Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजअटारी बॉर्डर से मुलेठी में छिपाकर हीरोइन की तस्करी मामले में 2 और गिरफ्तार,...

अटारी बॉर्डर से मुलेठी में छिपाकर हीरोइन की तस्करी मामले में 2 और गिरफ्तार, एनआईए ने जाँच के बाद पंजाब और दिल्ली से दो को पकड़ा, 700 करोड़ की ड्रग्स हुई थी बरामद

एनआईए ने इस मामले में जिन दो लोगों को पकड़ा है, उनकी पहचान फिरोजपुर (पंजाब) के दीपक खुराना उर्फ दीपू और अवतार सिंह उर्फ सनी के रूप में हुई है। इस मामले में अब तक कुल पाँच आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने गुरुवार (22 मार्च 2024) को अटारी ड्रग जब्ती मामले में बड़ी कार्रवाई की है। इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें कुल 102 किलोग्राम से अधिक हेरोइन की बरामदगी और जब्ती शामिल थी। ये हेरोइन अप्रैल 2022 में लिकोरिस जड़ों (मुलेठी) की एक खेप में छिपाकर देश में तस्करी कर लाई गई थी, लेकिन सीमा पर इसे पकड़ लिया गया था।

अब तक कुल पाँच आरोपित गिरफ्तार

एनआईए ने इस मामले में जिन दो लोगों को पकड़ा है, उनकी पहचान फिरोजपुर (पंजाब) के दीपक खुराना उर्फ दीपू और अवतार सिंह उर्फ सनी के रूप में हुई है। इस मामले में अब तक कुल पाँच आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जाँच से पता चला है कि दीपक खुराना न केवल एक ड्रग डीलर और ड्रग क्वालिटी टेस्टर था, बल्कि ‘ड्रग्स की आय’ का हैंडलर भी था। वहीं अवतार ड्रग्स की बिक्री, कैश मैनेजमेंट, बैंकिंग और हवाला के जरिए ड्रग्स से पैसे बनाता था।

दीपक और अवतार इस केस के मुख्य आरोपित रजी हैदर जैदी और शाहिद अहमद उर्फ काजी अब्दुल वदूद के पुराने साथी हैं। एनआईए ने बताया है कि दीपक और अवतार भारत में ड्रग्स की बिक्री और उसके पैसों को इंटरनेशनल ड्रग कार्टेल तक पहुँचाने के बड़े खिलाड़ी हैं।

इस मामले में नशीली दवाओं की जब्ती दो किस्तों में 24 और 26 अप्रैल 2022 को भारतीय सीमा शुल्क विभाग द्वारा की गई थी, जब नशीले पदार्थ आईसीपी अटारी, अमृतसर के माध्यम से अफगानिस्तान से देश में पहुँचे थे। नशीले पदार्थों की कुल कीमत लगभग 700 करोड़ रुपये थी।

एनआईए की जांच के अनुसार, यह खेप अफगानिस्तान के मजार-ए-शरीफ के निवासी फरार आरोपी नजीर अहमद कानी द्वारा भारत में भेजी गई थी, जिसे दुबई स्थित फरार आरोपी शाहिद अहमद उर्फ काजी अब्दुल वदूद के निर्देश पर पहुँचाया जाना था। इसे रज़ी हैदर ज़ैदी देश के अन्य हिस्सों में पहुँचाता।

इस मामले में एनआईए16 दिसंबर 2022 को शाहिद अहमद और नजीर अहमद कानी के साथ-साथ दो अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। वहीं, रजी हैदर जैदी और विपिन मित्तल पहले गिरफ्तार हुए थे, जबकि अमृतपाल सिंह को 15 दिसंबर 2023 को देश से भागने की कोशिश के दौरान गिरफ्तार किया गया था। उसके पास से 1.34 करोड़ रुपए बरामद हुए थे, जो ड्रग्स से कमाए गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NEET-UG विवाद: क्या है NTA, क्यों किया गया इसका गठन, किस तरह से कराता है परीक्षाओं का आयोजन… जानिए सब कुछ

सरकार ने परीक्षाओं के पारदर्शी, सुचारू और निष्पक्ष संचालन को सुनिश्चित करने के लिए विशेषज्ञों की एक उच्च स्तरीय समिति की घोषणा की है

हिंदुओं का गला रेता, महिलाओं को नंगा कर रेप: जो ‘मालाबर स्टेट’ माँग रहे मुस्लिम संगठन वहीं हुआ मोपला नरसंहार, हमें ‘किसान विद्रोह’ पढ़ाकर...

जैसे मोपला में हिंदुओं के नरसंहार पर गाँधी चुप थे, वैसे ही आज 'मालाबार स्टेट' पर कॉन्ग्रेसी और वामपंथी खामोश हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -