Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाज6 दिन से गायब केरल के भाजपा कार्यकर्ता का मिला शव, 'दृश्यम' स्टाइल में...

6 दिन से गायब केरल के भाजपा कार्यकर्ता का मिला शव, ‘दृश्यम’ स्टाइल में घर में ही दफना दी थी लाश: नए फर्श ने बढ़ा दिया था पुलिस का शक

फिलहाल पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता बिंदु कुमार के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मुथुकुमार और उसके घर के सदस्यों से पूछताछ कर रही है।

केरल के कोट्टयम जिले के चंगनसेरी से भाजपा कार्यकर्ता बिंदु कुमार का शव बरामद हुआ है। वो बीते 26 सितंबर से लापता थे। उनका शव मशहूर बॉलीवुड फिल्म ‘दृश्यम’ स्टाइल में एक घर के अंदर दफनाया गया था। फर्श की खुदाई कर पुलिस ने शव बरामद किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 43 वर्षीय बिंदु कुमार किसी रिश्तेदार की मौत के बाद उसके यही जाने के लिए 26 सितंबर को घर से निकले थे। इसके बाद वह घर नहीं लौटे तब उनके परिवार वालों ने स्थानीय पुलिस स्टेशन में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी।

इसके बाद पुलिस ने कई एंगल से जाँच शुरू कर दी थी, जिसमें राजनीतिक एंगल होने की बात भी कही जा रही थी। पुलिस की शुरुआत जाँच में बिंदु कुमार का फोन लगातार आउट ऑफ कवरेज आ रहा था। हालाँकि, इस जाँच में यह सामने आया कि चंगनसेरी के एसी कॉलोनी में बिंदु कुमार की आखिरी लोकेशन थी। इसके बाद पुलिस ने जाँच को आगे बढ़ाते हुए हुए एसी कॉलोनी में छानबीन की तो जाँच घूम-फिर कर मुथुकुमार के घर पर जाकर रुक रही थी।

चूँकि, मुथुकुमार के घर पर पुलिस को नया फर्श दिख रहा था इसलिए पुलिस ने वहाँ पर खुदाई शुरू की। 6 घण्टे की खुदाई के बाद पुलिस को वहाँ से शव बरामद हुआ है। मुथुकुमार को बिंदु कुमार का परिचित बताया जा रहा है। इससे पहले उनकी बाइक वाकाथनम से बरामद हुई थी। बता दें, बॉलीवुड फिल्म ‘दृश्यम’ में भी इसी तरह हत्याकर शव को पुलिस स्टेशन में दफनाया गया था। हालाँकि, फिल्म में दिखाया गया है कि काफी जाँच के बाद भी शव बरामद नहीं हो सका था।

फिलहाल पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ता बिंदु कुमार के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मुथुकुमार और उसके घर के सदस्यों से पूछताछ कर रही है। मौके पर पहुँचकर फिंगरप्रिंट विशेषज्ञ, डॉग स्क्वॉड समेत पुलिस विभाग की अलग-अलग टीमों ने जाँच शुरू कर दी है। इस मामले में पुलिस ने कहा है कि बिंदू कुमार आर्यडू के रहने वाले थे और उनके लापता होने के बाद उनकी माँ ने अलाप्पुझा उत्तर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद उन्हें ढूँढ तो लिया, लेकिन तब तक उसकी हत्या कर दी गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -