Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजबेगूसराय: महादलित परिवार की महिलाओं के साथ Gang Rape का प्रयास, लड्डू मियाँ गिरफ़्तार

बेगूसराय: महादलित परिवार की महिलाओं के साथ Gang Rape का प्रयास, लड्डू मियाँ गिरफ़्तार

"यहाँ काफ़ी कम हिन्दू हैं, इसलिए तुम लोग कुछ भी नहीं कर पाओगे। बजरंग दल भी तुम्हें नहीं बचा पाएगा।" - आरोपित लड्डू मियाँ की धमकी

बिहार के बेगूसराय से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसके राष्ट्रीय मीडिया में न आने के कारण वहाँ रह रहे एक हिन्दू परिवार को लगातार अत्याचार का सामना करना पड़ रहा है। ‘स्वराज्य’ में प्रकाशित एक ख़बर के अनुसार, पीड़ित परिवार ने पुलिस को दी गई शिकायत में कहा है कि 10 जून की रात अचानक से उसके घर में भीड़ घुस आई और घर की दो औरतों के साथ दुर्व्यवहार किया गया। आरोपितों ने पिस्तौल के दम पर बलात्कार करने की भी कोशिश की। यह घटना रिफाइनरी थाना क्षेत्र के नूरपुर की है। पीड़ित महादलित परिवार को न्याय दिलाने की माँग के साथ भाजपा व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन भी किया।

‘स्वराज्य’ से बात करते हुए पीड़ित महादलित परिवार ने बताया कि इन घटनाओं के पीछे कुछ स्थानीय मुस्लिम हैं, जो उन्हें उनका घर बेचने को विवश कर रहे हैं। आरोपित धमकी देते हुए कहते हैं कि यहाँ काफ़ी कम हिन्दू हैं और इसीलिए वो लोग कुछ भी नहीं कर सकते। इसके अलावा आरोपित यह भी कहते हैं- “बजरंग दल भी तुम्हें नहीं बचा पाएगा।” महादलित परिवार ने अपनी शिकायत में कहा है कि रात के 1 बजे अचानक से कुछ लोग घर में घुस आए, जिनमें से एक व्यक्ति ने कपड़े नहीं पहन रखे थे। नंगे व्यक्ति ने घर की एक महिला के साथ बलात्कार करने की कोशिश की, वहीं दूसरे मास्क पहने हुए व्यक्ति ने महिला के वस्त्र फाड़ डाले।

जब घर में मौजूद एकलौते पुरुष सदस्य ने इसका विरोध किया, तो उसकी जम कर पिटाई कर दी गई। घर में घुस आए आरोपितों में से एक की पहचान पीड़ितों ने लड्डू आलम (लड्डू मियाँ) के रूप में की है। पुलिस ने लड्डू मियाँ को गिरफ़्तार कर लिया है। उसके पिता का नाम फ़िरोज़ आलम है। लड्डू मियाँ अक्सर पीड़ित परिवार को ज़मीन बेचने की धमकी देता था क्योंकि बगल में उसकी ही ज़मीन है। वह बार-बार धमकी देते हुए 16 लाख रुपयों में ज़मीन बेचने की धमकी दिया करता था। लड्डू मियाँ ने कई बार पीड़ित परिवार को जान से भी मारने की धमकी दी थी।

बजरंग दल के स्थानीय संगठन ने बताया कि एक माह पूर्व भी उक्त महादलित महिला की पिटाई की गई थी लेकिन पुलिस इस मामले में सुस्ती बरतती रही। जब पीड़िता इस बात की सूचना देने थाना पहुँची तो उसे गाली देकर भगा दिया गया था। पीड़िता लगातार कई दिनों से सुरक्षा की माँग कर रही है। बजरंग दल ने कहा कि नूरपुर को कश्मीर एवं कैराना बनाने की कोशिश हो रही है, जिससे हिन्दू यहाँ से पलायन कर जाएँ। संगठन का आरोप है कि अगर एक महीने पहले पुलिस ने सख्ती की होती तो बलात्कार का प्रयास वाली घटना नहीं होती। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने प्रशासन पर हिन्दुओं एवं दूसरे समुदाय को अलग-अलग चश्मे से देखने का आरोप लगाया।

क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। पीड़ित महादलित परिवार के मुन्ना ने दावा किया कि जब उसके साथ पिटाई की गई थी, तब पुलिस ने मामले में समझौता करने की सलाह दी थी। इस घटना को लेकर स्थानीय ग्रामीणों में भी भारी आक्रोश है और उन्होंने विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

शिवाजी से सीखा, 60 साल तक मुगलों को हराते रहे: यमुना से नर्मदा, चंबल से टोंस तक औरंगज़ेब से आज़ादी दिलाने वाले बुंदेले की...

उनके बारे में कहते हैं, "यमुना से नर्मदा तक और चम्बल नदी से टोंस तक महाराजा छत्रसाल का राज्य है। उनसे लड़ने का हौसला अब किसी में नहीं बचा।"

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,242FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe