Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाज'गमछे से पहचानिए कौन हैं': भगवा देख कर अखिलेश यादव का प्रोपेगंडा, यूपी पुलिस...

‘गमछे से पहचानिए कौन हैं’: भगवा देख कर अखिलेश यादव का प्रोपेगंडा, यूपी पुलिस ने चेन स्नेचर्स को दबोचा तो खुली पोल

बताया जा रहा है कि कोतवाली इलाके के बावन रोड पर दिल्ली में हुई एक घटना के मद्देनजर पुलिस रोड पर चेकिंग और तलाशी अभियान चला रही थी।

उत्तर प्रदेश में हरदोई जिले की पुलिस ने चेन स्नेचिंग करने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बदमाशों के पास से लखीमपुर और हरदोई में लूटी गई दो चेन, एक बाइक, दो असलहे और कारतूस भी बरामद किए हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस और बदमाशों के बीच हुई मुठभेड़ में दोनों बदमाशों के पैर में गोली लगी है। उन्हें इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। इनमें से एक बदमाश ने 15 अप्रैल को भगवा गमछा डालकर चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम दिया था।

बताया जा रहा है कि कोतवाली इलाके के बावन रोड पर दिल्ली में हुई एक घटना के मद्देनजर पुलिस रोड पर चेकिंग और तलाशी अभियान चला रही थी। उसी दौरान बाइक पर सवार दो लोगों को पुलिस ने रुकने का इशारा किया, लेकिन बाइक सवार रुकने की बजाए पुलिस पर फायरिंग करते हुए भाग निकले, जिसके बाद मछरेहटा गाँव के पास पुलिस ने इन दोनों बदमाशों पर जवाबी फायरिंग की, जिसमें दोनों पैर में गोली लगने से घायल हो गए

पकड़े गए बदमाशों में से एक का नाम आदित्य वर्मा है, जो कानपुर के जूही थाने का रहना वाला है। वहीं दूसरे का नाम दीपक कश्यप है, जो कानपुर के रतनपुर थाना क्षेत्र का रहने वाला है। आदित्य वर्मा ने ही भगवा गमछे से अपने मुँह को ढका हुआ था और अपने साथी के ​साथ मिलकर चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम दिया था। उसने पूछताछ में पुलिस को बताया कि 15 अप्रैल को लखीमपुर में चेन स्नेचिंग की वारदात की थी। इसके अलावा 13 अप्रैल को हरदोई में भी उसने एक चेन स्नैचिंग की वारदात को अंजाम दिया था।

पुलिस ने उससे लूट का सारा सामान बरामद कर लिया है। पुलिस ने बताया कि पकड़े गए दोनों बदमाश कानपुर के कुख्यात अपराधी हैं। इन पर कानपुर सहित कई जिलों में लूट और चेन स्नेचिंग के कई मामले दर्ज हैं।

बता दें कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने ट्वीट कर भगवा गमछा को लेकर भाजपा पर निशाना साधा था। उन्होंने बीजेपी सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हुए अपने ट्विटर अकाउंट पर चेन स्नेचिंग का एक वीडियो पोस्ट किया था। साथ ही लिखा था, “गमछे से पहचानिए चेन लुटेरे कौन हैं।” वीडियो में एक लड़की और एक महिला सड़क किनारे चल रही हैं। तभी बाइक सवार दो बदमाश आते हैं और लड़की के गले से चेन छीनकर फरार हो जाते हैं।

इनमें से बाइक के पीछे बैठे आरोपित ने अपने मुँह को भगवा गमछे से लपेटा हुआ था। इस घटना के 48 घंटे के अंदर ही हरदोई पुलिस ने दोनों बदमाश को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ से लड़ रही लालू की बेटी, वहाँ यूँ ही नहीं हुई हिंसा: रामचरितमानस को गाली और ‘ठाकुर का कुआँ’ से ही शुरू हो...

रामचरितमानस विवाद और 'ठाकुर का कुआँ' विवाद से उपजी जातीय घृणा ने लालू यादव की बेटी के क्षेत्र में जंगलराज की यादों को ताज़ा कर दिया है।

निजी प्रतिशोध के लिए हो रहा SC/ST एक्ट का इस्तेमाल: जानिए इलाहाबाद हाई कोर्ट को क्यों करनी पड़ी ये टिप्पणी, रद्द किया केस

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए SC/ST Act के झूठे आरोपों पर चिंता जताई है और इसे कानून प्रक्रिया का दुरुपयोग माना है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -