Sunday, June 26, 2022
Homeदेश-समाजबहराइच: घर में सुअर घुसने पर नसीरुद्दीन ने दोस्तों के साथ मिल दलित परिवार...

बहराइच: घर में सुअर घुसने पर नसीरुद्दीन ने दोस्तों के साथ मिल दलित परिवार को पीटा, 6 गिरफ्तार

नसीरुद्दीन अपने समुदाय के कुछ लोगों के साथ आया और दलित परिवार पर हमला बोल दिया। वो लोग काफी देर तक बुधई के घर पर उपद्रव करते रहे। बचाव करने आए लोगों को मारा पीटा। किशोरियों के साथ छेड़छाड़ की।

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले के मोतीपुर थाना क्षेत्र के एक घर में सुअर घुसने को लेकर बढ़े विवाद में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक दलित के घर में घुसकर उपद्रव किया, जिससे गाँव में दोनों समुदायों के लोग आमने सामने आ गए। पुलिस ने बताया कि मामले में एक पक्ष के आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर छः आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के मुताबिक जोगनिया गाँव निवासी दलित बुधई ने अपने घर में सुअर पाल रखा है। रविवार (जुलाई 19, 2020) को उसका सुअर पड़ोस के नसीरुद्दीन के घर में चला गया था। जिसे नसीरुद्दीन ने पकड़ लिया और उसे वापस करने से मना कर दिया। इस बात को लेकर बुधई और नसीरुद्दीन के बीच कहासुनी हो गई।

थाना प्रभारी जयनारायण शुक्ला ने सोमवार (जुलाई 20, 2020) को पीटीआई से बातचीत में बताया कि नसीरुद्दीन ने कुछ समय तक बहस करने के बाद जानवर को छोड़ दिया। इसके बाद बुधई वापस अपने घर आ गया। दोनों पक्षों के बीच मामला शांत हो गया था।

मगर कुछ ही देर बाद नसीरुद्दीन अपने समुदाय के कुछ लोगों के साथ आया और दलित परिवार पर हमला बोल दिया। वो लोग काफी देर तक बुधई के घर पर उपद्रव करते रहे। बचाव करने आए लोगों को मारा पीटा। बीच-बचाव करने आई किशोरियों के साथ छेड़छाड़ की। बुधई का आरोप है कि उपद्रवियों ने उसके घर में घुसकर महिलाओं से छेड़छाड़ की साथ ही जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए घर में मौजूद महिलाओं, बच्चों व अन्य लोगों के साथ मारपीट की।

बुधई की शिकायत पर, पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एसएचओ जयनारायण शुक्ला ने बताया कि पीड़ित की तहरीर पर आठ लोगों के खिलाफ घर में घुसकर बलवा, मारपीट, छेड़छाड़, धमकी, दलित उत्पीड़न, पॉक्सो अधिनियम में केस दर्ज किया गया है। उनमें से छह को गिरफ्तार कर लिया गया और दो अन्य की तलाश जारी है। शुक्ला ने कहा कि इलाके में स्थिति नियंत्रण में है। दलित समुदाय के लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुलिस की एक टीम तैनात की गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गुवाहाटी से आएँगी 40 लाशें, पोस्टमॉर्टम के लिए भेजेंगे’: संजय राउत ने कामाख्या मंदिर और छठ पूजा को भी नहीं छोड़ा, कहा – मोदी-शाह...

संजय राउत ने कहा "हम शिवसेना हैं, हमारा डर ऐसा है कि हमें देख कर मोदी-शाह भी रास्ता बदल लेते हैं।" कामाख्या मंदिर और छठ पर्व का भी अपमान।

‘हाऊ कैन यू रोक’ : आजमगढ़ में निरहुआ से चुनाव हार कर अखिलेश यादव के भाई भूल गए अंग्रेजी, Video देख नहीं रुकेगी हँसी

आजमगढ़ उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के कैंडिडेट और अखिलेश यादव के भाई धर्मेंद्र यादव ने पुलिस अधिकारियों से की तू-तू, मैं-मैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
199,523FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe