Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली से वाराणसी के लिए उड़ान भरने को था विमान, टॉयलेट में टिशू पेपर...

दिल्ली से वाराणसी के लिए उड़ान भरने को था विमान, टॉयलेट में टिशू पेपर पर लिखा मिला ‘बम’: कूदने लगे यात्री, सभी सुरक्षित

जानकारी के अनुसार, दिल्ली के इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री हवाई अंतरराष्ट्रीय अड्डे को सुबह इंडिगो की एक फ्लाइट 6E 2211 जा रही थी। इसका दिल्ली से सुबह 5 बजे उड़ान भरने का समय था। इसके पहले ही इस विमान में बम होने की सूचना मिली।

राजधानी दिल्ली से उत्तर प्रदेश के वाराणसी को जा रही एक फ्लाइट को मंगलवार(28 मई, 2024) को बम की धमकी दी गई। इसके बाद विमान को उड़ान से ठीक पहले रोक लिया गया और यात्रियों को उतार लिया गया। सुरक्षा एजेंसियाँ अब इस मामले की जाँच में जुटी हैं।

जानकारी के अनुसार, दिल्ली के इंदिरा गाँधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री हवाई अंतरराष्ट्रीय अड्डे को सुबह इंडिगो की एक फ्लाइट 6E 2211 जा रही थी। इसका दिल्ली से सुबह 5 बजे उड़ान भरने का समय था। इसके पहले ही इस विमान में बम होने की सूचना मिली।

बम की यह जानकारी विमान के टॉयलेट में एक टिशु पेपर पर मिली। इस पर बम लिखा हुआ था। इसके बाद यात्रियों में हडकंप मच गया। कुछ यात्री जल्दी नीचे जाने की कोशिश करने लगे। कुछ ने खिड़की से निकलने का प्रयास किया।

यात्री यह सूचना मिलने तक विमान में बैठ चुके थे और यह उड़ान के लिए तैयार था। सूचना मिलने के बाद इसे रनवे से हटा कर पार्किंग क्षेत्र में ले जाया गया और सभी यात्रियों को उतारा गया। यात्रियों को यहाँ इमरजेंसी द्वार से निकाला गया। इसके बाद विमान की जाँच के लिए टीमें पहुँची।

विमान की जाँच के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी और बम निरोधक दस्ता पहुँचा। विमान के भीतर बम होने की सूचना की पुष्टि नहीं हो पाई है। यात्रियों को इसके कारण दिक्कतों को सामना करना पडा है। उन्हने वापस एयरपोर्ट लाया गया। पुलिस इस मामले में आगे जाँच कर रही है।

गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों में विमानों को बम की धमकी देने की काफी घटनाएँ सामने आई हैं। हालाँकि, इनकी जाँच में कुछ नहीं मिला है। इससे पहले 16 मई, 2024 को दिल्ली से वड़ोदरा जाने वाली एयर इंडिया की एक फ्लाइट को बम होने की धमकी दी गई थी। 27 जनवरी, 2024 को भी मुंबई एयरपोर्ट पर भी ऐसा ही वाकया हुआ था।

ऐसी सूचनाओं के कारण विमानों की उड़ान में देरी होती है और यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। अधिकांश मौकों पर यह धमकियाँ फर्जी निकलती हैं। हालाँकि, सुरक्षा एजेंसियाँ इन्हें नजरअंदाज नहीं करती क्योंकि इससे पहले देश में विमान हाईजैकिंग का बड़ा हादसा हो चुका है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -