Sunday, August 1, 2021
Homeदेश-समाजहिस्ट्रीशीटर की बीवी, नाम- जेबा खातून: गुर्गों संग घर में घुस बरसाई गोलियाँ, 7...

हिस्ट्रीशीटर की बीवी, नाम- जेबा खातून: गुर्गों संग घर में घुस बरसाई गोलियाँ, 7 महीने की गर्भवती की मौत

आरिफ के घर पहुँचते ही इनलोगों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान करीब 12 राउंड फायर किए गए। गोली लगने से आरिफ की बड़ी बेटी काजल घायल हो गई, जिसे अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

बिहार के भागलपुर जिले के बबरगंज थाना क्षेत्र का मुगलपुरा इलाका सोमवार (19 जुलाई 2021) को गोलियों की तड़तड़ाहट से गूँज उठा। यहाँ जेल में बंद हिस्ट्रीशीटर मोहम्मद इम्तियाज की बीवी जेबा खातून ने अपने गुर्गों के साथ मिलकर आरिफ मोहम्मद नाम के व्यक्ति के घर में घुसकर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी। इस दौरान एक गोली आरिफ की बड़ी बेटी काजल को लग गई, जिससे उसकी मौत हो गई। वह सात महीने की गर्भवती थी।

रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ दिन पहले भी इम्तियाज के गुर्गों बादशाह और रहमत ने आरिफ के बेटे को रास्ते में रोककर धमकी दी थी कि वो अपने अब्बू से पुलिस के लिए जासूसी करने का काम को बंद करने के लिए कहे। अन्यथा उसके पूरे परिवार को खत्म कर दिया जाएगा। आरिफ का कहना है कि उसने इम्तियाज के गुर्गों को यह समझाने की बहुत कोशिश की कि वो पुलिस की मुखबिर नहीं है, बल्कि प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है। इसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी भी हुई थी।

आरिफ के मुताबिक इम्तियाज की पत्नी जेबा खातून शराब, स्मैक और नशीले पदार्थों का काम करती है। सोमवार (19 जुलाई 2021) को आरिफ जब इम्तियाज के गुर्गों से बहस के बाद अपनी बीवी के संग घर लौट आया तो उसके कुछ देर बात ही जेबा खातून गुर्गों के साथ उसके घर आ गई। उसके साथ इम्तियाज का भाई इंतसार समेत कई लोग थे। आरिफ के घर पहुँचते ही इनलोगों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इस दौरान करीब 12 राउंड फायर किए गए। गोली लगने से आरिफ की बड़ी बेटी काजल घायल हो गई, जिसे अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

भागलपुर जिले के एएसपी पूरण झा के हवाले से रिपोर्टों में बताया गया है कि पुरानी रंजिश में इस वारदात को अंजाम दिया गया। उन्होंने आरिफ के मुखबिर होने से इनकार करते हुए बताया कि दोनों तरफ के लोग अपराधी ही हैं। इम्तियाज और आरिफ के दामाद जेल में हैं। पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,314FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe