Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजहनुमान चालीसा का पाठ करके लौट रहे बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला: धारदार...

हनुमान चालीसा का पाठ करके लौट रहे बजरंग दल कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला: धारदार हथियार के साथ आई भीड़, नाबालिग की गर्दन बाल-बाल बची

उत्तराखंड के हल्दवानी में हनुमान चालीसा का पाठ करने वाले बजरंग दल कार्यकर्ताओं के ऊपर हमले के बाद पुलिस ने सीसीटीवी जाँच कर कुछ लोगों की गिरफ्तारी की है। बजरंग दल का आरोप है कि उनके गमछे को देखकर उन पर अटैक हुआ।

उत्तराखंड के हल्द्वानी में हनुमान चालीसा का पाठ कर के लौट रहे बजरंग दल के लोगों पर हमले की खबर है। हमलावरों की संख्या 50-60 बताई जा रही है। इस दौरान पथराव भी किए जाने की सूचना है। हमले में बजरंग दल के तीन कार्यकर्ताओं को चोट आना बताया जा रहा है। घटना शनिवार (30 अप्रैल 2022) की है। अब तक 11 आरोपितों को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी मिल रही है।

नैनीताल पुलिस के मुताबिक, “CCTV फुटेज के आधार पर हमलावरों की पहचान की जा रही है। सभी आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में धारा 147 ,149 153 A 323, 504 506, 296 IPC के तहत कार्रवाई की गई है। घटना में संलिप्त अधिकतर अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है।” पुलिस ने किसी भी प्रकार की भ्रामक सूचना फैलाने पर कार्रवाई की भी चेतावनी दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक घटना काठगोदाम थानाक्षेत्र के शीशमहल की है। यहाँ बजरंग दल कार्यकर्ता रक्षित, देव और मानस हनुमान चालीसा का पाठ थाने के पास स्थित हनुमान गढ़ी मंदिर में करने गए थे। लौटते हुए शाम लगभग 8 बजे तीनों रुक कर एक दुकान पर जूस पीने लगे। इस दौरान बाईक सवार लगभग 4-5 हमलावर आए। उन्होंने जूस पी रहे तीनों लोगों पर हमला कर दिया। आरोप है कि हमले से पहले गले में भगवा गमछा देख कर उनसे बजरंग दल का होने की जानकारी ली गई थी।

हमले के बाद स्थानीय लोगों ने सभी हमलावरों को पकड़ लिया। पकड़े गए हमलावरों में से 3 लोग वहाँ से भागने में सफल रहे। वो वहाँ पर अपने साथियों को बुला कर लाए। उनके बुलाने पर 50-60 लोगों की एक भीड़ ने धावा बोल दिया और पथराव कर के बाकी हमलावरों को भी छुड़ा ले गई। आरोप है कि हमलावर भीड़ के पास धारदार हथियार, तमंचे और लाठी – डंडे थे। इस घटना की शिकायत पीड़ितों ने थाने में दी। कुछ ही देर में खबर फ़ैल जाने के बड़ा लोग आक्रोशित हो गए।

नाराज लोगों की भीड़ थाने में जमा हो गई और पुलिस से कठोर कार्रवाई की माँग करने लगी। इसी दौरान आरोप है कि हमलावरों में शामिल एक व्यक्ति थाने में हालत का जायजा लेने आ गया। पीड़ितों ने उसे पहचान लिया और नाराज भीड़ ने आरोपित की थाने में ही पिटाई कर दी। इस दौरान शहर के मेयर डॉ.जोगेंद्र सिंह रौतेला भी थाने पहुँच गए। लगभग 3 घंटे अथक प्रयास के बाद पुलिस आक्रोशित लोगों को शाँत करवा पाई।

ऑपइंडिया ने हल्द्वानी बजरंग दल के जिला संयोजक जोगेंद्र राणा से घटना की जानकारी ली। जोगेंद्र ने बताया, “हमला भगवा गमछा देख कर किया गया। बजरंग दल वाला बोल कर धारदार हथियार से एक नाबालिग बच्चे को मारा गया। अगर वो पीछे न हटता तो शायद उसकी गर्दन कट जाती। गली नंबर 8 और 17 इन्हीं (विपक्षियों) का बहुल इलाका है। साथ ही जवाहर नगर भी। 1 आरोपित को हमने खुद पकड़ कर पुलिस को दिया। 10 और आरोपित पकड़ने की बात कही जा रही है। हमने पुलिस को 2 दिन की समय सीमा दी थी आरोपितों को पकड़ने के लिए। अगर इसमें देर लगी तो बजरंग दल मीटिंग के बाद अपना निर्णय लेगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ध्वस्त कर दिया जाएगा आश्रम, सुरक्षा दीजिए’: ममता बनर्जी के बयान के बाद महंत ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, TMC के खिलाफ सड़क पर...

आचार्य प्रणवानंद महाराज द्वारा सन् 1917 में स्थापित BSS पिछले 107 वर्षों से जनसेवा में संलग्न है। वो बाबा गंभीरनाथ के शिष्य थे, स्वतंत्रता के आंदोलन में भी सक्रिय रहे।

‘ये दुर्घटना नहीं हत्या है’: अनीस और अश्विनी का शव घर पहुँचते ही मची चीख-पुकार, कोर्ट ने पब संचालकों को पुलिस कस्टडी में भेजा

3 लोगों को 24 मई तक के लिए हिरासत में भेज दिया गया है। इनमें Cosie रेस्टॉरेंट के मालिक प्रह्लाद भुतडा, मैनेजर सचिन काटकर और होटल Blak के मैनेजर संदीप सांगले शामिल।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -