Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाज'फितना-फसादी होते हैं साधु, इन्हें जलाकर ख़त्म कर दो': मेवात में महंत रामदास पर...

‘फितना-फसादी होते हैं साधु, इन्हें जलाकर ख़त्म कर दो’: मेवात में महंत रामदास पर जानलेवा हमला

महंत रामदास महाराज पर हमला तब किया गया जब वे दवा लौटकर ले रहे थे। किसी तरह जान बचाकर वे पुलिस के पास पहुॅंचे लेकिन उसने कथित तौर FIR दर्ज करने से इनकार कर दिया। ऑपइंडिया को पुन्हाना थाना SHO ने बताया कि उन्हें इस प्रकार की किसी घटना की जानकारी नहीं है।

हरियाणा के मेवात जिला स्थित पुन्हाना में मुक्तिधाम आश्रम के प्रमुख महंत रामदास महाराज के साथ मुस्लिम बहुल इलाके में कुछ लोगों द्वारा कथित तौर पर बदसलूकी, मारपीट और जान से मारने की नीयत से हमला करने का मामला सामने आया है। महंत के समर्थन में आए हिंदूवादी संगठनों ने ऑपइंडिया से बातचीत में बताया कि बुधवार (अप्रैल 29, 2020) की सुबह महंत रामदास महाराज पर आरोपितों ने धार्मिक भावनाओं को निशाना बनाते हुए अभद्र धार्मिक टिप्पणियाँ की। साथ ही इलाके के सभी साधु-संतों को पुन्हाना से भगा देने की धमकी भी दी।

महंत रामदास महाराज जब इस हमले के बाद किसी तरह जान बचाकर पुलिस के पास पहुँचे तो उसने कथित तौर FIR दर्ज करने से इनकार कर दिया। ऑपइंडिया ने इस मामले में जब पुलिस का पक्ष जानने की कोशिश की तो पुन्हाना थाना SHO ने इस मामले में किसी भी जानकारी के लिए हेडक्वार्टर से बात करने कहा। उन्होंने कहा कि उन्हें इस प्रकार की किसी घटना की जानकारी नहीं है। वहीं हिंदूवादी संगठनों का आरोप है कि पुलिस FIR की बजाए हमलावरों से बातचीत कर मामले को सुलझाने की राय दे रही है।

हरियाणा के मेवात जिले स्थित पुन्हाना में आज सुबह हुई इस वारदात के बाद पुन्हाना के साथ साथ पिनगवां, नगीना, फिरोजपुर झिरका, नूंह, फरीदाबाद, पलवल, होडल  सहित अन्य शहरों के धार्मिक व सामाजिक संगठनों में गहरा रोष व्याप्त है।

इस घटना की शिकायत स्थानीय सिटी चौकी पुलिस को दे दी गई है। इस बाबत धार्मिक व सामाजिक संगठनों के प्रमुख लोगो ने बैठक कर घटना की कड़ी निंदा करते हुए पुलिस-प्रशासन से कार्रवाई की माँग की है। साथ ही कहा है कि यदि पुलिस-प्रशासन इस मामले में लापरवाही बरतता है तो वे प्रशासन के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।  

हमले के समय दुकान से लौट रहे थे महंत

पीड़ित पक्ष ने ऑपइंडिया से बातचीत करते हुए कहा कि पुलिस को दी शिकायत में मुक्तिधाम आश्रम के प्रमुख महन्त रामदास महाराज ने बताया कि बुधवार (अप्रैल 28, 2020) सुबह महंत नजदीकी मेडिकल स्टोर से दवाई लेने के लिए गए थे तो वहाँ एक दुकान पर बैठे कुछ लोगों ने उन्हें देखकर अभद्र धार्मिक फब्तियाँ कसनी शुरू कर दीं।

महंत ने अपने साथ हुई घटना की जानकारी देते हुए बताया कि वहाँ मौजूद लोगों ने कहा कि इन बाबा और साधु-संतों ने ही माहौल खराब कर रखा है, ऐसे बाबाओं को पुन्हाना से भगा दो। अगर ये यहाँ से नहीं भागते हैं तो इन्हें जलाकर जान से मार दो, ये लोग ‘फितना-फ़सादी’ होते हैं।

इन टिप्पणियों पर महंत रामदास के विरोध करने पर वहाँ मौजूद लोगो ने हाथों में लाठी-डंडे लेकर महंत का पीछा किया और उन्हें जान से मारने की धमकी देते हुए उन पर हमला करने की कोशिश की। महंत वहाँ से किसी तरह जान बचाकर भागने में सफल रहे।

महंत रामदास महाराज

हिंदूवादी संगठनों ने की गिरफ्तारी की माँग

शिकायत में महन्त रामदास महाराज ने उक्त आरोपियों की पहचान कर उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करने की माँग की है। महंत पर हमले की इस घटना की सूचना पाकर सैकड़ों की संख्या में शहर के सामाजिक व धार्मिक संगठनों से जुड़े लोग चौकी में एकत्रित हो गए। इस मौके पर डीएसपी अशोक कुमार, एसएचओ अजयवीर भड़ाना व चौकी प्रभारी जगदीश चंद ने मौजूद लोगों को कड़ी कानूनी कार्यवाही का भरोसा भी दिलाया। हालाँकि हिंदूवादी संगठनों ने यह भी कहा कि पुलिस कार्रवाई की जगह पर आरोपितों के साथ समझौता का मामले को रफा-दफा करने पर जोर दे रही है।

इसके बाद धार्मिक व सामाजिक संगठनों को एक बैठक कर मुक्तिधाम आश्रम में हुई। बैठक में साधु संतों ने एक स्वर में कहा कि किसी भी सूरत में इस तरह का अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

महंत पर हुए इस हमले की घटना से आक्रोशित लोगों ने कहा कि पुन्हाना की आज हुई यह घटना बहुत ही निंदनीय है और यह सिर्फ महन्त रामदास महाराज के साथ नहीं बल्कि पूरे हिन्दू समाज के ऊपर प्रहार है। संगठन से जुड़े लोगों ने पुलिस प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि इस मामले में पुलिस कड़ी कार्यवाही करें, यदि पुलिस लापरवाही बरतती है तो समाज पुलिस-प्रशासन के विरोध में प्रदर्शन करने को उतारू हो जाएगा।

इस बैठक में सामाजिक कार्यकर्ता धर्मवीर सैनी, पूर्व चेयरमैन कपूर चंद गोयल, बृज मोहन सैनी, वाइस चेयरमैन बलराज सिंगला, राजकुमार नैवनिया, रत्न लाल मेम्बर, बिजेंद्र साहू, रिंकू कुमार प्रधान, लालाराम भारद्वाज, दीपक राजस्थानी पार्षद, भाजपा मंडलाध्यक्ष खिलौनी राम पण्डित, अशोक गोयल प्रधान, भोलाराम दिवाकर, महेश चंद गोयल सहित काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

शाम 8.30 तक भी पुलिस की ओर से नहीं की गई कोई पहल

ऑपइंडिया से बात करते हुए स्थानीय हिंदूवादी संगठनों ने बताया कि दिन में पुलिस के आश्वासन के बाद शाम 8.30 बजे तक भी पुलिस ने इस मामले में कोई गिरफ्तारी तो दूर, किसी प्रकार की कोई कार्रवाई की पहल भी नहीं की है। इस से आक्रोशित लोगों ने कहा है कि यदि पुलिस कल सुबह 9 बजे तक भी कोई कार्रवाई नहीं करती है तो वो लोग थाने के सामने ही विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

हिन्दुओं पर हमले की सप्ताह भर में तीसरी घटना

ऑपइंडिया से बात करते हुए स्थानीय जनता ने बताया कि वो जहाँ रहते हैं वह मुस्लिम बहुल इलाका है और इस सप्ताह में हिन्दुओं पर हुए हमले की यह तीसरी घटना है। पुलिस भी इस बारे में कोई कार्रवाई करने से कतराती रही है। कुछ दिन पहले ही एक हिन्दू के घर पर सोशल मीडिया पर किए गए किसी पोस्ट को लेकर हुई बहस के बाद 200-300 लोगों की भीड़ उसके घर पर एकत्रित हो गई और उनके परिवार के लोगों के साथ बदसलूकी की।

घटना से सम्बंधित बयान एवं मौजूद लोगों के हस्ताक्षर

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,325FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe