Thursday, January 27, 2022
Homeदेश-समाजघर में ही 'बारूद' का धंधा करता था नजीर? पत्नी और दो बेटों के...

घर में ही ‘बारूद’ का धंधा करता था नजीर? पत्नी और दो बेटों के साथ गिरफ्तार, धमाके से दहल गया था दरभंगा

दरभंगा में धमाके को लेकर अलग-अलग दावे सामने आ रहे हैं। पुलिस के अनुसार पहली नजर में यह सुतली बम बनाते वक्त हुआ विस्फोट है। स्थानीय लोगों का कहना है कि नजीर काफी समय से घर में ही पटाखे बनाता था। लेकिन स्थानीय विधायक का दावा है कि इस इलाके में पहले पटाखे बनाने का कारोबार होता था।

बिहार का दरभंगा शुक्रवार (5 जून 2020) की दोपहर भीषण धमाके से दहल गया था। विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र के आजमनगर दुर्गा मंदिर के पास स्थित मोहम्मद नजीर के घर धमाका हुआ था। धमाके की आवाज करीब एक किलोमीटर तक सुनी गई।

धमाके से नजीर का पूरा मकान जमींदोज हो गया। आसपास के करीब एक दर्जन अन्य घरों को भी नुकसान पहुॅंचा है। नजीर के कुछ परिजन जख्मी भी हैं जिनका डीएमसीएच में इलाज चल रहा है। इनमें तीन बच्चे हैं।

दरभंगा के डीएसपी अनोज कुमार ने ऑपइंडिया से बातचीत में तीन बच्चों के गंभीर रूप से जख्मी होने के पुष्टि की है। पुलिस ने नजीर, उसकी पत्नी और दो बेटों को गिरफ्तार किया है।

एक चश्मदीद ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि उनका पूरा घर हिल गया। जब उन्होंने बाहर आकर देखा तो नजीर का घर गिरा हुआ था और आसपास काफी भीड़ लगी थी। नजीर के पड़ोस में रहने वाले इस चश्मदीद का दावा है कि वह काफी समय से पटाखे बनाने का काम कर रहा था।

एक अन्य चश्मदीद भरत ने भी बताया कि नजीर पटाखे बनाने का काम करता था। उसके घर में हुए विस्फोट से काफी नुकसान हुआ है। कई घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। गाय को भी चोट आई है। इसके अलावा नजीर के खुद के घर के लोगों को भी चोट पहुँची है। जिन्हें अस्पताल भेजा गया है।

इसी प्रकार, घटना वाली जगह से थोड़ी दूर पर फर्नीचर की दुकान करने वाले सोनू कुमार शर्मा ने बताया कि धमाका इतना जोरदार था कि उन्हें लगा मानो दो-तीन छत उनके ऊपर गिर गए हो। उन्होंने बताया कि धमाके के कारण बगल के घरों में वेंटिलेशन से ईंट-पत्थर के टुकड़े अंदर आ गए थे।

सोनू ने बताया कि उन्होंने कुछ समय पहले ही इस जगह दुकान खोली है। इसलिए उन्हें ये नहीं मालूम कि उस घर में क्या होता था? लेकिन जो भी था, इतना खतरनाक था कि उन लोगों को लगा जैसे कोई बम या सिलेंडर फटा हो।

पुलिस के अनुसार पहली नजर में पटाखे के कारण हुआ विस्फोट लग रहा है। मीडिया रिपोर्टों में सिटी एसपी के हवाले से बताया गया है कि इस मामले की हर एंगल से जाँच की जा रही है। बम स्क्वायड और FSL की टीम भी बुलाई गई है। जाँच के बाद खुलासा हो पाएगा कि आखिर ये किस प्रकार का ब्लास्ट था। प्रथम दृष्टया जाँच के मुताबिक लगता है कि ये सूतली बम बनाने के दौरान हुआ ब्लास्ट है।

ऑपइंडिया ने जब इस संबंध में स्थानीय विधायक संजय सारगवी से बात की तो उन्होंने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही वह इलाके में गए थे। उन्होंने कहा, “ब्लास्ट काफी जोरदार था। कई किलोमीटर दूर तक इसकी आवाज सुनाई पड़ी थी। मौके पर FSL टीम को बुलाया गया है। वहाँ कई मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं। हमने इस मामले में विस्तृत जाँच की माँग की है।”

जब हमने नजीर के घर में चल रहे पटाखों के कारोबार के बारे में उनसे पूछा तो उन्होंने कहा कि इस बारे में अभी कोई सूचना नहीं है। जब स्थानीय लोगों के बयानों का हवाला दिया, तो उन्होंने कहा कि पहले वहाँ ऐसा होता था। लेकिन वर्तमान में विस्फोट का क्या कारण था, इस पर कुछ भी जाँच के बाद ही बोला जा सकेगा।

उनके मुताबिक, इस मामले में घटना की सूचना पाते ही कई पुलिस अधिकारी मौके पर पहुँचे थे। अब आगे अगर जरूरत पड़ी तो उच्च स्तरीय जाँच भी करवाई जाएगी। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, घटना की गंभीरता को देखते हुए दरभंगा के जिलाधिकारी ने इसपर संज्ञान लिया है। उन्होंने अपर समाहर्ता के नेतृत्व में तीन सदस्यीय जाँच कमिटी गठित की है। जाँच कमिटी में सदर एसडीपीओ एवं सदर एसडीओ को शामिल किया गया है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

TMC सांसद जवाहर सरकार ने ‘पद्म विभूषण’ अवॉर्ड के लिए इस अभिनेता के नाम पर फैलाया झूठ: यूजर्स बोले- 2015 में ही दे चुकी...

TMC सांसद और प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सरकार द्वारा भ्रामक ट्वीट करने के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी क्लास लगा दी।

‘योगी जैसा मुख्यमंत्री मुलायम सिंह और अखिलेश भी नहीं रहे’: सपा के खिलाफ प्रचार पर बोलीं अपर्णा यादव- ‘पार्टी जो कहेगी करूँगी’

अपर्णा यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें मेरा समाजसेवा का काम दिखा था, जबकि अखिलेश यह नहीं देख पाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
153,925FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe