Tuesday, July 27, 2021
Homeदेश-समाजकॉन्ग्रेस नेता के बेटे की शादी, सोशल डिस्टेंसिंग चूल्हे में... लोग पूछ रहे -...

कॉन्ग्रेस नेता के बेटे की शादी, सोशल डिस्टेंसिंग चूल्हे में… लोग पूछ रहे – नियम सिर्फ जनता के लिए?

इस शादी में पूर्व सीएम और कॉन्ग्रेस नेता सिद्धारमैया के साथ ही पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर और कॉन्ग्रेस नेता प्रियांक खड़गे भी शामिल हुए। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु भी इस शादी में आए। यहाँ न तो किसी के चेहरे पर मास्क था और न ही किसी प्रकार की सरकारी गाइडलाइन्स का पालन किया गया।

कोरोना काल में जब भीड़-भाड़ से बचने की सलाह लगातार लोगों को दी जा रही है, ऐसे में शादी समारोह में शामिल होना खतरे को न्यौता देने जैसा है। समूचे देश में शादियों के समारोह को टाला जा रहा है। लेकिन, कर्नाटक में एक बार फिर से ऐसा मामला सामने आया है, जहाँ पर वीवीआईपी शादी हुई है और नियम-कायदे-कानून को ताक पर रखा गया।

यह शादी थी कॉन्ग्रेस नेता परमेश्वर नाइक के बेटे की। इस विवाह समारोह का आयोजन दावणगेरे के हागीरबोमनहल्ली में किया गया था। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियाँ उड़ाई गई। न तो किसी के चेहरे पर मास्क था और न ही किसी प्रकार की सरकारी गाइडलाइन्स का पालन किया गया।

वायरल हुए वीडियो में देखा जा सकता है कि सैकड़ों की संख्या में लोग इस विवाह समारोह में शामिल हुए थे। जबकि सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक शादी समारोह में 50 लोगों के ही शामिल होने की अनुमति है।

देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में इस तरह की लापरवाही बड़े खतरे को निमंत्रण दे रही है। इस शादी में बड़े-बड़े कॉन्ग्रेसी नेता भी शामिल हुए। जानकारी के मुताबिक कॉन्ग्रेस नेता परमेश्वर नाइक के खिलाफ केस दर्ज करने की तैयारी चल रही है।

इस कार्यक्रम में पूर्व सीएम और कॉन्ग्रेस नेता सिद्धारमैया के साथ ही पूर्व उपमुख्यमंत्री जी परमेश्वर और कॉन्ग्रेस नेता प्रियांक खड़गे भी शामिल हुए थे। इस कार्यक्रम में स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु के भी शामिल होने की खबर है।

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले ही कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के बेटे की शादी हुई थी। इस दौरान भी लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के कायदों का ख्याल नहीं रखा गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2020 में नक्सली हमलों की 665 घटनाएँ, 183 को उतार दिया मौत के घाट: वामपंथी आतंकवाद पर केंद्र ने जारी किए आँकड़े

केंद्र सरकार ने 2020 में हुई नक्सली घटनाओं को लेकर आँकड़े जारी किए हैं। 2020 में वामपंथी आतंकवाद की 665 घटनाएँ सामने आईं।

परमाणु बम जैसा खतरनाक है ‘Deepfake’, आपके जीवन में ला सकता है भूचाल: जानिए इससे जुड़ी हर बात

विशेषज्ञ इसे परमाणु बम की तरह ही खतरनाक मानते हैं, क्योंकि Deepfake की सहायता से किसी भी देश की राजनीति या पोर्न के माध्यम से किसी की ज़िन्दगी में भूचाल लाया जा सकता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,426FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe