Friday, March 1, 2024
Homeदेश-समाज6 पॉइंट में समझें क्या होता है लॉकडाउन? आखिर क्यों इससे घबराने की जरूरत...

6 पॉइंट में समझें क्या होता है लॉकडाउन? आखिर क्यों इससे घबराने की जरूरत नहीं

संशय, भ्रम और अफवाहों के बीच लॉकडाउन क्या है, इसे समझना बेहद जरूरी हो जाता है। जरूरी इसलिए ताकि बेवजह खौफ और डर का माहौल न पैदा हो। 6 मुख्य बिंदुओं से समझें लॉकडाउन क्या है और क्यों इससे घबराने की जरूरत नहीं है।

देश को कोरोना वायरस के खिलाफ युद्धस्तर पर तैयार करने के तरफ अहम कदम उठाते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की। इसके बाद कई राज्यों ने पूरी तरह खुद को लॉकडाउन कर लेने की घोषणा की। आज देश के 75 कोरोना प्रभावित जिलों को भी लॉकडाउन कर देने का निर्णय ले लिया गया है। इन में उत्तर प्रदेश के 7 जिले – लखनऊ, मुरादाबाद, वाराणसी, नोएडा, आगरा, लखीमपुर खीरी और गाजियाबाद भी शामिल हैं।

संशय, भ्रम और अफवाहों के बीच लॉकडाउन क्या है, इसे समझना बेहद जरूरी हो जाता है। जरूरी इसलिए ताकि बेवजह खौफ और डर का माहौल न पैदा हो। 6 मुख्य बिंदुओं से समझें लॉकडाउन क्या है और क्यों इससे घबराने की जरूरत नहीं है।

* लॉकडाउन एक आपाकलीन व्यवस्था है, जो किसी महामारी या किसी आपदा के समय सरकार द्वारा लागू की जाती है।

* इस दौरान जीवन के लिए आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है। अस्पताल आदि जरूरी सेवाएँ खुली रहती हैं।

* अगर किसी को दवा या अनाज की जरूरत है तो बाहर जा सकता है।


* छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सकती है।

* दफ्तर चाहे वो प्राइवेट हों या सरकारी – वो सब बंद रहते हैं। सिनेमा हॉल, स्कूल, दुकानें, फैक्ट्रियाँ और सार्वजनिक परिवहन के साधन जैसे ट्रेन, मेट्रो, बस आदि पूरी तरह बंद रहते हैं। निजी वाहनों को अनुमति हो सकती है।

* रोजमर्रा की जरूरत के सामान जैसे दूध, सब्जी, किराना और मेडिकल स्टोर खुले रहते हैं।

इस तरह देखें तो लॉकडाउन की वैसे तो कोई ठीक-ठीक परिभाषा मौजूद नहीं है, लेकिन आमतौर पर संक्रमण को रोकने के लिए सरकारें इस तरह के कदम उठाती हैं। लॉकडाउन में सरकार का लक्ष्य यह होता है कि लोग यहाँ-वहाँ कम आएँ-जाएँ। जनता का आवागमन बाधित हो, जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। इसमें विशेष तौर पर सरकारों द्वारा दिए गए सुझावों, बनाए गए नियमों और निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाता है।

याद रहे कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए आज पंजाब और राजस्थान समेत कई राज्यों ने खुद को पूरी तरह से लॉकडाउन कर लिया है। मीडिया के अनुसार महाराष्ट्र में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित लोग पाए गए हैं। उसके बाद केरल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान का नंबर आता है। पूरे देश में अब तक कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 341 पहुँच गई है। वहीं इस वायरस के कारण मरने वाले लोगों की संख्या देश में जहाँ 7 पहुँच चुकी हैं, जिनमें से 3 की मौत आज ही हुई है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

2 से ज्यादा बच्चे होने पर नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी… SC ने माना नियम बिलकुल सही: खारिज की राजस्थान के पूर्व सैनिक की याचिका

किसी व्यक्ति को दो से ज्यादा बच्चे होने के कारण सरकारी नौकरी न देना कहीं से संविधान के खिलाफ नहीं है। ऐसा सुप्रीम कोर्ट ने राजस्थान के एक मामले की सुनवाई में कहा।

‘मैंने लोगों को बुलाकर ED अधिकारियों पर हमले का आदेश दिया’: शाहजहाँ शेख ने कबूला जुर्म, महिलाओं को धमकाने वाला उसका करीबी अमीर अली...

TMC से निलंबित शाहजहाँ शेख ने पुलिस के सामने स्वीकार किया कि उसने भीड़ को ईडी अधिकारियों और सुरक्षबलों पर हमले के लिए भीड़ को उकसाया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
418,000SubscribersSubscribe