Tuesday, November 30, 2021
Homeदेश-समाजकांस्टेबल तारिक अहमद गिरफ्तार, अमरनाथ यात्रा के दौरान स्नान कर रही महिला श्रद्धालुओं का...

कांस्टेबल तारिक अहमद गिरफ्तार, अमरनाथ यात्रा के दौरान स्नान कर रही महिला श्रद्धालुओं का बना रहा था वीडियो

भारतीय रिजर्व पुलिस की 19वीं बटालियन में तैनात है आरोपी सिपाही तारिक अहमद, जम्मू रेलवे स्टेशन के कैंप में बना रहा था वीडियो, जम्मू-कश्मीर राज्य की रणबीर दंड संहिता की धारा 354 के तहत दर्ज किया गया है मामला।

जम्मू-कश्मीर में चल रही पवित्र अमरनाथ यात्रा के दौरान एक शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। जम्मू स्थित आधार शिविर में एक पुलिसकर्मी द्वारा स्नान कर रही महिला श्रद्धालुओं का वीडियो बनाने की बात उजागर हुई है। मामला सामने आने के बाद आरोपी कांस्टेबल को गिरफ्तार कर लिया गया। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भारतीय रिजर्व पुलिस की 19वीं बटालियन के सिपाही तारिक अहमद के खिलाफ त्रिकुटा नगर पुलिस स्टेशन में जम्मू-कश्मीर राज्य की रणबीर दंड संहिता की धारा 354 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हालाँकि बाद में उसे जमानत पर छोड़ दिया गया। कानूनी कार्रवाई के अलावे आरोपी पर विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी। जानकारी के अनुसार, कांस्टेबल अहमद अपने मोबाइल से बुधवार (जुलाई 3, 2019) की रात रेलवे स्टेशन कैंप के बाथरूम के अंदर नहा रही महिलाओं का वीडियो रिकॉर्ड कर रहा था। 

महिलाओं को जैसे ही इसकी भनक लगी, उन्होंने शोर मचाया। शोर सुनकर मौके पर काफी लोग इकट्ठा हो गए और आरोपित को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने गिरफ्तार कर उसका मोबाइल जब्त कर लिया।

कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच 1 जुलाई से अमरनाथ यात्रा चल रही है। यात्रा पर आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हमले की आशंका को देखते हुए बेहद कड़े सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए 40,000 सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,729FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe