Saturday, October 23, 2021
Homeदेश-समाजCyclone Tauktae: चक्रवाती तूफान को लेकर केरल, लक्षद्वीप में रेड अलर्ट, जानिए इस तूफान...

Cyclone Tauktae: चक्रवाती तूफान को लेकर केरल, लक्षद्वीप में रेड अलर्ट, जानिए इस तूफान के बारे में सब कुछ

अगले 36 घंटों में लक्षद्वीप और अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती विक्षोभ बनेगा, जिससे देश के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश होगी। इससे 18 मई तक एक 'उच्च तीव्रता' वाले चक्रवात के गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है।

कोरोना की मार झेल रहे देश के लिए एक और परेशान करने वाली खबर चक्रवाती तूफान आने की संभावना की है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने चक्रवर्ती तूफान Tauktae को देखते हुए केरल के तीन जिलों- तिरुवनंतपुरम, कोल्लम और पथनामथिट्टा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग के अनुसार, अगले 36 घंटों में लक्षद्वीप और अरब सागर के ऊपर बने चक्रवाती विक्षोभ के तीव्र होकर 18 मई तक एक ‘उच्च तीव्रता’ वाले चक्रवात के रूप गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है।

Cyclone Tauktae के लिए केरल, लक्षद्वीप में जारी हुआ अलर्ट

वहीं मौसम विभाग ने चक्रवर्ती तूफान Tauktae को देखते हुए केरल के तीन जिलों- तिरुवनंतपुरम, कोल्लम और पथनामथिट्टा के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने केरल के कई जिलों में शुक्रवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम और पथनामथिट्टा जिलों में 20 सेमी तक की भारी वर्षा का रेड अलट जारी किया है। लक्षद्वीप में भी गुरुवार और शुक्रवार को भारी बारिश के लिए अलर्ट जारी किया गया है।

आईएमडी ने शनिवार के लिए केरल के पांच अन्य जिलों के लिए भी रेड अलर्ट जारी किया है, जिनमें मलप्पुरम, कोझिकोड, वायनाड, कन्नूर और कासरगोड, शामिल हैं। क्षेत्रीय मौसम विभाग अधिकारी ने कहा कि लक्षद्वीप के पास स्थित निम्न दबाव उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ेगा और रविवार तक पर्याप्त गति प्राप्त कर लेगा।

इस चेतावनी में अलाप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम और इडुक्की के लिए 11-20 सेमी की बहुत भारी वर्षा का ऑरेंज अलर्ट भी शामिल है। तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पथनामथिट्टा, अलाप्पुझा और एर्नाकुलम गुरुवार को 11-20 सेंटीमीटर के ऑरेंज अलर्ट पर थे। केरल में पोझियूर से कासरगोड के तट के साथ 14 मई को शाम 5.30 बजे से 16 मई शाम 17:30 बजे तक 3.0-3.8 मीटर ऊँची लहरें उठने का पूर्वानुमान है।

दक्षिण केरल के कई इलाकों में गुरुवार सुबह से ही भारी बारिश और तेज हवाएं चल रही हैं और कई तटीय इलाकों में उच्च ज्वार की सूचना है।

Cyclone Tauktae से बचाव के लिए क्या हैं तैयारियाँ

आईएमडी की घोषणा के बाद केरल ने कंट्रोल रूम खोले दिए हैं और तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को कड़ी निगरानी रखने के लिए कहा है। रेड अलर्ट का मतलब है 24 घंटे में 24 मिमी से अधिक बारिश के साथ भारी वर्षा।

मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने एक ट्वीट में अधिकारियों और लोगों को राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा जारी दिशा-निर्देशों का पालन करने को कहा।

तटीय क्षेत्रों और निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को समुद्र के स्तर में वृद्धि और घरों और खेतों में पानी भरने की चेतावनी दी गई है। केरल आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने भी लोगों को घर के अंदर रहने और बिजली, गरज, तेज हवाओं और भारी तबाही से बचाने की सलाह दी है। राजस्व अधिकारियों ने कहा कि तिरुवनंतपुरम में कई निचले इलाके लगातार बारिश के कारण डूब गए हैं।

मछुआरों को समुद्र के पानी से दूर रहने की चेतावनी दी गई है और गहरे समुद्र में रहने वालों को तट पर लौटने के लिए संदेश भेजे गए हैं।

कब आएगा Cyclone Tauktae

इसके 14 मई की सुबह तक लक्षद्वीप क्षेत्र में पहुँचने और 15 मई की सुबह तक उसी क्षेत्र में एक दबाव में केंद्रित होने की संभावना है। आईएमडी ने कहा कि यह अगले 24 घंटों के दौरान एक चक्रवाती तूफान में परिवर्तित हो सकता है। इसके आगे और तीव्र होने और उत्तर-पश्चिमोत्तर गुजरात और पाकिस्तान के तटों के आसपास की ओर बढ़ने की संभावना है। 18 मई की शाम के आसपास इसके गुजरात तट के करीब पहुंचने की संभावना है। इससे दक्षिण पूर्व अरब सागर और इससे सटे लक्षद्वीप, मालदीव के क्षेत्र और भूमध्यरेखीय हिंद महासागर में समुद्र की स्थिति बहुत खराब होगी।

मौसम विभाग ने शुक्रवार को कहा कि अगले 36 घंटों में लक्षद्वीप और अरब सागर के ऊपर एक चक्रवाती विक्षोभ बनेगा, जिससे देश के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश होगी। इससे 18 मई तक एक ‘उच्च तीव्रता’ वाले चक्रवात के गुजरात तट पर पहुंचने की संभावना है।

आईएमडी ने एक चेतावनी में, गुजरात में 17 मई से तेज बारिश की भविष्यवाणी की है, जिसकी तीव्रता बाद के दिनों में बढ़ने की संभावना है। राज्य में 18 और 19 मई को सौराष्ट्र और कच्छ जैसे कुछ स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा होगी।

चक्रवात की उपस्थिति के कारण, गुजरात में अगले 5-6 दिनों में तेज बारिश होने और 50 किमी प्रति घंटे से 80 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएँ चलने की संभावना है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘खालिस्तान’ के नक़्शे में UP और राजस्थान भी, भारत से अलग देश बनाने का ‘खेल’ सोशल मीडिया पर… लोगों ने वहीं दिखाई औकात

'सिख्स फॉर जस्टिस' नाम की कट्टरवादी सिख संस्था ने तथाकथित खालिस्तान का नक्शा जारी किया है, जिसके बाद से लोग सोशल मीडिया पर उसकी आलोचना कर रहे हैं।

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति की बेटी सुकमावती इस्लाम छोड़ रहीं, अपनाएँगी हिंदू धर्म: सुधी वदानी रस्म की होगी प्रक्रिया

इंडोनेशिया के पहले राष्ट्रपति सुकर्णो की बेटी ने इस्लाम से वापस हिंदू धर्म अपनाने का फैसला किया है। सुधी वदानी नाम की रस्म होगी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
130,988FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe