Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजइरफान ने ब्लेड खरीदी और अपना प्राइवेट पार्ट काट डाला, परिजनों ने बताया- बहनों...

इरफान ने ब्लेड खरीदी और अपना प्राइवेट पार्ट काट डाला, परिजनों ने बताया- बहनों के कारण निकाह में हो रही थी देरी

इरफ़ान की माँ ने निकाह में देरी की वजह अपनी गरीबी और 5 बड़ी बेटियों को बताया है। उन्होंने कहा कि उनका मकान अभी पक्का नहीं बना है। इसी के साथ वो पहले अपनी 5 बड़ी बेटियों का निकाह करना चाहती थीं।

बिहार के एक युवक ने नेपाल में अपना प्राइवेट पार्ट काट डाला। बताया जाता है कि निकाह में देरी की वजह से उसने ऐसा किया है। उसकी पहचान इरफान शेख के तौर पर हुई है। वह बेतिया के साठी थानाक्षेत्र के गाँव काला बरवा का रहने वाला है। नेपाल में वह मजदूरी करता था। नेपाल की पुलिस से इस घटना के संबंध में जानकारी मिलने के बाद परिजन उसे घर लेकर आए। फिलहाल वह बेतिया के अस्पताल में भर्ती है। उसकी हालत में सुधार हो रहा है। घटना 4 दिन पुरानी बताई जाती है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इरफ़ान की माँ ने निकाह में देरी की वजह अपनी गरीबी और 5 बड़ी बेटियों को बताया है। उन्होंने कहा कि उनका मकान अभी पक्का नहीं बना है। इसी के साथ वो पहले अपनी 5 बड़ी बेटियों का निकाह करना चाहती थीं। इसके कारण इरफ़ान के निकाह में देरी लग रही थी। अगर उन्हें पता होता कि वो ऐसा कदम उठा लेगा तो वो पहले उसी का निकाह करवा देतीं।

इरफ़ान के परिवार वालों को उसके घायल होने की सूचना नेपाल पुलिस ने दी। वह नेपाल के पोखरा इलाके में काम करता था। उसके अब्बा इंतज़ार शेख के मुताबिक उसने फोन कर घर आने की जानकारी दी थी। लेकिन उसके अगले ही दिन उसके द्वारा अपना प्राइवेट पार्ट काट लेने की खबर आई। उसको नेपाल के बीरगंज स्थित नारायणी अस्पताल से बिहार बेतिया के गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है।

बताया जा रहा है कि जब उसके परिजन उसको लेने नेपाल के अस्पताल गए थे तब वह वहाँ से भाग गया था। काफी तलाश के बाद वो भारत – नेपाल अंतरर्राष्ट्रीय सीमा पर रक्सौल के पास मिला। घर वालों ने इरफान से पूछा तो उसने बताया कि उसने नेपाल में एक दुकान से ब्लेड खरीदी और अपना प्राइवेट पार्ट काट कर फेंक दिया। इससे ज्यादा वह कुछ नहीं बता रहा है। इलाज कर रहे डॉक्टर प्रमोद तिवारी ने बताया कि उसकी हालत में सुधार हो रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -