Friday, July 1, 2022
Homeदेश-समाजपहले सिर पर रॉड मारा, फिर आखिरी दम तक ट्रक से कुचला: हत्या से...

पहले सिर पर रॉड मारा, फिर आखिरी दम तक ट्रक से कुचला: हत्या से पहले नफीस अहमद ने मनप्रीत कौर को खूब पिलाई बीयर

नफीस ने पुलिस को बताया कि मनप्रीत उससे शादी करना चाहती थी और उस पर पहली पत्नी को तलाक देने का दबाव बना रही थी।

उत्तर प्रदेश पुलिस ने नफीस अ​हमद को गिरफ्तार कर मनप्रीत कौर हत्याकांड का खुलासा कर दिया है। बिजनौर के अफजलगढ़ में नेशनल हाइवे-74 पर शनिवार (18 सितंबर 2021) की रात 28 वर्षीय मनप्रीत कौर मृत मिली थी। उसका शरीर बुरी तरह कुचला हुआ था।

अफजलगढ़ पुलिस ने सोमवार को हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि ट्रक के केबिन में बैठकर नफीस ने मनप्रीत को जमकर बीयर पिलाई। फिर नशे की हालत में उसके सर पर लोहे की रॉड से हमला किया। इसके बाद लात मार उसे ट्रक से नीचे फेंका और फिर उसे गाड़ी से कुचल दिया। नफीस को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया है। पुलिस अधीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह ने बताया कि नफीस अहमद के पास से मनप्रीत का आधार कार्ड, मोबाइल, हत्या में इस्तेमाल की गई लोहे की रॉड और ट्रक बरामद की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मनप्रीत उत्तराखंड के काशीपुर में एक गारमेंट स्टोर में काम करती थी। आठ साल पहले उसकी शादी 29 वर्षीय व्यवसायी सुखवीर सिंह से हुई थी। दोनों की 5 साल की एक बेटी भी है। रविवार को सुखवीर ने मनप्रीत के शव की पहचान की।

रिपोर्ट के अनुसार 2018 से मनप्रीत का बिजनौर के मनियावाला के रहने वाले ट्रक ड्राइवर 26 वर्षीय नफीस अहमद से प्रेम प्रसंग चल रहा था। तीन साल पहले उसने पति को छोड़ दिया था। सुखवीर ने अपनी पत्नी की हत्या के आरोप में नफीस अहमद के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। नफीस पर हत्या और सबूत मिटाने का मामला दर्ज किया गया था। जब उसे पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया तो उसने पुलिस के सामने बेरहमी से हत्या करने की बात कबूल कर ली।

नफीस ने पुलिस को बताया कि मनप्रीत उससे शादी करना चाहती थी और उस पर पहली पत्नी को तलाक देने का दबाव बना रही थी। मनप्रीत उससे शादी नहीं करने पर दुष्कर्म के मामले में फँसाने की धमकी देती थी। 18 सितंबर को मनप्रीत कौर ने उसको उधमसिंह नगर बुलाया था। वह दिन में उधमसिंह नगर पहुँच गया और शाम को मनप्रीत को अपने साथ अफजलगढ़ ले आया।

नफीस ने बताया कि मनप्रीत ने बीयर पी रखी थी। इसके बाद उन्होंने एक होटल पर खाना खाया। इस दौरान मनप्रीत के मोबाइल पर एक कॉल आया, तो वह उधमसिंह नगर जाने की जिद करने लगी। नफीस ने उसको उधमसिंह नगर छोड़ने के लिए ट्रक में बैठा लिया। इसी दौरान नफीस ने उसके सिर पर लोहे की रॉड से हमला किया। फिर उसे नीचे गिराकर उसके ऊपर ट्रक चढ़ा दी और फरार हो गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,269FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe