Wednesday, September 28, 2022
Homeदेश-समाजजन्माष्टमी की झाँकी पर पथराव, फरसा व अन्य हथियारों का इस्तेमाल भी: UP के...

जन्माष्टमी की झाँकी पर पथराव, फरसा व अन्य हथियारों का इस्तेमाल भी: UP के बरेली में तनाव, देखें Video

दूसरे समुदाय के लोगों ने जन्माष्टमी की झाँकी में शामिल लोगों पर पथराव कर दिया। झाँकी में शामिल लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। फरसा समेत अन्य हथियारों का इस्तेमाल भी...

बरेली (उत्तर प्रदेश) में बहेड़ी के गाँव मकरी नवादा में जन्माष्टमी के अवसर पर झाँकी निकालने को लेकर दो सम्प्रदायों के बीच झड़प हो गई। जन्माष्टमी की झाँकी के दौरान समुदाय विशेष के लोगों ने झाँकी निकालने वालों पर पथराव कर बवाल को जन्म दिया।

दो संप्रदायों के बीच हुए इस तनाव में फरसा समेत अन्य हथियारों का इस्तेमाल भी किया गया। इस दौरान हवा में बंदूकें भी लहराई गईं। इस तनाव में क़रीब 10 लोगों के घायल होने की ख़बर है। घटना की जानकारी मिलते ही तहसील के चार थानों की पुलिस घटना-स्थल पर पहुँच गई।

भारी तनाव के चलते की गई पीएसी की तैनाती (तस्वीर सौजन्य: देनिक जागरण)

मौक़े पर पहुँची पुलिस ने उपद्रवियों को धमका कर उन्हें अपने-अपने घर जाने को कहा, जब जाकर हालात पर क़ाबू पाया जा सका। सभी घायलों को एम्बूलेंस से अस्पताल भेजा गया। फ़िलहाल, एसपी ग्रामीण, सीओ और एसडीएम ने भी गाँव में डेरा डाल दिया है। साथ ही क्षेत्र में भारी तनाव को देखते हुआ पीएसी की तैनाती भी कर दी गई है।

दरअसल, थाना देवरनिया क्षेत्र का गाँव मकरी नवादा में दूसरे सम्प्रदाय के लोगों की आबादी अधिक है। शुक्रवार (23 अगस्त) को लोग कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार मना रहे थे। परंपरा स्वरूप दोपहर के समय कृष्ण की झाँकी (शोभायात्रा) निकाले जाने की तैयारी थी, लेकिन जुमे की नमाज़ के चलते झाँकी का समय दोपहर 3 बजे रखा गया। ख़बर के अनुसार, दोपहर 3 बजे जैसे ही शोभायात्रा में शामिल ट्रैक्टर ट्रॉली अपने अंतिम पड़ाव के तहत गाँव के होली चौराहै पर पहुँची, तो समुदाय विशेष ने उस शोभायात्रा को वहीं रोक दिया, और उन्हें वापस जाने को कहा।

इस बात पर दोनों पक्षों में कहासुनी शुरू हो गई। बात इतनी बढ़ गई कि दूसरे समुदाय के लोगों ने शोभायात्रा में शामिल लोगों पर पथराव कर दिया। शोभायात्रा में शामिल लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे।

भगदड़ भरे माहौल में दोनों समुदायों के बीच पथराव हुआ (तस्वीर सौजन्य: हिंदुस्तान)

पुलिस अधीक्षक (देहात) संसार सिंह ने घटना-स्थल का मुआयना किया। वहाँ मौजूद लोगों से पूछताछ की। दो समुदायों के बीच इस विवाद को देखते हुए गाँव को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इस मामले पर एसपी (देहात) ने बताया कि जल्द ही दोषियों की पहचान कर उनके ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाएगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘UPA के समय ही IB ने किया था आगाह, फिर भी PFI को बढ़ने दिया गया’: पूर्व मेजर जनरल का बड़ा खुलासा, कहा –...

PFI पर बैन का स्वागत करते हुए मेजर जनरल SP सिन्हा (रिटायर्ड) ने ऑपइंडिया को बताया कि ये संगठन भारतीय सेना के समांतर अपनी फ़ौज खड़ी कर रहा था।

‘सारे मुस्लिम युवकों को जेल में डाल दिया जाएगा, UAPA है काला कानून’: PFI बैन पर भड़के ओवैसी, लालू यादव और कॉन्ग्रेस MP

असदुद्दीन ओवैसी के लिए UAPA 'काला कानून' है। लालू यादव ने RSS को 'PFI सभी बदतर' कह दिया। कॉन्ग्रेसी कोडिकुन्नील सुरेश ने RSS को बैन करने की माँग की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
224,793FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe