Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजबिहार: जामा मस्जिद में नमाज को लेकर मुस्लिम गुटों में भिड़ंत, जमकर चले लात-घूँसे,...

बिहार: जामा मस्जिद में नमाज को लेकर मुस्लिम गुटों में भिड़ंत, जमकर चले लात-घूँसे, डंडे-कुर्सियाँ उठा कर एक दूसरे को पीटा

घटना वैशाली जिले के रामपुर के डगरू में जामा मस्जिद की है। यहाँ दोनों पक्षों ने आमने-सामने की भिड़ंत हुई, इस दौरान एक-दूसरे पर जमकर लात-घूँसे और लाठियों से हमले किए। पत्थरबाजी भी की गई। दोनों समूहों ने लड़ाई के दौरान मस्जिद परिसर की कुर्सियों को हथियार के रूप में भी इस्तेमाल किया।

बिहार के वैशाली जिले से चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहाँ एक मस्जिद में नमाज को लेकर मुस्लिमों का दो गुट आपस में ही भिड़ गया। दोनों ही पक्षों में जमकर लात-घूँसे और लाठियाँ चलीं। दरअसल, वक्फ बोर्ड के आदेश के बाद नई प्रबंध समिति के गठन को लेकर मंगलवार (31 मई 2022) को मुस्लिमों के दो गुटों के बीच ये तकरार हुई।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये घटना वैशाली जिले के रामपुर के डगरू में जामा मस्जिद की है। यहाँ मस्जिद की प्रबंध कमेटी को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था। इस मामले के समाधान के लिए बिहार के सुन्नी वक्फ बोर्ड आगे आया। उसने दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद एक नई के गठन का आदेश दिया।

इसके लिए वक्फ बोर्ड ने महुआ के अनुमंडल पदाधिकारी को मस्जिद की कमान नए अध्यक्ष व सचिव को सौंपने का आदेश दिया। मंगलवार को महुआ के सीओ मुन्ना कुमार नई कमेटी के सदस्यों को नमाज से पहले कार्यभार सौंपने के लिए मस्जिद पहुँचे। अपना काम करके जब वो चले गए तो नवगठित कमेटी के सदस्य मस्जिद में नमाज की तैयारियों में जुट गए। हालाँकि, दूसरे पक्ष को ये अच्छा नहीं लगा और दो गुट आपस में भिड़ गए। सीओ अमर कुमार सिन्हा ने कहा कि मस्जिद के प्रबंधन को लेकर हाथापाई हुई।

दोनों पक्षों में आमने-सामने की भिड़ंत हुई, इस दौरान एक-दूसरे पर जमकर लात-घूँसे और लाठियों से हमले किए। पत्थरबाजी भी की गई। दोनों समूहों ने लड़ाई के दौरान मस्जिद परिसर की कुर्सियों को हथियार के रूप में भी इस्तेमाल किया। इस झड़प में हाथापाई के दौरान आधा दर्जन लोग घायल हो गए।

मामले की जानकारी मिलते ही महुआ थाने के थाना प्रभारी प्रभात रंजन सक्सेना, उप निरीक्षक परशुराम सिंह और महुआ थाने के अतिरिक्त उप निरीक्षक सुधीर कुमार तुरंत घटनास्थल पर पहुँचे। उन्होंने दोनों पक्षों को शांत कराने की कोशिश की। बहरहाल, किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए वहाँ बड़ी संख्या में पुलिस बलों को तैनात किया गया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर में फिर से 370 बहाल करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- फैसला सही था: CJI की बेंच ने पुनर्विचार याचिकाओं को किया...

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर दिए गए निर्णय को लेकर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -