Sunday, May 19, 2024
Homeदेश-समाजबच्ची की आँख निकाली, उसके खून से ताबीज बना कर गर्भवती को पहनाया: आलिम...

बच्ची की आँख निकाली, उसके खून से ताबीज बना कर गर्भवती को पहनाया: आलिम परवेज गिरफ्तार

गर्भ की सलामती के लिए ब्लैक मैजिक, टोना-टोटका का दावा करने वाले परवेज आलम ने युवक को 10 साल से कम के किसी लड़के या लड़की की कुर्बानी देने की सलाह दी। परवेज ने बताया कि इंसान के आँख के खून से बनी ताबीज अगर उसकी पत्नी अपने गले में पहनती है तो उसकी पत्नी का गर्भ सुरक्षित रहेगा।

बिहार के मुंगेर में बीते गुरुवार (5 अगस्त 2021) को 8 वर्षीय बच्ची की निर्मम हत्या के मामले की गुत्थी को सुलझा लिया गया है। मुंगेर पुलिस ने खुलासा किया है कि युवक ने पत्नी के गर्भस्थ शिशु को बचाने के लिए काला जादू करने वाले आलिम परवेज के कहने पर बच्ची की आँख के खून से ताबीज बनाने के लिए इस वारदात को अंजाम दिया था।

मामला साफियाबाद ओपी क्षेत्र के परहम का है। यहीं के रहने वाले दिलीप चौधरी की पत्नी का पहले गर्भपात हो गया था। इसी कारण वो पत्नी के साथ खगड़िया जिले के टोना-टोटका करने वाले आलिम परवेज आलम के पास गया। वहाँ उसने उससे अपनी समस्या बताई, जिसके बाद परवेज ने उसे पहले रोहू मछली की कुर्बानी देने को सलाह दी। इसके बाद उसने एक मुर्गे की कुर्बानी दिलवाई।

इस दौरान दिलीप की पत्नी को गर्भ ठहर गया तो उसने ये बात परवेज आलम को बताई। गर्भ की सलामती के लिए ब्लैक मैजिक, टोना-टोटका का दावा करने वाले परवेज आलम ने दिलीप को 10 साल से कम के किसी लड़के या लड़की की कुर्बानी देने की सलाह दी। परवेज ने दिलीप को बताया कि इंसान के आँख के खून से बनी ताबीज अगर उसकी पत्नी अपने गले में पहनती है तो उसकी पत्नी का गर्भ सुरक्षित रहेगा।

रिपोर्ट के मुताबिक मुंगेर के एसपी जगन्नाथ रेड्डी ने जानकारी दी है कि दिलीप अपनी पत्नी के साथ बीते 10 साल से परवेज आलम के पास जाता रहा है और पहले से ही उसकी चार संताने हैं। इनमें से दो बेटियाँ औऱ 2 बेटे हैं। ऐसे में आलिम की सलाह पर दिलीप बच्चे की तलाश में जुट गया। 4 अगस्त 2021 को वह ईट-भट्ठे के पास अपने दोस्त तनवीर के मुर्गी फॉर्म पर गया था, जहाँ तनवीर के साथ दशरथ नाम का युवक पहले से मौजूद था। दिलीप ने अपने दोस्तों को अपनी परेशानी बताई। इसी दौरान उसे खेत से घर जा रही बच्ची दिख गई। आरोपितों ने उसे चाकलेट देने के बहाने बुलाया और पीट-पीट कर अधमरा कर दिया। रात 12 बजे बच्ची की गला रेतकर हत्या कर दी। उन्होंने उसकी दाँयीं आँख निकाल ली और बायीं आँख को भी फोड़ दिया। उसके नाक, होंठ, चेहरे व कूल्हे पर जख्म के निशान थे।

इसके बाद आरोपित दिलीप बच्ची के खून से सने कपड़े में लपेटकर आँख लेकर आलिम के पास गया, जिससे उसने ताबीज बनाकर उसे पत्नी के गले में पहनाने को दिया। बहरहाल, पुलिस ने चारों आरोपितों आलिम परवेज, दिलीप, दशरथ और तनवीर को गिरफ्तार कर लिया है।

मृतक बच्ची के माता-पिता ने दावा किया है कि उनकी बच्ची के साथ रेप के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। हालाँकि, पोस्टमार्टम में रेप की बात से इनकार किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पानी की टंकी में हथियार, जवानों के खाने-पीने की चीजों में ज़हर… जानें क्या था ‘लाल आतंकियों’ का ‘पेरमिली दलम’ जिसे नेस्तनाबूत करने में...

पेरमिली दलम ने गढ़चिरौली के जंगलों में ट्रेनिंग कैम्प खोल रखे थे। जनजातीय युवकों को सरकार के खिलाफ भड़का कर हथियार चलाने की ट्रेनिंग देते थे।

120 लोगों की हुई घर-वापसी, छत्तीसगढ़ में ‘श्री वनवासी राम कथा’ में जुटी श्रद्धालुओं की भारी भीड़: जशपुर राजघराने के लाल ने पाँव पखार...

प्रबल प्रताप सिंह जूदेव द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में 50 परिवारों की घर-वापसी का कार्यक्रम कराया गया। उन्होंने इन लोगों के पाँव भी पखारे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -