Tuesday, August 9, 2022
Homeदेश-समाज28 साल पहले घरवालों ने जिसे मरा बताया, वह कोरोना के डर से अमेरिका...

28 साल पहले घरवालों ने जिसे मरा बताया, वह कोरोना के डर से अमेरिका से भारत लौटा, CBI ने पकड़ा

सीबीआई से मिली जानकारी के मुताबिक वर्ष 1985 में निर्मल सिंह ने ढाई लाख की ठगी की थी। मामला हाईप्रोफाइल होने के बाद इसकी जाँच सीबीआई को सौंपी गई थी। मामले में कार्रवाई करते हुए वर्ष 1990 में जब सीबीआई ने आरोपित के खिलाफ में मुकदमा दर्ज किया। वर्ष 1991 में निर्मल सिंह के परिजनों ने उसे मरा हुआ दिखा दिया।

पंजाब के पटियाला से CBI ने एक ऐसे व्यक्ति को पकड़ा है जो 28 वर्ष पहले खुद को मरा दिखाकर अमेरिका भाग गया था। कोरोना के कारण उसे भारत लौटना पड़ा।

इस व्यक्ति की पहचान पटियाला के पंजाबीबाग निवासी 65 वर्षीय निर्मल सिंह के रूप में हुई है। करीब दो महीने पहले अमेरिका से लौटे निर्मल सिंह की जानकारी जैसे ही सीबीआई को हुई तो वह शनिवार (30 मई, 2020) को उसके घर पहुँच गई।

सीबीआई टीम के घर पहुँचते ही मामले की पोल खुलने पर निर्मल सिंह बेहोश हो गया। सीबीआई ने निर्मल सिंह और उसकी पत्‍नी को गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल आरोपित को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सीबीआई के सब इंस्पेक्टर विकास कुमार ने बताया कि एंबुलेंस से पति-पत्नी दोनों को चंडीगढ़ ले जाया गया है। वहाँ मेडिकल करवाकर आगे की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि निर्मल सिंह की पत्‍नी ने एक यूट्यूब चैनल खोल रखा था, जिसे कुछ महीने पहले ही उसने एक दूसरे व्यक्ति को सौंप दिया था।

इसके बाद दोनों में विवाद हो गया था, जिसकी शिकायत सिविल लाइन थाना में भी दर्ज करवाई गई थी। दोनों में झगड़ा इस कदर बढ़ गया कि निर्मल सिंह के इस फर्जीवाड़े की सूचना सीबीआई तक भी पहुँच गई और टीम ने शनिवार को उसे पकड़ लिया। फिलहाल सीबीआई ने मदद करने के आरोप में उसकी पत्नी पीएस बाठ पर भी केस दर्ज किया है।

सीबीआई से मिली जानकारी के मुताबिक वर्ष 1985 में निर्मल सिंह ने ढाई लाख की ठगी की थी। मामला हाईप्रोफाइल होने के बाद इसकी जाँच सीबीआई को सौंपी गई थी। मामले में कार्रवाई करते हुए वर्ष 1990 में जब सीबीआई ने आरोपित के खिलाफ में मुकदमा दर्ज किया। वर्ष 1991 में निर्मल सिंह के परिजनों ने उसे मरा हुआ दिखा दिया।

इतना ही नहीं परिजनों ने एक व्यक्ति के शव को निर्मल का बताकर उसका अंतिम संस्कार भी करा दिया। परिजनों ने इसकी जानकारी सीबीआई को देने के साथ ही सबूत के तौर पर व्यक्ति के डेथ सर्टिफिकेट को भी जारी करवा लिया था। फिलहाल सीबीआई इस जाँच में जुट गई है कि मरने वाला व्यक्ति आखिर कौन था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डोनाल्ड ट्रंप के ‘खूबसूरत घर’ पर FBI की रेड: पूर्व राष्ट्रपति बोले- मेरी तिजोरी में भी सेंध मारी, दावा- व्हाइट हाउस से लेकर चले...

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति ट्रंप को लेकर कहा जा रहा है कि उन्होंने राष्ट्रपति भवन छोड़ते समय कुछ दस्तावेज अपने पास रख लिए थे। एफबीआई रेड में उन्हें ही ढूँढ रही थी।

मंदिर से लौट रहे हिन्दू परिवार पर हमला, महिलाओं से छेड़छाड़: Pak में जहाँ हुई थी हिन्दू कारोबारी की हत्या, वहाँ अब भी नहीं...

पाकिस्तान के सिंध के संघर में एक हिंदू परिवार पर रविवार शाम को मीरपुर मथेलो पुलिस थाने के भीतर लगभग एक दर्जन लोगों ने हमला बोल दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
212,424FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe