Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजएंटीलिया केस: मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच का तीसरा अधिकारी गिरफ्तार, सचिन वाजे को मदद...

एंटीलिया केस: मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच का तीसरा अधिकारी गिरफ्तार, सचिन वाजे को मदद और कनेक्शन

NIA ने मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर सुनील माने को गिरफ्तार कर लिया। दो अन्य गिरफ्तार पुलिसवालों सचिन वाजे और रियाजुद्दीन काजी के साथ इंस्पेक्टर सुनील माने को...

उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के पास विस्फोटक से भरी कार खड़ी करने और बिजनेसमैन मनसुख हीरेन की हत्या के दोहरे मामले में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने शुक्रवार को मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच के इंस्पेक्टर सुनील माने को गिरफ्तार कर लिया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक इंस्पेक्टर सुनील माने से गुरुवार को कड़ी पूछताछ की गई थी। गिरफ्तार किए गए इंस्पेक्टर सुनील माने पर निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे की मदद करने का शक है, जो उनकी इस केस में संलिप्तता की ओर इशारा करता है।

माने को दो अन्य गिरफ्तार पुलिसवालों वाजे और रियाजुद्दीन काजी के साथ शुक्रवार को एनआई की विशेष कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा। वाजे और रियाजुद्दीन की रिमांड की अवधि शुक्रवार को ही समाप्त हो रही है।

एंटीलिया केस में क्राइम ब्रांच के तीसरे अधिकारी की गिरफ्तारी

सुनील माने, वाजे और रियाजुद्दीन के बाद पिछले दो महीने में इस मामले में गिरफ्तार होने वाले क्राइम ब्रांच के तीसरे अधिकारी हैं। एंटीलिया बम विस्फोट मामले की जाँच के सिलसिले में एनआईए द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने एपीआई रियाजुद्दीन काजी को निलंबित कर दिया। एनआईए के एक अधिकारी ने तब बताया भी था, “वह न केवल पूरी साजिश का हिस्सा था, बल्कि यह बताने के लिए गवाह है कि उसने वाजे के निर्देशों पर सबूत कैसे नष्ट किए।”

25 फरवरी को 20 जिलेटिन छड़ों से भरी एक स्कॉर्पियो एसयूवी और एक धमकी भरे खत को अंबानी के घर एंटीलिया के करीब बरामद किया गया था। 5 मार्च को मनसुख हीरेन की लाश थाने क्रीक से बरामद हुआ था। देश भर में सुर्खियाँ बटोरने वाले इस मामले में दो अन्य आरोपियों पूर्व पुलिसकर्मी विनायक शिंदे और क्रिकेट बुकी नरेश गोर को भी गिरफ्तार किया गया था।

इस मामले के उजागर होने के बाद महाराष्ट्र सरकार ने पुलिस बल में बड़ा बदलाव करते हुए उस समय के पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह का तबदला स्टेट होम गार्ड्स के कमांडेंट जनरल के रूप में कर दिया था, जबकि हेमंत नागराले को उनकी जगह नया पुलिस कमिश्नर बनाया गया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -