Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजकंडोम, पिल्स, सिगरेट और शराब… बेंगलुरु में स्कूली बच्चों के बस्ते से मिला सामान,...

कंडोम, पिल्स, सिगरेट और शराब… बेंगलुरु में स्कूली बच्चों के बस्ते से मिला सामान, टीचर देखकर हैरान, छात्रों को 10 दिन छुट्टी पर भेजा

बेंगलुरु के स्कूलों में छात्रों की शिकायत की गई थी कि वो मोबाइल लाते हैं। ऐसे में प्रशासन ने उनके बस्तों को चेक किया और पाया कि उनके पास मोबाइल ही नहीं बल्कि कंडोम, पिल्स, शराब आदि चीजें भी हैं।

बेंगलुरु के स्कूलों में स्टूडेंट्स के बैग की चेकिंग की गई है। इस चेकिंग में स्टूडेंट्स के बैग से कंडोम, गर्म निरोधक दवाइयाँ, लाइटर, सिगरेट, व्हाइटनर और कुछ नगद पैसे मिले हैं। यही नहीं, कुछ स्टूडेंट्स के पास से शराब की बोतलें व पानी को बोतलों में भी शराब मिली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, बेंगलुरु के कई स्कूलों में ऐसी शिकायतें मिल रही थीं कि स्टूडेंट्स अपने स्कूल बैग में मोबाइल फोन छिपाकर क्लास में आ रहे हैं। इस शिकायत के चलते प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालयों के जुड़े प्रशासन एसोसिएटेड मैनेजमेंट्स ऑफ प्राइमरी एंड सेकंडरी स्कूल्स इन कर्नाटक (KAMS) ने सभी स्कूलों से छात्रों के बैग की जाँच शुरू करने को कहा था। इसके बाद, कई स्कूलों में स्टूडेंट्स के बैग की तलाशी करने के लिए अभियान चलाया गया।

इस तलाशी में, क्लास 8, 9 और 10 के स्टूडेंट्स के स्कूल बैग की तलाशी ली गई तो उनके बैग से मोबाइल फोन तो मिला ही, साथ ही कंडोम समेत कई आपत्तिजनक सामग्री भी मिली है। स्टूडेंट्स के बैग में ऐसी सामग्री मिलने के बाद स्कूल प्रशासन सख्ती बरत रहा है।

यही नहीं, स्टूडेंट्स के बैग से मिली इन सामग्री को लेकर कुछ स्कूलों ने छात्रों के पेरेटन्स (माता-पिता) को बुलाकर मीटिंग भी की है। हालाँकि इस बारे में जब, स्कूल प्रशासन द्वारा पैरेंट्स को बताया गया तो वह भी हैरान रह गए।

इस पूरे मामले पर, बेंगलुरु के नगरभावी में स्थित एक स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा, “स्कूल द्वारा जब छात्रों के माता-पिता को उनके बैग से मिली आपत्तिजनक सामग्री के बारे में बताया तो वह हैरान हो गए। पेरेंट्स ने हमसे छात्रों के व्यवहार में अचानक हुए परिवर्तन को लेकर भी बात की है।”

फिलहाल, मौजूदा स्थिति को संभालने के लिए स्कूलों ने छात्रों को सस्पेंड करने के बजाए पेरेंट्स को नोटिस जारी किया है। साथ ही, स्कूल प्रशासन ने पैरेंट्स से बच्चों की काउंसिलिंग कराने को कहा है। इसके लिए बच्चों को 10 दिनों की छुट्टी भी दी गई है।

एक अन्य स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा है कि 10 वीं की एक छात्रा के बैग में कंडोम मिला था। इस बारे में जब उससे पूछा गया तो उसने कहा कि वह प्राइवेट ट्यूशन में पढ़ने जाती है। वहाँ, उसके साथ पढ़ने वाले अन्य छात्रों ने उसके बैग में कंडोम रख दिया होगा।

एसोसिएटेड मैनेजमेंट्स ऑफ प्राइमरी एंड सेकंडरी स्कूल्स इन कर्नाटक (KAMS) के महासचिव डी शशि कुमार ने कहा है कि 80 प्रतिशत स्कूलों में चेकिंग की गई है। बच्चों के बैग से गर्भनिरोधक गोलियाँ भी मिली हैं। इसके अलावा उनके बैग में शराब की बोतलें भी मिली हैं। हम इस सदमे से बाहर निकलने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ बच्चे शिक्षकों और दूसरे स्टूडेंट्स को परेशान कर रहे हैं, उनके लिए गंदे शब्दों का उपयोग कर रहे हैं और उनकी ओर गलत इशारे कर रहे हैं। ऐसी हरकतें 5वीं पढ़ने वाले छात्रों में भी देखने को मिल रहीं हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -