कुर्ता पहना कर पूरे दृश्य को रिक्रिएट किया। मौके पर आम लोगों को रोक कर डमी स्कॉर्पियो लाया गया। CCTV कैमरों को धोखा देने के लिए सचिन वाजे ने PPE किट की तरह दिख रहा कुर्ता-पायजामा पहन रखा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्कूल में नमाज बैन के खिलाफ हाई कोर्ट ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की याचिका, स्कूल के नियम नहीं पसंद तो छोड़ दो जाना...

हाई कोर्ट ने छात्रा की अपील की खारिज कर दिया और साफ कहा कि अगर स्कूल में पढ़ना है तो स्कूल के नियमों के हिसाब से ही चलना होगा।

‘क्षत्रिय न दें BJP को वोट’ – जो घूम-घूम कर दिला रहा शपथ, उस पर दर्ज है हाजी अली के साथ मिल कर एक...

सतीश सिंह ने अपनी शिकायत में बताया था कि उन पर गोली चलाने वालों में पूरन सिंह का साथी और सहयोगी हाजी अफसर अली भी शामिल था। आज यही पूरन सिंह 'क्षत्रियों के BJP के खिलाफ होने' का बना रहा माहौल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe