Thursday, May 30, 2024
Homeदेश-समाज'पंजाब तक फैला है ईसाई धर्मान्तरण का जाल, चंगाई सभा में आने वाले 30%...

‘पंजाब तक फैला है ईसाई धर्मान्तरण का जाल, चंगाई सभा में आने वाले 30% सिख’: जमशेदपुर में पादरी की सभा में बवाल, FIR

सि‍ख समाज को इस बात पर ऐतराज है क‍ि रवि‍ स‍िंंह ने अपना धर्म बदल ल‍िया है। इसके बाद भी रवि सिंह अपने कार्यक्रमों में पगड़ी पहनता है। ऐसा करना स‍िख धर्म का अपमान है।

झारखंड के जमशेदपुर में चंगाई सभा की आड़ में धर्मान्तरण के आरोपों पर बवाल बढ़ गया है। रविवार (27 फरवरी, 2022) को गोलमुरी नामदा बस्ती के नानक नगर में रवि सिंह नाम के पादरी पर हिन्दू संगठनों और सिखों ने स्थानीय निवासियों के धर्म परिवर्तन का आरोप लगया। सिखों के मुताबिक धर्म परिवर्तन का रैकेट पंजाब और विदेशों से जुड़ा हुआ है। इस मामले में जमशेदपुर पुलिस ने पादरी को हिरासत में लेकर छोड़ दिया है। आरोपित पॉस्टर पूर्व में सिख समुदाय से बताया जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सि‍ख समाज को इस बात पर ऐतराज है क‍ि रवि‍ स‍िंंह ने अपना धर्म बदल ल‍िया है। इसके बाद भी रवि सिंह अपने कार्यक्रमों में पगड़ी पहनता है। ऐसा करना स‍िख धर्म का अपमान है। एक अन्य रिपोर्ट के हवाले से रवि सिंह पर आरोप है कि पहले दोनों पति-पत्नी सिख थे। अब पति-पत्नी धर्म परिवर्तन कर ईसाई बन चुके हैं। वो दूसरे लोगों को भी धर्म परिवर्तन के लिए उकसाते हैं। उसके घर में हमेशा चंगाई सभा के नाम पर लोगों को इकट्ठा किया जाता है। कहा जा रहा है कि घटना के दिन भी चंगाई सभा के नाम पर धर्म परिवर्तन किया जा रहा था।

पंजाब तक फैला है धर्मान्तरण रैकेट का गिरोह

झारखंड गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी झारखंड के अध्यक्ष सरदार शैलेन्द्र सिंह ने इस पूरे घटनाक्रम को लेकर ऑपइंडिया से बात की। उन्होंने बताया, “यहाँ ईसाई समाज के लोग भी कहते है कि हमारा इस आदमी (आरोपित पॉस्टर रवि सिंह) से कोई लेना देना नहीं है। ये रवि ने एक संस्था बनाई हुई है। इस तरह के लोग पंजाब में भी घुसे हुए हैं। इन लोगों को हमारे देश के बाहर के लोग पैसे पहुँचा रहे हैं। जमशेदपुर में ये जो है (रवि पॉस्टर) वो भी उन्हीं का एक अंग है। ये चाहते हैं कि हमारे देश में इस तरह की हरकतें हों। ये हमारे देश को नुकसान पहुँचाना चाहते हैं। ये लोग 5-5 हजार रुपए दे कर धर्मान्तरण करवाते हैं। कुछ को दवाई दे देते हैं।”

सरदार शैलेंदर सिंह ने आगे कहा, “जो भोले-भाले लोग होते हैं उनके साथ वो लोग ऐसा करते हैं। 3 साल से इन लोगों ने ऐसा माहौल बनाया हुआ है। हम लोगों ने पहले भी इनको समझाने का प्रयास किया था। ये लोग तो समझने से रहे। क्योकि इन्हें ऊपर से तगड़ा मिलता है। ये रोक देंगे तो उनको पैसा कहाँ से मिलेगा। किसी की मदद करने का ये मतलब नहीं है कि उसका धर्म ही बदलवा दो। हमारे सिख समाज के कुछ लोगों ने ईसाई धर्म ग्रहण कर लिया था। उन लोगों ने दिवाली के दिन गुरूद्वारे में आ कर माफ़ी माँगा। वहाँ 100-150 लोगों की भीड़ लगी रहती है। उसमें देखो तो 30 प्रतिशत सरदार ही होते हैं। उनके साथ आदिवासी लोग भी हैं।”

सरदार शैलेंदर सिंह के मुताबिक, “किसी को चमत्कार दिखाया जाता है। किसी का भूत-प्रेत भगाया जाता है। अब जो नई घटना हुई ही उसमें हल्ला-गुल्ला हुआ है। अब देखिए उसमें आगे क्या होता है। ये आरोपित (पॉस्टर रवि सिंह) पहले सिख थे। वो कहीं पंजाब के जालंधर क्षेत्र के आस-पास का रहने वाला है। ये जो देश के बाहर के लोग है वो हमारे मामलों में हस्तक्षेप करना चाहते हैं। धर्म परिवर्तन तो अपनी जगह, ये देशद्रोही काम भी है। पंजाब के जो शेड्यूल कास्ट के लोग हैं उनके बीच में भी ये सब घुसे हुए हैं।”

सरदार शैलेन्द्र सिंह के मुताबिक, ‘पैसा कमाने की आड़ में ये सब देशद्रोह कर रहे हैं। हमने इसकी शिकायत पहले भी प्रशासन से की थी। एक बार इन्हें दौड़ाए भी थे हम। पहले हम बहुत प्रयास कर चुके हैं। उस समय प्रशासन ने इन पर कोई कार्रवाई नहीं किया। लेकिन हमारे समाज के लोग सरेंडर हो गए थे। वो गुरूद्वारे में जा फिर न जाने के लिए बोल चुके हैं।”

धर्मान्तरण कराए जाने की शिकायत

मौके पर पहुँचे पुलिस बल के साथ SP सिटी हजारीबाग ने बताया, “शिकायत दोनों पक्षों द्वारा दी गई है। एक पक्ष ने दूसरे धर्म की पहचान और संबल ले कर किसी अन्य धर्म के प्रचार का आरोप लगाया है। इसी आरोप पर हंगामा हुआ है। जबकि इस कार्यक्रम को करने वालों ने चिकित्सा करना बताया है। साथ ही उन्होने सभा को प्रार्थना सभा बताया है। पूरा मामला जाँच के बाद ही सामने आएगा। दोनों पक्ष बातचीत करके हल के लिए तैयार हो गए हैं। गैरकानूनी हरकत करने वालों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

केस में अब तक 4 FIR होने का दावा

जमशेदपुर में हिन्दू पीठ के अरुण सिंह ने ऑपइंडिया को बताया, “इस मामले में अब तक 4 FIR दर्ज हुई है। एक FIR पॉस्टर रवि के ऊपर उस महिला ने करवाया है जिसको उसने 5 हजार रुपए प्रति धर्मान्तरण देने का वादा किया था। दूसरा केस रवि पॉस्टर की बहन ने उन लोगों पर करवाया है जो उनके कार्यक्रम का विरोध करने पहुँचे थे। बाकी 2 FIR प्रशासन की तरफ से करवाई गई है। एक में रवि पॉस्टर पर कोविड गाइडलाइंस के उल्लंघन का है। बाकी दूसरा कार्यक्रम में हंगामा करने वालों पर। जमशेदपुर और आस पास ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं। हम ऐसी घटनाओं का काफी पहले से विरोध करते आए हैं।

ADM जमशेदपुर ने क्या कहा

हिन्दू पीठ के अरुण सिंह द्वारा 4 FIR और उन पर कार्रवाई की पुष्टि के लिए ऑपइंडिया ने जमशेदपुर के ADM नन्द किशोर लाल को सम्पर्क किया। ADM ने इस मामले में खुद से कोई बात करने से मना किया। उन्होंने कहा, “इस मुद्दे पर आप या तो DC साहब से बात कीजिये या SP साहब से। मुझ से इस बारे में कुछ न पूछिए।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बाँटने की राजनीति, बाहरी ताकतों से हाथ मिला कर साजिश, प्रधान को तानाशाह बताना… क्या भारतीय राजनीति के ‘बनराकस’ हैं राहुल गाँधी?

पूरब-पश्चिम में गाँव को बाँटना, बाहरी ताकत से हाथ मिला कर प्रधान के खिलाफ साजिश, शांति समझौते का दिखावा और 'क्रांति' की बात कर अपने चमचों को फसलना - 'पंचायत' के भूषण उर्फ़ 'बनराकस' को देख कर आपको भारत के किस नेता की याद आती है?

33 साल पहले जहाँ से निकाली थी एकता यात्रा, अब वहीं साधना करने पहुँचे PM नरेंद्र मोदी: पढ़िए ईसाइयों के गढ़ में संघियों ने...

'विवेकानंद शिला स्मारक' के बगल वाली शिला पर संत तिरुवल्लुवर की प्रतिमा की स्थापना का विचार एकनाथ रानडे का ही था, क्योंकि उन्हें आशंका थी कि राजनीतिक इस्तेमाल के लिए बाद में यहाँ किसी की मूर्ति लगवाई जा सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -