Wednesday, July 28, 2021
Homeदेश-समाजअसम में BJP बूथ अध्यक्ष को धारदार हथियारों से गोदा, MP में मंदिर जा...

असम में BJP बूथ अध्यक्ष को धारदार हथियारों से गोदा, MP में मंदिर जा रहे पार्टी नेता का गला बीच सड़क पर रेता

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनवाल ने इस मामले में राज्य के DGP को निर्देश दिया है कि वो दोषियों को जल्द से जल्द सज़ा दिलाएँ।

देश के दो राज्यों से भाजपा (BJP) नेता की हत्या की खबरें सामने आई है। मध्य प्रदेश के रीवा में भाजपा के ग्राम संयोजक सुरेंद्र तिवारी तो पूर्वी असम के तिनसुकिया जिले में पार्टी के बूथ अध्यक्ष देवानंद गोगोई की हत्या कर दी गई। मध्य प्रदेश वाली घटना महाशिवरात्रि के दिन गुरुवार (मार्च 11, 2021) की देर शाम हुई, असम वाली वारदात इसके अगले दिन हुई।

तिनसुकिया में भाजपा नेता की हत्या

असम में विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान हो चुका है, जो मार्च 27 से लेकर अप्रैल 6 तक तीन चरणों में होना है। भाजपा बूथ स्तर की रणनीति पर खास ध्यान देती है। दुमदुमा-नागाँव में उसने देवानंद गोगोई को बूथ अध्यक्ष बनाया था। पता लगाया जा रहा है कि राजनीतिक रंजिश के कारण उनकी हत्या हुई है या कोई अन्य कारण है। वे अपने घर के पीछे कुछ काम कर रहे थे, तभी एक युवक ने धारदार हथियार से उन्हें गोद डाला।

गंभीर रूप से घायल होने के बाद उन्हें अरुणाचल प्रदेश स्थित बरदुम्सा सरकारी अस्पताल में ले जाया गया, जहाँ उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना के बाद पूरे मार्घेरिटा विधानसभा क्षेत्र में तनाव का माहौल व्याप्त है। पुलिस ने आरोपित जयचंद्र गोगोई को गिरफ्तार कर लिया है, जो उसी गाँव का रहने वाला है। हत्या के बाद वो फरार हो गया था, जिसे दबोचने के लिए पुलिस ने टीम लगाई हुई थी।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनवाल ने इस मामले में राज्य के DGP को निर्देश दिया है कि वो दोषियों को जल्द से जल्द सज़ा दिलाएँ। उन्होंने इस घटना की निंदा भी की। उन्होंने कहा कि हिंसा के कृत्य बर्दाश्त नहीं किए जाएँगे। मंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने भी इस हत्याकांड पर दुःख जताया और पीड़ित परिजनों के लिए प्रार्थना की।

रीवा में भाजपा नेता की हत्या

मध्य प्रदेश में कानून-व्यवस्था को लेकर कई बार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें सख्त निर्देश दे चुके हैं। इसी बीच, नौढ़िया गाँव में भाजपा के ग्राम संयोजक की हत्या कर दी गई। धारदार हथियारों से करीब आधा दर्जन बदमाशों ने उनका गला रेत डाला। उनकी हत्या महाशिवरात्रि के मौके पर मंदिर जाते वक्त की गई।

रास्ते में अचानक से बदमाशों ने दौड़ कर उन पर हमला कर दिया। इस वारदात के दौरान आसपास मौजूद लोग दौड़कर मौके पर पहुँचे भी, लेकिन तब तक अपराधी फरार हो चुके थे। एसपी राकेश सिंह ने घटनास्थल पर जाकर स्थिति की समीक्षा की। इस मामले में 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। ग्रामीण सरेआम हुई हत्या के बाद आक्रोशित हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी सिर्फ हिंदुओं की सुनते हैं, पाकिस्तान से लड़ते हैं’: दिल्ली HC में हर्ष मंदर के बाल गृह को लेकर NCPCR ने किए चौंकाने...

एनसीपीसीआर ने यह भी पाया कि बड़े लड़कों को भी विरोध स्थलों पर भेजा गया था। बच्चों को विरोध के लिए भेजना किशोर न्याय अधिनियम, 2015 की धारा 83(2) का उल्लंघन है।

उत्तर-पूर्वी राज्यों में संघर्ष पुराना, आंतरिक सीमा विवाद सुलझाने में यहाँ अड़ी हैं पेंच: हिंसा रोकने के हों ठोस उपाय  

असम के मुख्यमंत्री नॉर्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायंस के सबसे महत्वपूर्ण नेता हैं। उनके और साथ ही अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों के लिए यह अवसर है कि दशकों से चल रहे आंतरिक सीमा विवाद का हल निकालने की दिशा में तेज़ी से कदम उठाएँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,660FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe